खिसकती राजनीतिक जमीन पर विपक्ष

संजयगुप्तबिहारकेमुख्यमंत्रीनीतीशकुमारनेजिसतरह20माहकेअंदरराजदऔरकांग्रेसकेसाथबनेअपनेमहागठबंधनकोतोड़करफिरसेभाजपाकेनेतृत्ववालेराजगकेसाथजानेकाफैसलाकियावहबिहारकेसाथ-साथराष्ट्रीयराजनीतिकोभीप्रभावितकरनेवालाघटनाक्रमहै।उनकेइसफैसलेसेविपक्षकहींज्यादाकमजोरराजनीतिकजमीनपरदिखनेलगाहै।नीतीशनेअपनेफैसलेसेसाबितकियाकिवहसुशासनकेप्रतिप्रतिबद्धनेताकीअपनीछविसेसमझौताकरनेकोतैयारनहीं।उन्हेंसुशासनबाबूकीउपाधितबमिलीथीजबउनकादलजदयूभाजपाकेसाथमिलकरबिहारमेंसरकारचलारहाथा।इसदौरानउन्होंनेबिहारकोबदहालीसेबाहरनिकालनेकाजोकामकियाउसकीतारीफआजभीहोतीहै।2013मेंजबभाजपाऔरजद-यूस्वाभाविकसहयोगीकेतौरपरकामकररहेथेतबनीतीशनेभाजपाकीओरसेप्रधानमंत्रीपदकेसंभावितउम्मीदवारकेरूपमेंनरेंद्रमोदीकेनामकाविरोधकरनाआरंभकरदिया।उन्होंनेभाजपाकीओरसेमोदीकोप्रधानमंत्रीपदकाउम्मीदवारघोषितकरनेकेपहलेहीउसकेसाथ17सालपुरानेरिश्तेतोड़लिए।उसवक्तयहमानागयाथाकिउन्होंनेअपनावोटबैंकबचाएरखनेकेलिएऐसाफैसलालिया,क्योंकिवहभाजपासेतभीसेदूरीबनानेलगेथेजबसेमोदीकेबारेमेंयहचर्चाहोनेलगीथीकिवहराजगकीओरसेपीएमपदकेदावेदारहोसकतेहैं।भाजपासेरिश्तेतोड़नेकेबादउन्होंनेराजदऔरकांग्रेसकेबाहरीसमर्थनसेसरकारचलाई,लेकिनजब2014केलोकसभाचुनावमेंमोदीलहरकेआगेबिहारमेंजदयूऔरराजदकालगभगसफायाहोगयातोवहलालूयादवसेहाथमिलानेकेलिएमजबूरहुए।जल्दहीकांग्रेसभीउनकेसाथआगईऔरइसतरहमहागठबंधनबना।इसमहागठबंधनकाउद्देश्ययेन-केन-प्रकारेणभाजपाकोपराजितकरनाथा।इसउद्देश्यकीप्राप्तिहुईऔरफिरनीतीशकुमारयहांतककहनेलगेकिवहभारतकोसंघमुक्तबनानेकाकामकरेंगे।राजदऔरकांग्रेसकेसाथमिलकरसरकारबनानानीतीशकुमारकेलिएराजनीतिकरूपसेभलेहीसुविधाजनकरहाहो,लेकिनयहउनकीछविपरभारीपड़रहाथा।नीतीशऔरलालूकाराजनीतिकजीवनलगभगएकसाथशुरूहुआथा,लेकिनदोनोंकेराजनीतिकतौर-तरीकेहमेशासेअलगरहे।इसीलिएमहागठबंधनकोबेमेलमानागया।इसगठजोड़कीनींवकमजोरथी।जल्दहीयहदिखनेभीलगाथाकिखोखलीपंथनिरपेक्षतापरआधारितयहगठजोड़ज्यादादिननहींचलेगा।बेमेलगठबंधनकेकारणबिहारमेंविकासकाकामशिथिलहोनेलगाथाऔरकानूनएवंव्यवस्थासेजुड़ेसवालभीबार-बारसिरउठानेलगेथे।लगताहैकिनीतीशकोतेजस्वीकेगंभीरआरोपोंसेघिरनेकेपहलेहीयहअहसासहोनेलगाथाकिमहागठबंधनमेंरहनेकेकारणउनकीराजनीतिकपूंजीकाक्षरणहोरहाहै।शायदइसीकारणउन्होंनेभाजपाकीओरझुकावदिखानाशुरूकिया।सबसेपहलेउन्होंनेनोटबंदीकेफैसलेकीतारीफकीऔरफिरबेनामीसंपत्तिवालेविधेयककी।इसकेबादजबभाजपानेबिहारकेराज्यपालरामनाथकोविंदकोराष्ट्रपतिपदकाउम्मीदवारबनानेकाफैसलाकियातोउन्होंनेउनकाभीसमर्थनकिया।हालांकिनीतीशकायहरवैयाराजदऔरकांग्रेसकोरासनहींआया,लेकिनवहअपनेफैसलेसेडिगेनहीं।दरअसलउसीसमययहस्पष्टहोनेलगाथाकिवहजल्दहीमहागठबंधनसेअलगहोसकतेहैं।