दवा दुकानदारों को लेना होगा खाद्य विभाग से लाइसेंस

कुशीनगर:12लाखसेअधिककाकारोबारकरनेवालेदवाकारोबारियोंकोखाद्यविभागसेलाइसेंसलेनाहोगा।इसकेलिए30मईतककेलिएसमयनिर्धारितहै।फुटकरदवाकेदुकानदारभीरजिस्ट्रेशनजरूरकरालें।यहनिर्देशमंगलवारकोकलेक्ट्रेटसभागारमेंदवाव्यापारसंगठनकीबैठककीअध्यक्षताकरतेहुएखाद्यसुरक्षाएवंऔषधिप्रशासनकेसहायकआयुक्तखाद्यमानिकचंद्रसिंहनेदिए।

कहाकिशासनकीमंशाकेअनुरूपदवाकीदुकानोंपरफूडसप्लीमेंटबेचनेकेलिएलाइसेंसलेनाअनिवार्यहै।संबंधिततहसीलोंकेखाद्यसुरक्षाअधिकारियोंकोनिर्देशितकियावहव्यापारियोंसेसंपर्ककरइसेपूर्णकराएं।ड्रगइंसपेक्टरआरडीपांडेयनेबतायाकिजिलेमेंथोककी553व1194फुटकरदवाविक्रेताओंकालाइसेंसक्रियाशीलहै।इसदौरानकेमिस्टएंवड्रगिस्टएसोसिएशनकेअध्यक्षसंजयटिबड़ेवालनेव्यापारियोंकीसमस्याओंकोउठातेहुएशासनकेनिर्देशकेअनुपालनपरसहमतिजताई।सेवरहीकेअध्यक्षअर्जुनप्रसादगुप्ता,अनिलकुमार,अशोककुमार,पूर्वअध्यक्षअजयबंका,अभिषेकअग्रवाल,संदीपअग्रवाल,राकेशकुमारनाथानी,संजीवकुमारगुप्ता,जितेंद्रसिंहपटेलकेअलावामुख्यखाद्यसुरक्षाअधिकारीअंजनीकुमारश्रीवास्तव,अमितकुमारराना,मनोजकुमारश्रीवास्तव,योगेंद्रतिवारी,शैलेशकुमारआदिमौजूदरहे।

942मवेशियोंकोलगाब्रुसेल्लाटीका

राष्ट्रीयपशुरोगनियंत्रणअभियानकेदूसरेदिनमंगलवारकोजिलेके24पशुअस्पतालोंमें942मादामवेशियोंकोब्रुसेल्लाकाटीकालगायागया।मवेशियोंमेंगर्भपातकीसमस्याकोरोकनेकेलिएप्रदेशसरकारने30अप्रैलतकटीकाकरणअभियानचलानेकानिर्देशदियाहै।मादामवेशियोंकागर्भकोसुरक्षितरखनेकेलिएजिलेकेसभीपशुअस्पतालोंमेंटीकालगायाजारहाहै।

मुख्यपशुचिकित्साधिकारीडा.विकाससाठेनेबतायाकिपडरौनापशुअस्पतालमेंउपमुख्यपशुचिकित्साधिकारीडा.एचएनसिंह,रामकोलामेंडा.सुबोध,बोदरवारमेंडा.ईशानआनंद,सेवरहीमेंडा.दिनेशमौर्य,सुकरौलीमेंडा.रिजवानअंसारी,तुर्कपट्टीमेंडा.अनिलसिंह,कप्तानगंजमेंडा.उज्ज्वलखरवारआदिकेनेतृत्वमेंटीकाकरणअभियानचलरहाहै।जिलेमें31596मवेशियोंकोटीकालगानेकालक्ष्यरखाहै।उन्होंनेपशुपालकोंसेअपीलकीकिचारसेआठमाहकीमादामवेशीकोअस्पतालमेंलाकरटीकाअवश्यलगवालें।

बीमाकीप्रीमियमराशिका75प्रतिशतवहनकरेगीसरकार

राष्ट्रीयपशुधनबीमायोजनाकेतहतपशुपालकअपनेमवेशियोंकाबीमाकरालें।प्रीमियमराशिका75प्रतिशतसरकारवहनकरेगी,25प्रतिशतहीपशुपालकोंकोदेनापड़ेगा।उपमुख्यपशुचिकित्साधिकारीडा.एचएनसिंहनेबतायाकिबीमाएकसेतीनवर्षतककेलिएकियाजाएगा।प्रीमियमराशिमवेशीकीकीमतकेआधारपरतयकीजाएगीजोन्यूनतम5000औरअधिकतम50000रुपयेहोगी।मवेशीकीमृत्युहोनेपरबीमाकंपनीपशुपालककोभुगतानदेगी।