दिल्ली हिंसा: गोला-बारूद से नहीं खास 'गुलेल' से मचाई गई तबाही, फेंके गए पेट्रोल बम और तेजाब

नईदिल्ली:उत्तर-पूर्वीजिलेकेकईसंवेदनशीलइलाकोंकोतबाहकरने,कईनिरीहनिर्दोषलोगोंकीजानलेने,करोड़ोंरुपयेकीसंपत्तिस्वाहाकरने/करानेमेंगोली-बमसेज्यादाघातकसाबितहुई'गुलेल'.यहकोईआमगुलेलनहींथीं,जिसेबच्चायाबड़ाकोईभीकहींभीखड़े-खड़ेचलादेता.येखासकिस्मकीगुलेलेंथीं,वहभीएकनहीं,सैकड़ोंकीतादादमें.तकरीबनहरदो-चारमकानछोड़कर.हिंसाकीजांचकररहीदिल्लीपुलिसअपराधशाखाकीएसआईटीकीटीमोंको10-15घरोंकेबादकिसीनकिसीएकघरकीऊंचीछतपरगुलेलमौजूदमिलीहै.

नईदिल्ली:उत्तर-पूर्वीजिलेकेकईसंवेदनशीलइलाकोंकोतबाह

दरअसल,उत्तरपूर्वीदिल्लीजिलेकेमुस्तफाबाद,मौजपुर,करावलनगर,शिवविहार,कर्दमपुरी,सीलमपुर,ब्रह्मपुरी,भजनपुराआदिइलाकोंमेंसोमवारसेफैलीहिंसाकीजांचशुक्रवारकोशुरूहोगई.जांचकेलिएदिल्लीपुलिसअपराधशाखाएसआईटीकीदोटीमेंगुरुवारकोगठितकीगईथीं.अगलेहीदिनयानीशुक्रवारसेइनटीमोंनेजांचशुरूकरदी.

एसआईटीमेंशामिलएकसहायकपुलिसआयुक्तस्तरकेअधिकारीनेआईएएनएसकोशनिवारकोबताया,"एकटीमकेकुछपुलिसअफसरआमआदमीपार्टीताहिरहुसैनकीभूमिका,आईबीकेसुरक्षासहायकअंकितशर्माकीमौतकीजांचकररहीहै.दूसरीटीमगोकुलपुरीसब-डिवीजनकेएसीपीकेरीडरहवलदाररतनलालकीमौतकीजांचकररहीहै,जबकिबाकटीमेंअन्यइलाकोंमेंफैलेदंगेकीजांचमेंजुटगईहैं."

लाइवटीवीयहांदेखें:

लाइवटीवीयहांदेखें:

एसआईटीटीमोंकीनजरयूंतोहिंसाग्रस्तहरस्थानपरहै.इनसबमेंमगरएसआईटीनेसबसेऊपररखाहैजाफराबाद,मुस्तफाबाद,गोकुलपुरी,शिवविहार,शेरपुर,नूर-ए-इलाही,भजनपुरा,मौजपुर,घोंडाचौक,बाबरपुर,कबीरनगर,कर्दमपुरीऔरखजूरीखास,चांदबाग.दोदिनहुएहिंसाकेनंगेनाचमेंइन्हींइलाकोंमेंसबसेज्यादातबाहीहुईहै.इन्हींइलाकोंमेंसबसेज्यादाबेगुनाहमारेगए.इन्हींइलाकोंमेंसबसेज्यादालोगबुरीतरहजख्मीहुए.इन्हींइलाकोंकेगली-कूचोंमेंमौजूदछोटे-छोटेअस्पतालोंमेंआजभीलोगइलाजकरारहेहैं.

जांचकररहीदिल्लीपुलिसअपराधशाखाकीटीमेंउनतमामअस्पतालोंमेंभीशुक्रवार-शनिवारकोगईं,जिनमेंदंगोंमेंघायलोंकाइलाजचलरहाहै.एसआईटीटीमकेएकइंस्पेक्टरकेमुताबिक,"यूंतोगुरुतेगबहादुरऔरलोकनायकजयप्रकाशअस्पतालमेंभीबड़ीतादादमेंघायलदाखिलहैं.इनमेंसेकईलोगोंकीमौतहोगई.इनदोनोंहीअस्पतालोंमेंचूंकिदिल्लीपुलिसकेड्यूटीकांस्टेबिलनियमितरूपसेतैनातहैं.लिहाजा,यहांसेआंकड़े,तथ्यजुटानेमेंहमेंआसानीहोजारहीहै.मुश्किलहैघनीआबादीकेबीचछोटे-छोटेनर्सिगहोम्समेंइलाजकरारहेलोगोंकोतलाशना."

