किसान बनकर पहुंचे जिला कृषि अधिकारी, 250 रुपये महंगी मिली डीएपी

आगरा,जागरणसंवाददाता।जिलेमेंडीएपीकीकिल्लतहोरहीहै।सहकारीसमितियोंसेकिसानबैरंगलौटरहेहैं।वहींनिजीक्षेत्रकेविक्रेताकालाबजारीकररहेहैं।गुरुवारकोकिसानबनकरजिलाकृषिअधिकारीविनोदकुमारकईदुकानोंपरपहुंचे।उन्होंनेकुर्ता,पजामापहनऔरगमछाबांधडीएपीकीखरीदकी।फतेहाबादमेंडीएपीकट्टेपर250रुपये,शमसाबादमें150रुपयेनिर्धारितदरसेअधिकवसूलेगए।वहींदोविक्रेतानेउपलब्धहोतेहुएभीदेनेसेइन्कारकरदिया।इसदौरानसातनमूनेभीलिएगए,जिन्हेंजांचकेलिएलैबभेजाजारहाहै।वहींविक्रेताओंकोनोटिसजारीकरवसूलीकरनेवालोंकेविरुद्धमुकदमादर्जकरायाजारहाहै।

जिलाकृषिअधिकारीविनोदकुमारसबसेपहलेफतेहाबादकेगोपालखादबीजभंडारपहुंचे।विक्रेतासेडीएपीकाकट्टामांगा,जिसने1450रुपयेकाबताया,जबकिनिर्धारितमूल्य1200रुपयेहै।जिलाकृषिअधिकारीनेखरीदकेबादकुछदूरीपरमौजूदटीमकोबुलाकररेटलिस्ट,स्टाकरजिस्टरऔरअन्यप्रपत्रमांगेतोविक्रेतादिखानहींसका।आस-पासकेअन्यविक्रेताओंमेंखलबलीमचगई।दुकानसेदोबीज,दोखादकेनमूनेलिएगए।इसकेबादशमसाबादकेगौरवखादबीजभंडारपहुंचे,जिसने1350रुपयेकीडीएपीदीऔरबिलदेनेसेमनाकरदिया।विक्रेतानेस्टाकबोर्डनहींलगारखाथाऔरप्रपत्रभीनहींदिखाए।शमसाबादकेहीनवीनखादभंडारपहुंचेजिलाकृषिअधिकारीकोविक्रेतानेडीएपीदेनेसेमनाकरदिया।विक्रेतानेकहाकिवेसिर्फअपनीपहचानकेकिसानोंकोहीडीएपीबेचरहेहैं।जिलाकृषिअधिकारीनेपरिचयदेकरजांचकीतोविक्रेताप्रपत्रनहींदिखासके।दुकानसेखादकाएकनमूनाभीलियागया।निकटस्थितकिसानखादएजेंसीनेडीएपीउपलब्धहोनेसेमनाकरदियाऔरजांचकेदौरानकोईप्रपत्रनहींदिखासके।दुकानसेखादकेदोनमूनेलिएगए।जिलाकृषिअधिकारीनेबतायाकिडीएपीकीकृत्रिमकिल्लतदिखानिर्धारितदरसेअधिकमूल्यवसूलनेकीशिकायतमिलरहीथीं।किसानबनजांचकीगईतोचारविक्रेतापकड़मेंआए।सभीकोनोटिसजारीकरजवाबमांगाजारहाहैऔरनिर्धारितदरसेअधिकपरडीएपीबेचनेवालोंकेविरुद्धमुकदमादर्जकरायाजारहाहै।