कराहते रहे मरीज, नहीं थे डाक्टर

जागरणसंवाददाता,ज्ञानपुर(भदोही):अस्पतालोंमेंचिकित्सकवस्वास्थ्यकर्मियोंकीलेटलतीफीपररोकनहींलगरहीहै।यहस्थितितबहैजबमुख्यमंत्रीअस्पतालोंऔरविभागीयकार्यालयोंमेंसमयसेउपस्थितिकोलेकरकईबारचेताचुकेहैं।बुधवारकोजिलाअस्पतालज्ञानपुरकेओपीडीमेंसुबह8.43बजेतकतालालटकतारहा।बाहरबैठेमरीजवउनकेपरिजनइंतजारकरतेरहे।कराहतेमरीजोंको10बजेकेबादहीउपचारसुविधामिलसकी।दूसरेदिनमुख्यमंत्रीकाजनपदमेंआगमनप्रस्तावितहैऔरचिकित्सकवकर्मियोंकोसमयसेपहुंचनेकीहिदायतदीगईहै।इसकेबादभीबुधवारकोओपीडीकेनिर्धारितकक्षमेंडा.अतुलश्रीवास्तव,डा.प्रदीपकुमार,डा.पीकेसिंह,डा.वीकेदुबे,डा.आरपीगुप्ता,डा.अरविदप्रतापवडा.आतिफ10बजेकेबादपहुंचे।महिलारोगविशेषज्ञकक्षवसर्जरीकक्षसवा10बजेतकबंदरहा।महाराजाबलवंतसिंहअस्पतालभदोहीस्वास्थ्यकेंद्रऔराईमेंभीओपीडीसमयसेनहींखुलसका।केस1:पेटदर्दसेकराहरहेबच्चेकोलेकरपहुंचेतिनबरवांनिवासीआनंदवउनकीसुबहआठबजेतोदुर्गागंजकेपिटूसुबहसेआठबजेकेबादसेइंतजारकरतेरहे।जिलाअस्पतालकेओपीडीमें10बजेतकचिकित्सकोंकाअता-पतानहींथा।

केस2:बालीपुरनिवासीकिशोरीप्रसादखूनकीजांचकरानेआएथे।8.55बजेतकपैथालाजीकेसामनेइंतजारकरतेमिले।आपरेशनविधिसेमहिलाओंकेप्रसवमेंजिलाअस्पतालफिसड्डी

जिलेमेंआपरेशनविधिसेप्रसवकोतीनअस्पतालोंमेंसुविधाहै।जिलाअस्पतालसबसेफिसड्डीहै।अप्रैलसे20दिसंबर20120तकजिलाअस्पतालमेंमहजएकमरीजकाआपरेशनविधिसेप्रसवकरायागया।प्रतिदिनएकदोमामलेऐसेआतेहैंजिनकोरेफरपर्चीथमाचिकित्सकजिम्मेदारीसेमुक्तिलेलेतेहैं।एमबीएसभदोहीमें17वसीएचसीडीघमें10प्रसूताओंकोयहसुविधामिलीहै,सभीअस्पतालोंमेंकुलसंस्थागत14006प्रसवकराएगए।