इसपरेशानीसेगुरुवारऔरशुक्रवारकोआईएएनएसकीटीमकोभीरूबरूहोनापड़ा.काफीघनीआबादीकेबीचजाकरओल्डमुस्तफाबादमेंअलहिंदअस्पतालमिला.तीनमंजिलाइसछोटेसेअस्पतालमेंमरीजजमीनपरभीलेटेहुएइलाजकरारहेथे.इलाजकररहेडॉक्टरोंनेबतायाकियेसभीहिंसकवारदातमेंघायलहुएहैं.रूहकंपादेनेवालायहसचतोएकअस्पतालकाहै.अपराधशाखाकीजांचटीमेंमहजदोदिनमेंहीऐसे7सेज्यादाछोटेअस्पतालोंऔरनर्सिगहोम्समेंजाचुकीहै,ताकिगवाह,सबूत,बयानपुख्ताऔरज्यादासेज्यादाइकट्ठेकिएजासकें.

जांचमेंजुटीएसआईटीनेशनिवारकोमुस्तफाबाद,भजनपुरामेनरोड,गोकुलपुरी,शिवविहारऔरकरावलनगरइलाकेमेंजलेमिलेकईवाहनोंकोफोटोग्राफी/वीडियोग्राफीकराकेकब्जेमेंलिया.जांचमेंजुटींटीमेंसबूततोगली-मुहल्लों-सड़कसेउठालेरहीहैं.इनटीमोंकोमगरगवाहतलाशनेमेंबेहदपरेशानीकासामनाकरनापड़रहाहै.वजह,कोईपुलिसकेफेरमेंपड़करअड़ोस-पड़ोसमेंदुश्मनीमोलनहींलेनाचाहरहाहै.

ऐसेमेंअदालतमेंजांचकिसकरवटबैठेगी?पूछेजानेपरअपराधशाखाकेडीसीपीस्तरकेएकअधिकारीनेकहा,"घायलोंऔरउनकेपरिजनोंकेबयानजांचकोअदालतमेंपुष्टकरनेमेंमददगारहोंगे.फिरभीहमारीकोशिशहैकिकुछगवाहमौका-ए-वारदातकेमिलजातेतोजांचऔरपुख्तातरीकेसेअदालतकेपटलपररखीजासकतीहै."

एसआईटीकीटीम'बी'केएकसदस्यकेमुताबिक,इनदंगोंमेंकईनिरीहजानवरभीमारयाजलाडालेगए.मरनेवालोंकीसहीसंख्याफिलहालतयकरपानामुश्किलहै,क्योंकितमामघायलोंकाइलाजअभीजारीहै.अपराधशाखाकीटीम'बी'मेंशामिलएकसहायकपुलिसआयुक्तस्तरकेअधिकारीनेखुदकीपहचानउजाकरनकरनेकीशर्तपरबताया,"जांचबहुतविस्तृतहै.काफीवक्तलगसकताहै."

इसीअधिकारीनेआगेकहा,"शुक्रवारऔरशनिवारकोसबसेज्यादाखतरनाककहिएयाफिरगंभीरबातजोसामनेआई,वहहै,ओल्डमुस्तफाबादसहितकुछअन्यइलाकोंमेंछतोंपरगुलेलोंकीबरामदगी.गुलेलेंभीकोईछोटी-मोटीनहीं.ऐसीगुलेलेंहैं,जिन्हेंदो-दोतीन-तीनलोगोंकेसहयोगसेचलायाजाताहै.इन्हींगुलेलोंकेजरिए24और25फरवरीकोहुएदंगोंमेंतबाहीमचाईगईथी.इनमेंसेकईगुलेलेंजब्तकरलीगईहैं.इन्हींगुलेलोंसे50-50मीटरदूरतकपेट्रोलबम,मिर्चीबमऔरपेट्रोलमेंभीगेजलतेहुएकपड़ोंकीगांठेंदूसरोंकीओरफेंकीगईथीं."