एफपीओ के माध्यम से उद्यमी बन सकते किसान : डीडीएम

गिरिडीह:नाबार्डकेझारखंडक्षेत्रीयकार्यालयरांचीकीओरसेशहरकेएकहोटलमेंकृषकउत्पादकसंगठनोंकेबोर्डआफडायरेक्टर्सऔरमुख्यकार्यकारीअधिकारीकातीनदिवसीयक्षमताव‌र्द्धनप्रशिक्षणसोमवारकोप्रारंभहुआ।इसकाउद्घाटनअग्रणीजिलाप्रबंधकरवींद्रकुमारसिंह,कृषिविज्ञानकेंद्रकेवरीयवैज्ञानिकआदेशश्रीवास्तव,डीडीएमआशुतोषप्रकाशऔरआत्माकेउपपरियोजनानिदेशकरमेशकुमारआदिनेकिया।

डीडीएमप्रकाशनेकहाकिएफपीओकेमाध्यमसेकिसानव्यवसायकरतेहुएउद्यमीबनसकतेहैं।नाबार्डजल्दहीजिलेमेंएफपीओमार्टखोलकरएफपीओकेउत्पादोंकोउपभोक्ताओंतकपहुंचानेकाकामकरेगा।नाबार्डकेमाध्यमसेएफपीओमार्टऔरएफपीओकेलिएपरिवहनकीव्यवस्थाकेलिएभीअनुदानउपलब्धहै।

प्रशिक्षणमेंकृषिमूल्यश्रृंखलाकेअलग-अलगपहलुओंमसलनकृषिउत्पादन,कृषियंत्रीकरण,कृषिविपणन,उन्नततरीकेकीखेती,प्राकृतिकखेतीआदिपरजोरदियाजारहाहै।कहाकिकोईभीकामकरनाइतनाआसाननहींहोताहै,लेकिनमनमेंइच्छाहोतोकोईभीकाममुश्किलनहींहै।नाबार्डकीपहलपरएफपीओअंतर्गततीनमिनीकोल्डस्टोरेजएकरूरलहाट,मसालाप्रसंस्करणयूनिट,मडुआप्रसंस्करणयूनिट,आटामिल,आलूचिप्सप्रसंस्करणयूनिटआदिभीकिसानोंकोअनुदानपरउपलब्धकरायाजारहाहै।मौकेपरशंकरराय,रविकुमार,आइडियाकेप्रोग्रामको-आर्डिनेटरमुकेशकुमारआदिथे।