बाल संसद से बच्चों के संपूर्ण व्यक्तित्व में होगा विकास

समस्तीपुर।मोरवाप्रखंडक्षेत्रकेसंकुलसंसाधनकेंद्रमध्यविद्यालयपुरुषोत्तमपुरकेप्रांगणमेंबालसंसदमंत्रीमंडलसदस्योंकीएकदिवसीयकार्यशालाहुई।कार्यक्रमकोसंबोधितकरतेहुएसंकुलसमन्वयकसंजीवआर्यनेकहाकिबालसंसदकेउद्देश्यबच्चोंकाकौशलविकास,सम्पूर्णव्यक्तित्वकाविकासकरनातथाविद्यालयकोआनंददायी,सुरक्षितऔरसाफ-सुथरारखनाहै।कहाकिअगरविद्यालयमेंबाल-संसदसक्रियहै,तोबच्चोंकीनियमितताऔरउनकाठहरावसुनिश्चितकरनेमेंशिक्षकोंकोकाफीसहायतामिलतीहै।इससेबच्चोंकेलिएजीवनोपयोगीउत्तमकोटिकीशिक्षाकालक्ष्यभीपूर्णहोताहै।कार्यशालामेंबालसंसदमंत्रिमंडलसदस्योंकोदायित्वकीजानकारीदीगई।मौकेपरतनवीरआलम,नेयाजअहमद,मृत्युंजयप्रतापमृगेंद्र,रौशनकुमार,पूजाकुमारी,नीतीशकुमार,तन्नुकुमारी,भारतीकुमारी,राजाकुमार,जयमालाकुमारी,विवेककुमार,ओमप्रकाश,सचिनकुमारआदिमौजूदरहे।