हाईस्कूल परीक्षा में मोहम्मद जैद हसन को संस्कृत में मिले पूरे 100 नंबर, IIT से इंजीनियर बनने की इच्छा

ग्रेटरनोएडा:ग्रेटरनोएडाकेछात्रनेहाईस्कूलबोर्डपरीक्षामेंकमालकियाहै.सीबीएसईहाईस्कूलकारिजल्टघोषितहोचुकाहै.ग्रेटरनोएडाडीपीएसस्कूलमेंपढ़नेवालेदसवींकेछात्रमोहम्मदजैदहसननेबोर्डपरीक्षामें97.4फ़ीसदीअंकप्राप्तकिएहैं.वहींजैदनेसंस्कृतभाषामें100मेंसे100फीसदअंकभीप्राप्तकिएहैं.जिससेस्कूलऔरअपनेमातापिताकानामरोशनकियाहै.सीबीएसईहाईस्कूलबोर्डपरीक्षामेंमोहम्मदजैदहसनने500मेंसे487अंकप्राप्तकिएहैं.संस्कृतभाषापढ़नेमेंकाफीरुचिआतीहै.जैदआईआईटीसेपढ़ाईकरकेइंजीनियरबननाचाहतेहैं.

सीबीएसईहाईस्कूलबोर्डपरीक्षाकापरिणामघोषितहोतेहीग्रेटरनोएडाकेडीपीएसस्कूलमेंपढ़नेवालेछात्रमोहम्मदजयदातानेबोर्डपरीक्षामें97.4अंकप्राप्तकिएहैं.इसकेसाथ-साथउन्होंनेकठिनभाषाकहीजानेवालीसंस्कृतभाषामें100मेंसे100फीसदअंकप्राप्तकिएहैं.ज़ैदने500मेंसे487अंकप्राप्तकिएहैं.ज़ैदकेमाता-पितापेशेसेडॉक्टरहैंऔरउनकेविचारसामाजिकसद्भावनासेप्रेरितहैं.

परिवारकेयहीसंस्कारज़ैदकेअंदरभीआएहैं.संस्कृतकेप्रतिरुचिबननेकाश्रेयज़ैदनेअपनेसंस्कृतशिक्षकसुधाकरमिश्रकोदियाहै.जिनकेमार्गदर्शनमेंउसनेसंस्कृतकीमधुरताऔरउसकेसौंदर्यकाअनुभवकिया.उन्हेंबचपनसेहीसंस्कृतपढ़नेमेंकाफीरुचिरहीहै.हालांकिऔरलोगसंस्कृतभाषाकोकाफीकठिनमानतेहैं.लेकिनजैदनेकहाकिभाषाकाकोईधर्मनहींहोता.ध्यानसेपढ़ेतोवहकाफीमधुरऔरसरलभाषाहै.

छात्रनेइसकाक्रेडिटअपनेमाता-पिताऔरटीचरकोदिया.उनकाकहनाहैकिउनकेअध्यापकनेउन्हेंकाफीअच्छीतरहसेइसभाषाकोसमझायाजिससेउन्हेंयहभाषासमझसके.औरपरीक्षामेंउन्हींकीबदौलतसहीपरिणामलायाजासकताहै.जैदइंटरमीडिएटकीपरीक्षाउत्तीर्णकरनेकेबादआईआईटीसेपढ़ाईकरकेवहइंजीनियरबननाचाहतेहैं.क्योंकिउनकेबड़ेभाईभीआईआईटीगांधीनगरसेइंजीनियरिंगकीपढ़ाईकररहेहैं.

मोहम्मदजैदहसनकेमातापितापेशेसेडॉक्टरहैं.उनकेपिताडॉक्टरकेएमहसनजेपीअस्पतालनोएडामेंन्यूरोलॉजिस्टहै.उनकीमाताडॉक्टरनाजियाहसनबालरोगविशेषज्ञहैं.इनकापरिवारग्रेटरनोएडाकेएडब्ल्यूएचओसोसाइटीमेंरहताहै.औरछात्रडीपीएसस्कूलग्रेटरनोएडामेंपढ़ाईकररहाहै.इनकेपिताडॉक्टरकेएमहसननेकहाकिविश्वकीसभीभाषाएंअच्छीहै.लेकिनसंस्कृतभाषाभारतीयसंस्कृतिकोदर्शातीहै.आजकेदौरमेंहमलोगविदेशीभाषाकोज्यादाप्राथमिकतादीजारहीहैं.वहीअपनीमातृभाषाहिंदीसंस्कृतिउर्दूकोभूलतेजारहेहैं.मोहम्मदजैदहसनरोजाना7से8घंटेपढ़ाईकरतेहैं.उनकाकहनाहैकिभाषाकाकोईधर्मनहींहोताहै.अगरभाषाकोसहीतरीकेसेसमझाऔरपढ़ाजाएतोआपअपनेमुकामपरजल्दपहुंचसकतेहैं.

आजकेयुगमेंविदेशीभाषायानीकिइंग्लिशकोलोगज्यादातवज्जोदेनेलगेहैं.लोगघरस्कूलऔरसमाजमेंहरजगहइंग्लिशभाषाकोज्यादाअहमियतदीजानेलगीहै.वहीअपनीमातृभाषाओंकोभूलतेजारहेहैं.जैसेकिहिंदीसंस्कृतउर्दूकोछात्रनाहीसमझपातेहैं.नाहीपढ़पातेहैं.कुछछात्रतोहिंदीउर्दूकोपढ़नातौहीनसमझतेहैं.संस्कृतभाषाकाकोईधर्मनहींहोताहै.सभीकोसंस्कृतभाषापढ़नीचाहिए.मोहम्मदजैदहासननेयहकरदिखायाकिकोईभीभाषाकठिननहींहोतीहै.