'आज से तुम्हारे लिए मर गए चाचा...' ऐसे शुरू हुआ था चिराग और पशुपति पारस के बीच टकराव

'चाचा-भतीजे'काविवादबनाचिरागपासवानकीपार्टीLJPकेपतनकाकारण

बिहारकीराजनीतिमेंकभीसत्ताकीचाभीरखनेवालीलोकजनशक्तिपार्टीअबदोफाड़होचुकीहै.चाचा-भतीजेकेबीचमेंपैदाहुआमनमुटाववक्तकेसाथइतनाबढ़गयाकिअबदोनोंकीराहेंअलग-अलगहोचुकीहैं.पार्टीमेंजोकुछआजहोरहाहैउसकेसंकेतपहलीबारपिछलेसालउसवक्तसामनेआएथेजबचिरागनेसार्वजनिकतौरपरचाचापशुपतिकुमारपारसकेखिलाफनाराजगीजाहिरकरदीथी.

लोकजनशक्तिपार्टीकेसंस्थापकरामविलासपासवानकेभाईऔरचिरागपासवानकेचाचापशुपतिपारसहमेशालोप्रोफाइलऔरपर्देकेपीछेरहनेवालेहीरहे.सूत्रबतातेहैंकिजैसेहीपार्टीकीकमानबेटेचिरागकेहाथोंमेंआईंचीजेंतेजीसेबदलनेलगीं.स्थितियांऐसीपरिवर्तितहोगईंकिहाजीपुरकेसांसदऔररामविलासपासवानकेदाहिनेहाथकहेजानेवालेपारसनेहीपार्टीमेंतख्तापलटकरदिया.उनकेसमेत पांचसांसदलोकसभास्पीकरकेपासपहुंचगएऔरसदनमेंएकअलगदलकीमान्यतादेने कीबातकहदी.

रामविलासपासवानकेनिधनकेचारदिनोंकेबादऔरबिहारचुनावोंसेपहलेपारसद्वारानीतीशकुमारकीतारीफकरनाचिरागपासवानकोनाराजकरगयाथा.गुस्साएचिरागनेचाचाकोपार्टीसेनिकालनेतककीधमकीदेदीथी औरउन्हेंपरिवारकेनहींहोनेतककीबातकहदीथी.इसकेजवाबमेंपारसनेभीकहाथाकिआजसेतुम्हारेलिएतुम्हारेचाचामरगए.इससंवादकेबादचाचा-भतीजे केबीचमुश्किलसेहीबातहोतीथी,चिट्ठियोंमेंतनावकाऐहसासकियाजासकताथा.

सूत्रोंकेअनुसारपशुपतिपारसबिहारविधानसभाचुनावोंमेंकभीभीएनडीएसेअलगहोकरचुनावलड़नेयाबीजेपी-जेडीयूकेखिलाफएलजेपीकेउम्मीदवारखड़ेकरनेकेपक्षमेंनहींथे.पारसकेकरीबीबतातेहैंकिजबचुनावकीतैयारियोंकेदौरानभतीजेनेचाचासेपार्टीकेउम्मीदवारोंकेनामोंपरचर्चाकरनाजरूरीनहींसमझातोवहखुदकोअलग-थलगमहसूसकरनेलगेथे.

नवंबरकेचुनावोंमेंलोजपाकीएकमात्रउपलब्धियहथीकिवहजेडीयूका वोटविभाजितकरनेमेंकामयाबरहीथी.जिसकाअसरयेहुआकिजेडीयूचुनावोंमेंतीसरेनंबरकीपार्टीबनगईथीऔरलोजपाकेखातेमेंमात्रएकसीटआईथी.चुनावमेंमिलीहारकीहताशाकेबादपार्टीनेताओंकोचिरागकेअंदरएकबेहदजिद्दीऔरअभिमानीनेतादिखाईदेनेलगा.हालांकिकुछनेताउनकेकामकरनेकेअंदाजमेंरामविलासपासवानकीशैलीदेखाकरतेहैं.लोजपाकासंकटउसवक्तऔरबढ़गयाजबहाजीपुरसेपहलीबारसांसदबनेपारसकोकेंद्रीयमंत्रिमंडलमेंजगहदेनेकावादाकियागया.

सूत्रोंकीमानेंतोनीतीशकुमारपहलेसेहीइसमिशनपरकामकररहेथे,उनकेकरीबीलेफ्टिनेंटलल्लनसिंहदिल्लीमेंबैठकरइसकाताना-बानातैयारकररहेथे.बागियोंमेंचिरागकेचचेरेभाईप्रिंसराज, चदंनसिंह,वीणादेवीऔरमहबूबअलीकैसरशामिलहैं.इनसभीनेपारसपालेमेंरहनेकाफैसलाकियाहै.