छात्रों के तथ्यान्वेषी दल ने उप्र पुलिस पर ‘बर्बरता’, मुसलमानों को निशाना बनाने का आरोप लगाया

नयीदिल्ली,22जनवरी(भाषा)जेएनयू,जामियामिल्लियाइस्लामियाऔरबनारसहिंदूविश्वविद्यालयसमेतकईप्रमुखविश्वविद्यालयोंकेएकतथ्यान्वेषीदलनेबुधवारकोउत्तरप्रदेशपुलिसपरसीएएविरोधीप्रदर्शनोंसेनिपटनेमें‘बर्बरता’औरमुस्लिमोंकोनिशानाबनानेकाआरोपलगाया।तथ्यान्वेषीदलने14से19जनवरीकेबीचउत्तरप्रदेशकेमेरठसेलेकरबिजनौरऔरफिरोजाबादसमेतहिंसाप्रभावितसभी15शहरोंकीयात्राकी।छात्रोंकेसमूहद्वारायहांएकसंवाददातासम्मेलनमेंजारीकीगईरिपोर्टमेंआरोपलगायागया,“पुलिसनेखासतौरपरमुस्लिममुहल्लोंऔरआर्थिकरूपसेहाशियेपरचलरहेलोगोंजैसेकबाड़बीननेवाले,दिहाड़ीमजदूरऔरछोटेढाबोंआदिपरकामकरनेवालोंकोनिशानाबनाया।”इसमेंदावाकियागयाकिपुलिसनेप्रदर्शनपरलगामलगानेऔरलोगोंकोहटानेकेबजाए,लोगोंपरगोलीचलाईजिसमेंअधिकतरयुवाखासकरनाबालिगमारेगए।उत्तरप्रदेशसरकारऔरपुलिसकुछभीगलतकरनेसेबार-बारइनकारकररहीहैऔरजोरदेकरकहरहीहैकिकानून-व्यवस्थाकेलियेतैनातकियेगएसुरक्षाकर्मियोंकोनिशानाबनायागया।संशोधितनागरिकताकानूनकेखिलाफप्रदर्शनोंकेदौरानहुईहिंसामेंराज्यकेबिजनौर,संभल,फिरोजाबाद,कानपुर,वाराणसीऔरमेरठजिलोंमेंलोगोंकीजानगईथी।‘विधिहीनउत्तरप्रदेश-पुलिसबर्बरतापरछात्रोंकीरिपोर्ट’शीर्षकवालीइसरिपोर्टमेंआरोपलगायागया,“पुलिसद्वाराआग्नेयास्त्रोंकेइस्तेमालमेंमौलिकसिद्धांतोंकापालननहींकियागयाऔरकमरकेऊपरगोलीमारीगई।उप्रपुलिसलोगोंकोराज्यभरसेबिनासाक्ष्योंकेगिरफ्तारकररहीहैवोभीखासतौरसेरातको।”तथ्यान्वेषीदलमेंशामिलएकछात्रनेकहाकिमृतकोंकेपरिजनोंकोशवोंकोवापसघरलेजानेकीइजाजतनहींदीगईऔरउन्हेंएकघंटेकेअंदरयाभारीपुलिसइंतजामकेबीचशवोंकोदफनानेकेलियेमजबूरकियागया।