इसकेआसारतबऔरबढ़गएथेजबतेजस्वीइस्तीफानदेनेपरअड़गए।राष्ट्रपतिचुनावकेबादनीतीशनेजिसतरहआनन-फाननइस्तीफादियाऔरभाजपानेउन्हेंसमर्थनदेनेकाऐलानकियाउससेयहीलगताहैकिसबकुछपहलेहीतयहोगयाथा।बिहारमेंयकायकहुएराजनीतिकपरिवर्तनसे2019केआमचुनावमेंभाजपाकेखिलाफएकजुटहोकरउतरनेकेविपक्षकेमंसूबेपूरीतरहध्वस्तहोगएहैं।नीतीशकोविपक्षकीसंभावितएकताकीप्रमुखधुरीमानाजारहाथाऔरअबजबवहराजगसेजुड़गएतोविपक्षकेपासऐसाकोईनेतानहींबचाहैजिसेमोदीकोचुनौतीदेनेवालेसशक्तचेहरेकेरूपमेंपेशकियाजासके।कांग्रेसकेलिएयहएकबड़ाझटकाहै,क्योंकिउसकीसोचयहथीकिवहक्षेत्रीयदलोंकीमददसेमोदीकोचुनौतीदेनेमेंसफलरहेगी।कांग्रेसकोइसतरहकाझटकापहलीबारनहींलगा।अपनेउपाध्यक्षराहुलगांधीकेकारणउसेबार-बारमातखानीपड़रहीहै।इसकेबावजूदवहचेतनेऔरयहसमझनेकोतैयारनहींकिमौजूदारीति-नीतिसेकामचलनेवालानहींहै।राहुलकोयहजिम्मेदारीदीगईथीकिवहनीतीशकुमारकोमहागठबंधनकेसाथरखेंऔरकिसीतरहलालूयादवकोतेजस्वीकेइस्तीफेकेलिएमनालें।आखिरमामलाभ्रष्टाचारकेगंभीरआरोपोंकाथाजिसकेछीटेंकांग्रेसपरभीपड़रहेथे।इसकेबावजूदराहुलनीतीशकुमारकोयहआश्वासननहींदेपाएकिवहभ्रष्टाचारकेमामलेमेंसख्तरवैयाअपनाएंगेऔरतेजस्वीसेइस्तीफादेनेकोकहेंगे।पतानहींक्योंराहुललालूयादवकोइसकेलिएनहींमनापाएकिविपक्षीएकताकेलिएवहतेजस्वीकेमंत्रीपदकोमहत्वनदेंजबकिएकसमयउन्होंनेहीभ्रष्टनेताओंकोराहतदेनेवालेअध्यादेशकोफाड़ाथा।जबबिहारमेंउथलपुथलजारीथीतबवहांकेकांग्रेसीनेताराहुलसेमिलनेकेलिएसमयमांगतेरहे,लेकिनवेतीन-चारदिनबादभीखालीहाथरहे।राहुलअपनेनेताओंकीऐसीअनदेखीपहलेभीकरचुकेहैं।यहीकारणहैकिउनकेनेतृत्वपरसवालउठरहेहैं।विपक्षीदलमहागठबंधनसेअलगहुएनीतीशकुमारपरचाहेजोआरोपलगाएं,यहस्पष्टहैकिनीतीशकेलिएबिहारमेंअपनीराजनीतिकजमीनबनाएरखनातभीसंभवथाजबउनकीछविपरकोईदागनआए।वहशायदइसनतीजेपरपहुंचचुकेथेकिअगरलालूपरिवारपरभ्रष्टाचारकेआरोपइसीतरहलगतेरहेतो2019केलोकसभाचुनावमेंउनकेलिएजनताकोसमझानाकठिनहोगा।नीतीशनेभाजपाकेसाथफिरसेनाताजोड़करअबतकहुएनुकसानकीएकहदतकभरपाईकरलीहै।उनकेइसफैसलेकाएकलाभयहभीहोगाकिअबबिहारकेलिएकेंद्रकीतमामयोजनाएंसंकीर्णराजनीतिकाशिकारनहींहोंगी।बिहारकेराजनीतिकघटनाक्रमनेएकबारफिरसाबितकरदियाकि2014केबादसेभाजपाकोनेतृत्वदेरहेनरेंद्रमोदीऔरअमितशाहकिसीभीमौकेकोछोड़नानहींचाहते।वेलगातारअपनीजमीनमजबूतकरतेजारहेहैंऔरदूसरीओरकांग्रेसबार-बारमौकेगंवातीजारहीहैऔरअपनीराजनीतिकजमीनभीखोरहीहै।कांग्रेसकीइसदुर्गतिकेलिएखुदउसकेउपाध्यक्षराहुलगांधीहीअधिकजिम्मेदारहैं।उनकीराजनीतिकअकुशलतालगातारसामनेआरहीहै।कांग्रेसकोइसपरविचारकरनाचाहिएकिनाकामीकासामनाकरनेबादभीवहकबतकनेतृत्वकेलिएराहुलगांधीकीतरफदेखतीरहेगी।

[लेखकदैनिकजागरणकेप्रधानसंपादकहैं ]