जानिए क्‍या हुआ जब मुफ्तखोर एएसआइ के खाने का भुगतान करने पहुंचे पुलिस आयुक्त

फरीदाबाद,हरेंद्रनागर। कुछपुलिसकर्मियोंमेंमुफ्तखोरीकीआदतपुरानीहै।अपनेक्षेत्रमेंहोटल,रेस्टोरेंटसेखानालेनाऔरभुगताननाकरनाऐसेपुलिसकर्मीअपनाअधिकारसमझतेहैं।भलेहीइनकीसंख्याकमहै,मगरइनकेकारणपूरीपुलिसकीकिरकिरीहोतीहै।पुलिसआयुक्तओपीसिंहनेबुधवारकोऐसेपुलिसकर्मियोंकोकड़ासंदेशदिया।सेक्टर-14मेंरेस्टोरेंटचलानेवालेगुरदीपसिंहबख्शीनेपुलिसआयुक्तओपीसिंहकोशिकायतदीकिएकएएसआइरोजअक्सरआताहैऔरखानापैककराकरलेजाताहै।

खानेकाबिलमांगनेपरआंखेंदिखाता

खानेकाबिलमांगनेपरआंखेंदिखाताहै।ऐसासाकाफीसमयसेहोरहाहै,डरकेचलतेगुरदीपसिंहकिसीकोइसकीशिकायतनहींदेरहेथे।जबपानीसिरसेऊपरहोनेलगातोहिम्मतकरउन्होंनेपुलिसआयुक्तकोशिकायतदी।गुरदीपसिंहनेपुलिसआयुक्तकोबतायाकिलाकडाउनमेंउन्हेंपहलेहीकाफीघाटाहोगयाथा।व्यवसायअबकिसीतरहपटरीपरआनेलगाहै,मगरअबपुलिसकर्मीनेतंगकरनाशुरूकरदिया।

करीबपांचहजारकालगायानुकसान

पुलिसआयुक्तनेतुरंतउक्तएएसआइकीपहचानकरनेकेनिर्देशदिए।साथहीवेखुदसेक्टर-14मेंगुरदीपसिंहकेरेस्टोरेंटपरपहुंचे।उनसेपूछाकिएएसआइउनसेअबतककितनेरुपयेकाखानालेकरगयाहोगा।गुरदीपसिंहनेहिसाबलगाकरबतायाकिवहअबतककरीबपांचहजाररुपयेकाखानालेकरगयाहै।

पुलिसआयुक्त नेखुदकियाभुगतान

पुलिसआयुक्तनेअपनीजेबसेपांचहजाररुपयेनिकालकरगुरदीपसिंहकोदिए।साथहीकहाकिउन्हेंकिसीकोभीमुफ्तखानादेनेकीजरूरतनहींहै।अगरफिरकोईपुलिसकर्मीउनसेमुफ्तखानामांगेतोउसकीशिकायतकरें,उसपरउचितकार्रवाईहोगी।पुलिसआयुक्तनेमामलेकीजांचकेआदेशदिएहैं।जांचपूरीहोनेतकएएसआइकीड्यूटीपब्लिकडीलिंगकेकाममेंनहींलगेगी।यहशिकायतउसकीएसीआरमेंभीदर्जहोगी।जांचकेदौरानअगरउसकीगलतीमिलेगीतोएएसआइकेखिलाफकार्रवाईहोगी।

मेरासंदेशबिल्कुलसाफहैकिमुफ्तखोरीबर्दाश्तनहींकीजाएगी।अगरपुलिसकर्मीकहींभीसामानलेकररुपयेनहींदेतेतोउसकीशिकायतमुझेकरें।कड़ीकार्रवाईकीजाएगी।

ओपीसिंह,पुलिसआयुक्तफरीदाबाद