कभी 7 दिन में ही चली गई थी कुर्सी, अब सातवीं बार बिहार के मुख्यमंत्री पद की शपथ लेंगे नीतीश कुमार

जेडीयूअध्यक्षनीतीशकुमार(NitishKumar)कोऔपचारिकतौरपररविवारकोNDAविधायकदलकानेताचुनलियागया.नीतीशकुमारनेराज्यपालसेमिलकरबिहारमेंनईसरकारबनानेकादावापेशकरदियाहै.सोमवारकोनीतीशसातवींबारबिहारकेमुख्यमंत्रीपदकीशपथलेंगेऔरबिहारमेंएकबारफिरसेसुशासनबाबूकीसरकारबनेगी.नीतीशकुमारकेशपथसेपहलेपढ़िएबिहारकीसियासतमेंनीतीशनेकैसेजमाईअपनीधाक.

जबपहलीबारबनेसीएम

3मार्च2000,बिहारकेराजभवनमेंतत्कालीनराज्यपालविनोदचंद्रपांडेय,जयप्रकाशनारायण(जेपी)आंदोलनकेगर्भसेनिकलेएकनेताकोशपथपत्रपढ़वारहेथे.वोनेताजिसनेलगभगछहसालपहलेजनतापार्टीसेअलगहोकरअपनीपार्टीबनाईथीऔरबिहारमेंबदलावकेसपनेसंजोएथे.राज्यकेमुख्यमंत्रीकेरूपमेंशपथलेतेवक्तउसनेताकोइसबातकाइल्मथाकिइसपदपरबनेरहनेकेलिएउसकेपासनंबरनहींहैं.लेकिनफिरभीउसनेजोखिमउठालियाथा.

सप्ताहबीतते-बीततेउसेराज्यकीगद्दीछोड़नीपड़ीऔरबिहारमेंबदलावकाउसकासपनाबादकेलिएटलगया.पांचसालबादवक्तनेकरवटली.बिहारबदलावकीअंगड़ाईलेचुकाथा.पहलीबारआठदिनकेलिएसीएमबनेनेतानेएकबारफिरसेशपथपत्रपढ़ाऔरबिहारमेंसुशासनबाबूकेराजकाआगाजहुआ.येकहानीहै‘बिहारमेंबहारहै’कादावाकरनेवालेनीतीशकुमार(NitishKumar)की.

नीतीशकुमारकुलछहबारबिहारकेमुख्यमंत्रीकेपदकाशपथलेचुकेहैंऔरउनकेसपनोंकाबिहारकुछजमीनपरउतराहैऔरज्यादातरबाकीहै.बिहारमेंविधानसभाचुनावकाबिगूलबजचुकाहैऔरनीतीशकुमारसातवींबारमुख्यमंत्रीपदकेशपथपत्रकोपढ़नेकेलिएचुनावीमैदानमेंहैं.

इंजीनियरिंगकीपढ़ाईऔरजेपीआंदोलन

बिहारकेबख्तियारपुरजिलेमेंजन्मेनीतीशकीशुरुआतीपढ़ाईबख्तियारपुरकेश्रीगणेशहाईस्कूलसेहुई.बादमेंउन्होंनेपटनाइंजीनियरिंगकॉलेजसेमैकेनिकलइंजीनियरिंगकीपढ़ाईपूरीकीऔरइसीदौरानवोराजनीतिमेंसक्रियहोगए.70केदशकमेंदेशमेंराजनीतिकरूपसेभारीउठापटकहुई.देशभरमेंप्रधानमंत्रीइंदिरागांधीकेखिलाफविरोधकेस्वरबुलंदहोनेलगेऔरइंदिराकेविरुद्धआंदोलनकामजबूतगढ़बिहारबना.

18मार्च1974कोपटनामेंछात्रोंऔरयुवकोंद्वाराशुरूकिएआंदोलनमेंजेपीकेनेतृत्वनेजानफूंकदीऔरयेआंदोलनपूरेदेशमेंऐसाफैलगयाऔरदेखतेहीदेखतेराजनीतिकाचेहराहीपूरीतरहबदलगया.नीतीशकुमारइसआंदोलनकाहिस्साथे.इसकेबाददेशमेंआपातकाललगानीतीशकुमारभोजपुरजिलेकेसंदेशथानाकेदुबौलीगांवसेगिरफ्तारकिएगए.नीतीशनेराजनीतिकेगुणजयप्रकाशनारायण,राममनोहरलोहिया,कर्पूरीठाकुरऔरजॉर्जफर्नांडिससेसीखेथे.

