एसएचओ के अलावा एडिशनल एसएचओ भी होंगे, नंबरों के आधार पर की जायेगी थानों की ग्रेडिंग, थानों में वरिष्ठ उप निरीक्षक को प्रशासनिक अधिकारी का दायित्व दिया जाएगा

पुलिसकमिश्नरेटमेंथानोंकीकार्यप्रणालीकोसुव्यवस्थितकरनेकेलिएअबप्रत्येकथानेकेकामकोछोटे-छोटेटुकड़ोंमेंबांटाजाएगा।इससेथानोंमेंकिएजानेवालेप्रत्येककामकीसमीक्षाकीजाएगीऔरइसीकामकेआधारपरअंकदिएजाएंगे।इसव्यवस्थाकोलागूकरनेकेपहलेपुलिसलाइनमेंदोदिवसीयप्रशिक्षणकीशुरुआतकीगईहै।

थानेकेकामोंकीप्रॉपरमॉनिटरिंगकीजाएगी...

थानोंमेंकामबेहतरहोऔरहरकामकीप्रॉपरमॉनिटरिंगहो।इसकेतहतसिर्फएसएचओहीहरकामकेलिएजिम्मेदारनहींहोंगेबल्किउनकेकामकोएसएसआई,एसआईऔरअन्यमेंबांटदियाजाएगा।जैसेकिएसएचओकेअलावाएडिशनलएसएचओहोंगेजोविवेचनाआदिकाकामदेखेंगे।वरिष्ठउपनिरीक्षकप्रशासनिकअधिकारीहोंगे,एसआईटेक्निकल,एसआईसिटीजनसर्विस,एसआईमहिलासुरक्षाभीतैनातहोंगी।सभीकेदायित्वनिर्धारितहोनेकेबादअन्यकार्योंकीसमीक्षाकीजाएगी।इसकेआधारपरअंकदिएजाएंगे।

दोदिनोंकाट्रेनिंगप्रोग्रामभीचलायाजायेगा...

इसकार्यकेसंबंधमेंदोदिवसीयप्रशिक्षणशिविरपुलिसलाइनमेंआयोजितकियाजारहाहै।इसमेंप्रभारीनिरीक्षकएसएसआई,सहायकप्रभारीनिरीक्षक,उपनिरीक्षकनागरिकसेवा,उपनिरीक्षकतकनीकी,उपनिरीक्षकमहिलासुरक्षाकादायित्वजैसेविषयोंपरअपरपुलिसआयुक्त,पुलिसउपायुक्तअपराध,अपरपुलिसआयुक्तमुख्यालयपुलिसउपायुक्तदक्षिणइनविषयोंपरजानकारीदेंगे।