आइपीओ व निजीकरण के खिलाफ कर्मचारियों ने किया प्रदर्शन

संवादसहयोगी,झुमरीतिलैया(कोडरमा):शुक्रवारकोबीमाकर्मचारीसंघ,झुमरीतिलैयाद्वाराभोजनावकाशकेसमयद्वारप्रदर्शनकियागया।यहद्वारप्रदर्शनकेंद्रसरकारकीकथितकर्मचारीविरोधीनीतिएवंसार्वजनिकउद्यमोंकोनिजीहाथोंमेंसौंपनेकेखिलाफराष्ट्रव्यापीविरोधदिवसकेअवसरपरकियागया।सभाकोसंबोधितकरतेहुएसंघकेसचिवमनोरंजनकुमारनेबतायाकिकेंद्रसरकारलगातारफायदेमेंचलरही,भारतीयबीमाक्षेत्रकीसिरमौरकंपनीएलआइसीमेंआइपीओ(इनिशियलपब्लिकऑफरिग)लाकरउसेशेयरबाजारमेंसूचीबद्धकरनेजारहीहैजोकिएलआइसीकानिजीकरणकरनेकापहलाकदमहै।भारतकीआमजनताकीगाढ़ीकमाईसेनिर्मितसंस्थाकोनिजीपूंजीपतियोंकेहाथोंबेचनेकीगहरीसाजिशहै।केंद्रसरकारसार्वजनिकक्षेत्रकेबैंकोंजैसेआइडीबीआइ,सेंट्रलबैंकऑफइंडिया,इंडियनओवरसीजबैंक,बैंकऑफइंडियाकानिजीकरणकरनेजारहीहै।सामान्यबीमाक्षेत्रकीकंपनीयूनाइटेडइंडियाइंश्योरेंसकोबेचनेजारहीहै।ऑर्डिनेंसफैक्ट्रीकोनिजीकरणकीराहपरधकेलरहीहै।रक्षाक्षेत्रजैसेसंवेदनशीलक्षेत्रकोनिजीपूंजीपतियोंकेहाथोंबेचकरदेशकीअस्मिताकोखतरेमेंडालरहीहै।हमसरकारकीइनपूंजीपरस्तनीतियोंकापुरजोरविरोधकरतेहुएइनकीवापसीकीमांगसरकारसेकरतेहैं।सभाकीअध्यक्षतामहावीरयादवनेकी।उन्होंनेभीकेंद्रसरकारकीनीतियोंकीजमकरआलोचनाकी।इसअवसरपरटिकूकुमार,रामकुमारलालदास,पंकजकुमार,संजयसिंह,कुमारअशोक,सुनीलकुमार,हरेंद्रकुमारसिंह,बसंतकुमार,सुधीरकुमार,श्रीकांतउज्जवल,अनिलरजक,प्रदीपप्रसाद,कृष्णाकुमार,अभयसुबोधशर्मा,रविकुमार,रोहितकुमारआदिउपस्थितथे।