गांव भभीसा में हुआ दारोगा का अंतिम संस्कार

शामली,जागरणटीम।गांवभभीसानिवासीदारोगाकीहृदयगतिरुकजानेकेकारणमेरठकेएकअस्पतालमेंमौतहोगई।गमगीनमाहौलमेंगांवमेंअंतिमसंस्कारकियागया।

मूलरूपसेभभीसागांवनिवासीदारोगाप्रदीपकुमारकीतैनातीअलीगढ़केखैरथानामेंथी।वहविवेचनाकेमामलेमेंकश्मीरगएथे।शनिवारदेरशाममेरठस्थितअपनेघरपहुंचे।यहींपरउनकेसीनेमेंतेजदर्दउठा।स्वजनदारोगाकोलेकरमेरठकेएकनिजीअस्पतालपहुंचेजहांउपचारकेदौरानउनकीमृत्युहोगई।स्वजनकेअनुसारदारोगाकीहृदयगतिरुकजानेकेकारणमृत्युहुईहै।रविवारकोस्वजनदारोगाकाशवलेकरगांवभभीसापहुंचे।गांवकेश्मशानघाटमेंअंतिमसंस्कारकियागया।

दारोगाकीहार्टअटैकसेमौत

संसू,खैर(अलीगढ़)::कोतवालीक्षेत्रकीगावपलाचादचौकीइंचार्ज50वर्षीयप्रदीपकुमारकीरविवारकीसुबहहार्टअटैककेचलतेमौतहोगई।वेशामलीकेथानाकाधलाकेगावभबीसाकेमूलनिवासीथे।परिवारबसेराअपार्टमेंटशास्त्रीनगरमेरठमेंरहताहै।एकमामलेकीविवेचनाकेलिएएकसिपाहीकेसाथजम्मूगएथे।शनिवारकीरातरास्तेमेंमुजफ्फरनगरमेंउनकेसीनेमेंदर्दउठनेलगा।साथमेंमौजूदसिपाहीउन्हेंमेरठलेआया।यहाआनंदहॉस्पिटलमेंउन्होंनेदमतोड़दिया।

खैरकस्बेकेएककोल्डस्टोरपरकरीबछहमाहपहलेप्रेमप्रसंगकेचलतेएकमजदूरनेआत्महत्याकरलीथी।प्रेमिकाजम्मूकीरहनेवालीहै,जिसकेखिलाफमृतककीमानेमामलादर्जकरायागयाथा।इसमामलेकीविवेचनाकेलिएदारोगाप्रदीपकुमारछहअप्रैलकोसिपाहीविपिनकुमारकेसाथनिजीगाड़ीसेजम्मूगएथे।शनिवारकीसुबहवहासेरवानाहुए।रास्तेमेंमुजफ्फरनगरकेपासउनकेसीनेतेजदर्जहोनेलगा।इसकीजानकारीसिपाहीविपिनकुमारनेस्वजनकोदी।उनकीपत्‍‌नीमुकेशदेवीकेकहनेपरवहप्रदीपकुमारकोलेकरमेरठस्थितउनकेघरआगए।यहापत्‍‌नीनेपानीपिलाया।इसकेबादउन्हेंआनंदहास्पिटललेजायागया।सुबहउनकादेहातहोगया।प्रदीपकेपिताइन्द्रपालसिंहगावमेंखेतीकरतेहैं।चारभाईएकबहनमेंवेदूसरेनंबरकेथे।उनकाइकलौताबेटा22वर्षीयआकाशएमटेककीपरीक्षापासकरचुकाहै।सिविलसेवाकीतैयारीकररहाहै।हादसेकीसूचनामिलनेकेबादमामुनेशदेवीवअन्यस्वजनकारोरोकरबुराहालहै।