भागलपुर में जबरन लिखवाया, शराब से नहीं... फूड प्वाइजनिंग से हुई मौत, मामले की लीपापोती में जुटी पुलिस

संवादसूत्र,नाथनगर(भागलपुर)।वाहरीपुलिस,संदिग्धपरिस्थितियोंमेंचारलोगोंकीहुईमौतमामलेमेंपुलिसनेपीडि़तोंसेजबरनलिखवालियाकिशराबसेनहीं,बल्किफूडप्वाइजनिंगसेहुईथीमौत।पुलिसपूरीतरहइसमामलेकीलीपापोतीमेंजुटगईहै।पुलिसनेमृतमिथुनकेचाचारामविलासयादवसेआवेदनपरदस्तखतकरालियाऔर कहाकिलिखो,मेडिकलकालेजअस्पतालमेंनहीं,बल्किनिजीअस्पतालमेंइलाजकरायागयाथा।इससंबंधमेंपीडि़तोंकावीडियोतेजीसेवायरलहोरहाहै।

बीतेरविवारकोजिलेकेविश्वविद्यालयथानाअंतर्गतसाहिबगंजइलाकेमेंचारलोगोंकीसंदिग्धपरिस्थितियोंमेंमौतहोगईथी,लेकिनपीडि़तोंकाकहनाहैकिशराबपीनेसेहीमौतहुई। मृतकमिथुनकेचाचारामविलासयादवनेवीडियोमेंकहाहैकिविश्वविद्यालयथानेकीपुलिसनेआवेदनमेंयहलिखनेकेलिएदबावबनायागयाकिउसकी(मिथुन)कीमौतजहरीलीशराबसेनहीं,बल्किफूडप्वाइजन‍िंगकेकारणहुईहैऔरजबरनआवेदनपरहस्ताक्षरकरवालिया।इतनाहीनहींयहभीजबरनलिखवायाकिसरकारीअस्पतालमेंनहीं,निजीअस्पतालमेंइलाजकरायागयाथा।जबकिमिथुनकाइलाजजवाहरलालनेहरूमेडिकलकालेजअस्पतालमेंकरायागयाथा।वीडियोमेंरामविलासकहरहाहैकिपुलिसनेउससेकहाकिअभीतककेसनहींनकिएहोतोउसपरमैंनेजवाबदियाकिइतनाबड़ाक्राइमहुआहै,केसतोआपकीजिएगान।मिथुनकाभाईसिथुनभीअपनेभाईकीमौतकाकारणशराबपीनाबतारहाहै।

शराबपीकरआयाथाविनोद,कुछसमयबादबिगडऩेलगीतबीयत

वीडियोमेंपूनमभीकहरहीकिउसकापतिविनोदरायहोलीकेदिनशराबपीकरघरआयाथाऔरकुछदेरबादहीउसकीतबीयतबिगडऩेलगीथी।इलाजकेक्रममेंबीतेशनिवारकीदेररातउसकीमौतहोगई।विनोदकेपुत्रचंदननेभीकहाकिउसनेपिताकोशराबकीबोतललेकरघरआतेऔरपीतेदेखाथा।

एसएसपीकेसरकारीनंबरपरचारबारकियाकाल,नहींउठायाफोन

साहेबगंजनिवासीकुमारगौरवकाभीएकवीडियोवायरलहोरहाहै,जिसमेंवहकहरहाहैकिशराबकीखेपआनेकीसूचनाउसनेकईबारपुलिसकोदी,लेकिननतोपुलिससक्रियतादिखाईऔरनहीकोईकार्रवाईकीगई।उसनेबतायाकिबीते13मार्चकोभीउसनेललमटिया,नाथनागरऔरविश्वविद्यालयपुलिसकोबारी-बारीसेसूचनादी,लेकिनसभीनेदूसरेथानाक्षेत्रकामामलाबताकरपल्लाझाड़लिया।उसनेदावाकियाकिएसएसपीकेसरकारीमोबाइलनंबरपरचारबारकालकिया,लेकिनरीसिवनहींकियागया।उसदिन8-9पेटीशराबलदाई-रिक्शासाहेबगंजसेगुजररहाथा।उसनेआशंकाजताईकिवहीशराब पीनेकेबादइलाकेकेचारलोगोंकीमौतहुई।उधर,रविवारशामसेहीविश्वविद्यालयथानेमेंपुलिसमहकमेकेबड़ेअधिकारीजमेरहे।दूसरेदिनसोमवारकोभीआलाधिकारियोंकाआना-जानालगारहा।

पत्नीकोसतारहीबच्चोंकेभरण-पोषणकीचिंता

विनोदकीमौतकेबादअबपत्नीपूनमकोअपनाऔरबच्चोंकेभरण-पोषणकीङ्क्षचताअंदरहीअंदरखाएजारहीहै,क्योंकिविनोदहीघरमेंइकलौताकमानेवालाव्यक्तिथा।पूनमनेबतायाकिउनकेचारबच्चेहैं,जिसमेंसबसेबड़ाबेटाचंदनकुमार(19)है।वहबेरोजगारहै।वहपिताकेकाममेंहाथबंटाताथा।गरीबीकेकारणचौथीकक्षाकेबादसेहीउसकीपढ़ाईछुड़वानीपड़ीथी।वहीं,दूसराबेटाकुणालकुमार(16)पासकेहीसिटीकालेजमें11वींकक्षामेंकलासंकायकाछात्रहै।सोचाथाकिबड़ेबेटेकोतोनहींपढ़ासके,लेकिनछोटेकोकिसीतरहपढ़ालेंगे,ताकिवहपढ़-लिखकरकुछबनजाएगा।इससेघरकीआर्थिकस्थितिसुधरजाएगी,लेकिनपतिकीमौतकेबादउसकीपढ़ाईकैसेपूरीहोगी,यहसोच-सोचकरसिरकाबोझबढ़ताजारहाहै।मृतककीपत्नीनेबतायाकिकुणालसेछोटी10सालकीबेटीखुशीमध्यविद्यालयसाहेबगंजमेंचौथीकक्षामेंपढ़ाईकररहीहै।वहीं,सबसेछोटाबेटाशिवाकुमार(7)अभीपहलीकक्षाकाछात्रहैऔरउसीनेपिताकोमुखाग्निदीहै।