किताबों के जखीरे पर पुलिसिया पहरा, आज हो सकता है कारखाना सील

गजरौला(अमरोहा):औद्योगिकक्षेत्रमेंस्थितएनसीईआरटीकीनकलीकिताबोंकेछपाईकेंद्रपरमेरठकीपुलिसपहरादेरहीहै।वहींयहांपररखींकिताबोंकीगिनतीभीदेरराततकचलतीरही।अलग-अलगशिफ्टोंमेंपुलिसकर्मीडयूटीदेरहेहैं।आने-जानेवालेलोगोंकीभीनिगरानीहोरहीहै।देरशामतककारखानासीलनहींहुआथा।सोमवारकोसीलकियाजासकताहै।

शुक्रवारकीरातमेंमेरठकेएसटीएफटीममेंयहांकारखाने-गोदामपरछापामारकरकरोड़ोंरुपयेकीनकलीकिताबेंबरामदकीथी।इसकेबादसेमेरठकीपुलिस,एसटीएफवएनसीईआरटीकेअधिकारीइसगोदामपरजुटेथे।यहांपररखीकिताबोंकीगिनतीकेलिएमेरठकेथानापरतापुरकेथानाध्यक्षआनंदमिश्रासहितकईपुलिसकर्मीदेरराततकजुटेरहे।एनसीईआरटीकीटीमकेदोसदस्यभीमौकेपरपहुंचे।उन्होंनेभीवहांकाजायजालियाऔरमेरठकेलिएरवानाहोगए।कारखानेमेंकौन-कौनसीकक्षाओंकिताबेंहैं।कितनीकिताबोंकेमंडलहैं।इनसबकीडिटेलभीजुटाईजारहीहै।छपाईकरनेकेलिएक्या-क्याउपकरणइस्तेमालहोतेहैं।उनकीभीतलाशचलरहीहै।

रविवारकीरातआठबजेतककारखानेकोसीलनहींकियागयाथा।होसकताहैकिसोमवारकोकारखानासीलहो।स्थानीयऔद्योगिकचौकीप्रभारीपवनकुमारनेबतायाकिअभीकारखानासीलनहींहुआहै।पुलिसकर्मीतैनातहैं।पानीनसोनेकीव्यवस्था,परेशानहैंपुलिसकर्मी

गजरौला:कारखानेकीनिगरानीकररहेपुलिसकर्मियोंकोसमस्याओंसेजूझनापड़रहाहै।लाइटभागनेकेबादयहांपरअंधेरेमेंरहनापड़रहाहै।मच्छरभीअधिकहैं।खासबातहैकिपूरेकारखानेमेंपानीकीव्यवस्थातकनहींहै।सोनेकेलिएभीकोईव्यवस्थानहींहै।