कैसे हैदराबाद चुनाव ने TRS के लिए पैदा कर दी है आगे कुआं-पीछे खाई वाली स्थिति

नईदिल्ली-हैदराबादनिकायचुनावमेंसबसेबड़ीपार्टीबननेसेतेलंगानाराष्ट्रसमितिकीप्रतिष्ठाभलेहीबचगईहो,लेकिनहैदराबादमेंअपनामेयरबनवानेकेलिएकेसीचंद्रशेखररावकेसामनेआगेकुआं-पीछेखाईवालीस्थितिपैदाहोगईहै।150वार्डवालेग्रेटरहैदराबादम्युनिसिपलकॉर्पोरेशनमेंअपनामेयरबनवानेकेलिएतेलंगानाकीसत्ताधारीटीआरएसकोकमसेकम65वार्डजीतनाजरूरीथा।लेकिन,उसेपिछलीबारके99केमुकाबलेसिर्फ55सीटेंहीमिलीहैं।जाहिरहैकिमेयरकोचुननेकेलिएउसेकिसीपार्टीकासमर्थनचाहिए।भारतीयजनतापार्टीनेसाफमनाकरदियाहै।लेकिन,असदुद्दीनओवैसीकीएमआईएमसेसीधेसमर्थनमांगनाउसकेलिएसियासीतौरपरखतरेसेखालीनहीं।

इसेभीपढ़ें-हैदराबादचुनाव:सिर्फ0.25%वोटोंसेपिछड़गईBJP,नहींतोहोसकताथाऔरभीबड़ाउलटफेर