बेटा देखभाल नहीं करता तो जिला कल्याण अधिकारी से संपर्क करें

जागरणसंवाददाता,नाहन:माता-पिताभरण-पोषणअधिनियम2001केतहतपीड़ितमाता-पिताकोगुजाराभत्तादिलवानेमेंजिलाकल्याणअधिकारीअहमभूमिकानिभाएगें।यहजानकारीउपायुक्तसिरमौरललितजैननेकार्यालयकेसभागारमेंहिमाचलआश्रितमाता-पिताभरण-पोषणअधिनियम2001कीसमीक्षाबैठककीअध्यक्षताकरतेहुएदी।उपायुक्तनेकहाकियदिकोईव्यक्तिअपनेवृद्धमाता-पिताकीदेखभालनहींकरतातोऐसीस्थितिमेंपीड़ितमाता-पिताकोकेवलजिलाकल्याणअधिकारीसेसंपर्ककरनाहोगा।यहअधिकारीस्वयंमामलासंबंधितक्षेत्रकेएसडीएमकेसंज्ञानमेंलाएंगेऔरएसडीएमकेनिर्णयदेनेतकमाता-पितापाचसौरुपयेप्रतिमाहगुजाराभत्ताकेहकदारहोंगे।

उपायुक्तनेकहाकिऐसेमामलोंकोएसडीएमकोछहमाहकेभीतरनिपटानाअनिवार्यहोगा।यदिपीड़ितमाता-पिताकापुत्रसरकारीसेवाअथवानिजीकंपनीमेंकार्यरतहैतोउसकेवेतनसेभरणपोषणभत्ताकाटदियाजाएगा।इसकेअतिरिक्तयदिमाता-पिताद्वाराअपनीसारीजायदादबेटेकेनामकरवादीहैऔरवहअपनेवृद्धमाता-पिताकीदेखभालनहींकरताहै,ऐसीस्थितिमेंसारीसंपत्तिअटैचकरकेमाता-पिताकोदीजाएगीऔरबेटेकोगुजाराभत्ताभीअदाकरनापड़ेगा।उन्होंनेकहाकिकानूनीतौरपरप्रत्येकव्यक्तिकोअपनेवृद्धमाता-पिताकोगुजाराभत्तादेनाअनिवार्यहै।उन्होंनेअधिकारियोंकोप्राप्तशिकायतोंपरतुरंतकार्रवाईकरनेकेनिर्देशदिए।उपायुक्तनेबतायाकिजनमंचअथवाअन्यकार्यक्रमोंकेमाध्यमसेइसअधिनियमकीजानकारीलोगोंतकपहुंचाएं।इसअवसरपरउपमंडलाधिकारीनागरिकराजगढ़,पावटा,संगड़ाह,जिलान्यायवादी,विधिअधिकारी,जिलाकल्याणअधिकारीतथाजिलाकार्यक्रमअधिकारीमौजूदरहे।