गौतमबुद्धनगर में पुलिस कमिश्नरेट प्रणाली लागू होने के बाद पुलिस ने पेश किया दो साल का लेखा-जोखा

नोएडा[मोहम्मदबिलाल]।गौतमबुद्धनगरमेंपुलिसकमिश्नरेटप्रणालीलागूहोनेकेबादशुक्रवारकोनोएडापुलिसनेपिछलेदोवर्षोंकालेखा-जोखापेशकिया।जिसमेंपिछलेदोवर्षोंमेंकानूनव्यवस्थामेंसुधारकादावाकियागयाहै।पुलिसकादावाहैकिबीतेएकवर्षमेंजिलेकेआपराधिकघटनाओंमेंभारीकमीदेखनेकोमिलीहै।डकैती,लूट,हत्या,बलवा,घरमेंचोरी,अपहरण,दुष्कर्मकेसाथअन्यअपराधोंमेंकमीदर्जकीगईहै।वर्ष2021मेंविभिन्नतरहकेगंभीरअपराधकीकुल12,609मामलेसामनेआएहैं।

वहींवर्ष2020में9,130मामलेसामनेआए।जबकिवर्ष2019में12,610केसदर्जकिएगएथे।वहींगैंगस्टरकेतहत47मुकदमोंमें194आरोपितोंकेखिलाफवर्ष2020मेंकार्रवाईकीगईहै।जबकिवर्ष2021में31मुकदमोंमें149लोगोंकेखिलाफकार्रवाईहुईहै।जिसमेंएकअरबसेअधिककीसंपत्तिजब्तकीगईहै।वहींवर्ष2020में23मामलोंमें48करोड़सेअधिककीसंपत्तिजब्तकीगईहै।वहींडायल112केरिस्पांसटाइममेंजिलाप्रदेशमेंछठीबारसबसेबेहतररहाहै।

महिलासुरक्षाकेमामलेमेंबीतेदोवर्षकेदौरानन्यायालयने75आरोपियोंकोसजासुनाईहै।पुलिसद्वारामहिलाबीटपुलिसिंगकेसाथबीतेएकवर्षमें1,636मामलोंमेंमहिलाओंकीतरफसेआईशिकायतमेंपुलिसद्वारा1,328मेंसमझौताकरायागयाहै।साइबरठगीकाशिकारलोगोंकोपुलिसद्वारा1.70करोड़रुपयेवापसदिलाएगएहैं।कोरोनाकीदूसरीलहरकेदौरानपुलिसकेमानवीयऔरमददगारचेहरेपरलोगोंकाभरोसाबढ़ाहै।इसमेंकिसानआंदोलनकेचलतेपड़नेवालेविभिन्नव्यवधानोंकासफलतापूर्वकसमाधाननिकालनेकेसाथएकहजारपुलिसबलकेसाथसुरक्षा-व्यवस्थासुनिश्चितकरनेऔरवार्ताकेमाध्यमसेप्राधिकरणऔरकिसानोंमेंबातकराकरसमाधानकाहलनिकालनेमेंप्रभावीकार्रवाईकीगई।