कमजोर बच्चे आसानी से बना पाएंगे कठिन सवाल

संवादसूत्र,मधेपुरा:राजकीयकन्यामध्यविद्यालयमेंशिक्षाविभागकीओरसेवर्गतीनसेपांचमेंपढ़रहेकमजोरबच्चोंकोमजबूतबनानेकोलेकरप्रशिक्षणसंचालितकियाजारहाहै।प्रशिक्षणकेतीसरेदिनजिलाकार्यक्रमपदाधिकारी(सर्वशिक्षाअभियान)नेप्रशिक्षणमेंप्रतिभागकिया।जिलाकार्यक्रमनेकहाकिवर्गतीनसेपांचमेंपढ़रहेबच्चोंकोमजबूतकरनेकेलिएप्रखंडसाधनसेवियोंएवंसंकुलसमन्वयकोंकेप्रशिक्षणकाआयोजनकियागयाहै।उन्होंनेकहाकिसभीप्रतिभागीगुणवत्तापूर्णप्रशिक्षणलेनासुनिश्चितकरें।प्रशिक्षणकेउपरांतसभीअपनेसंकुलएवंविद्यालयमेंजाकरबच्चोंकामूल्यांकनकरकमजोरबच्चोंकोचिन्हितकरेंगे।तथाविशेषकक्षाचलाकरबच्चोंकोदक्षबनाएंगे।ताकिकोईभीबच्चेअपनीकक्षामेंबेहतरप्रदर्शनकरसकें।उल्लेखनीयहोकिबच्चोंकीबुनियादीशिक्षामजबूतकरनेकेउद्देश्यसेबिहारशिक्षापरियोजनापरिषद्,पटनाएवंप्रथमएजुकेशनफाउंडेशनकेसाझाप्रयाससेकक्षातीनसेपांचकेलिएसंचालितकार्यक्रमविशेषशिक्षणका‌र्य्रकमकेतहतमधेपुराजिलाकेमधेपुरा,शंकरपुरएवंकुमारखंडप्रखंडकेसभीसंकुलसमन्वयकोंएवंप्रखंडसाधनसेवियोंकाप्रशिक्षणकियाजारहाहै।इसप्रशिक्षणमेंप्रशिक्षकोंनेकमालशिक्षणपद्धतिकेबारेमेंबताया।इसमेंबच्चोंकेसाथभाषाऔरगणितकेसवालबनानेकेआसानतरीकेबताएजातेहैं।मौकेपरप्रथमकेराज्यसाधनसेवीदीनानाथकुमारसिन्हा,जिलासमन्वयकरोहितकुमार,मु.नेयाज,मास्टरप्रशिक्षकचंद्रशेखर,प्रतिभागीकेरूपमेंमणिशंकरकुमार,कृष्णदेवमंडल,जयकुमारज्वाला,अमरेंद्रकुमार,रमेशकुमार,भूषणएवंललनकुमारआदिउपस्थितथे।