राजनीतिककरियरकाआगाज

इमरजेंसीखत्महोनेकेबाद1977मेंबिहारमेंविधानसभाकेचुनावहुएऔरनीतीशनेअपनेराजनीतिककरियरकीशुरुआतकी.वोनालंदाकेहरनौतविधानसभासीटसेजनतापार्टीकेटिकटपरचुनावलड़ेऔरहारगए.1980मेंवोलोकदलकेप्रत्याशीकेरूपमेंइससीटसेचुनावीमैदानमेंउतरे,लेकिनदूसरीबारभीउन्हेंहारझेलनीपड़ी.साल1985मेंलोकदलकेटिकटपरनीतीशहरनौतसेबिहारविधानसभाकेसदस्यचुनेगए.

साल1987मेंनीतीशकुमारबिहारकेयुवालोकदलकेअध्यक्षबनादिएगए.1989मेंउन्हेंजनतादलकामहासचिवबनादियागया.साल1989नीतीशकेराजनीतिककरियरकेलिएकाफीअहमथा.इससालनीतीश9वींलोकसभाकेलिएचुनेगए.इसकेबादसाल1990मेंनीतीशअप्रैलसेनवंबरतककेंद्रमेंवीपीसिंहकीसरकारमेंकृषिएवंसहकारीविभागकेकेंद्रीयराज्यमंत्रीरहे.

समतापार्टीकागठनऔरबीजेपीसेगठबंधन

साल1991मेंलोकसभाकेचुनावहुएनीतीशएकबारफिरसेसंसदमेंपहुंचे.करीबदोसालबाद1993कोनीतीशकोकृषिसमितकाचेयरमैनबनायागया.इसबीचसाल1994मेंवोजनतापार्टीसेअलगहोगएऔरजॉर्जफर्नांडिसकेसाथसमतापार्टीकागठनकिया.लेकिन1995केबिहारविधानसभाचुनावमेंसमतापार्टीकोहारझेलनीपड़ी.इसहारकेबादजेपीकेआंदोलनऔरमंडलउभारसेनिकलेनीतीशकुमारनेभारतीयजनतापार्टीसेगठबंधनकीगांठबांधी.

रेलमंत्रीसेआठदिनकेसीएमतक

1996और1998केलोकसभाचुनावमेंनीतीशफिरसेसंसदपहुंचे.1998-99तकनीतीशकुमारकेंद्रीयरेलवेमंत्रीभीरहे.साल2000नीतीशकेराजनीतिककरियरकासबसेअहममोड़था.इससालनीतीशकुमारपहलीबारबिहारकेमुख्यमंत्रीबने.उनकाकार्यकाल3मार्च2000से10मार्च2000तकचला.साल2000मेंनीतीशवाजपेयीसरकारमेंकेंद्रीयकृषिमंत्रीरहे.साल2001मेंनीतीशकोरेलवेकाअतिरिक्तप्रभारसौंपागया.

2004केलोकसभाचुनावमेंनीतीशफिरसेचुनकरआए.लेकिनवोइसकेअगलेसालहीवोबिहारकेसीएमबनगए.साल2005मेंनीतीशकुमारएकबारफिरसेमुख्यमंत्रीबने.2010मेंबिहारकीजनतानेएकबारफिरसेउन्हेंसीएमबनाया.लेकिनकार्यकालपूराहोनेकेपहलेही2014केलोकसभाचुनावमेंहुईकरारीहारकीजिम्मेदारीलेतेहुएउन्होंनेइस्तीफादेदियाथाऔरजीतनराममांझीकोमुख्‍यमंत्रीपदकाकार्यभारसौंपदिया.

लालू-नीतीशकाकमाल,बिहारमेंमहागठबंधनसरकार

22फरवरी2015कोउन्होंनेएकबारफिरबिहारकीकमानसंभालीऔरनरेंद्रमोदीकेनेतृत्ववालेराजगकोमातदेतेहुएबिहारकीसत्तापरकाबिजहुएऔरमहागठबंधनकीसरकारबनाई.लेकिनराजदऔरजदयूकासाथलंबेसमयकेलिएचलनहींसका.नीतीश-लालूके18सालोंकीदुश्मनीकाअसरबिहारकेगठबंधनसरकारकेबीते20महीनेकेसफरपरसाफदिखरहाथा.आखिर26जुलाईकोगठबंधनदोफाड़होगया.नीतीशनेराजभवनमेंअपनाइस्तीफासौंपाऔरफिर15घंटेकेभीतरहीवोदोबाराभाजपाकेसहयोगसेसत्तापरकाबिजहोगए.