कश्मीर और लद्दाख में कैसे पांव पसार रही है बीजेपी

अनुच्छेद370औरधारा35एकोनिरस्तकिएजानेके100सेज्यादादिनोंकेबादभीकश्मीरघाटीमेंपीपल्सडेमोक्रेटिकपार्टी(पीडीपी)कामुख्यालयबंदपड़ाहुआहै.

श्रीनगरकेलालचौकइलाकेमेंचिनारकेपेड़ोंकेनीचपार्टीमुख्यालयकादरवाज़ानुकीलेतारोंकेबीचबंदहै.वहांतैनातपैरामिलिट्रीकेजवानहमारीमौजूदगीसेसक्रियहोतेहैं.बंकरमेंबनीएकछोटीसीखिड़कीसेआवाज़आतीहै,"पत्रकारहो?"

उनकीबंदूककीनलीसामनेसड़ककीओरतनीहुईहै.जबउन्होंनेहमारीपहचानसुनिश्चितकरलीतोकहा,"आपकोयहांनहींहोनाचाहिए.इमारतकीतस्वीरमतलो."

हालांकिथोड़ीदेरमनानेकेबादउन्होंनेहमेंन्यूज़स्टोरीकेलिएकुछविजुअलबनानेकीइजाज़तदेदी.

पीपल्सडेमोक्रेटिकपार्टीकेप्रवक्ताताहिरसईदबतातेहैं,"जबपार्टीकेसभीसदस्यकथिततौरपरनजरबंदहोंतोकोईकार्यालयकैसेकामकरसकताहै."

5अगस्त,2019कोभारतसरकारनेअनुच्छेद370कोनिरस्तकरकेजम्मूएवंकश्मीरकाविशेषदर्जाख़त्मकरदियाथा.

इसकेबादसेहीकश्मीरमेंइंटरनेटबंदहैजबकिआधेमोबाइलफ़ोनकामनहींकररहेहैं.आमपरिवहनऔरज़्यादातरकारोबारीसंस्थानबंदहैं.

सड़कोंपरशांतिपूर्णप्रदर्शनकीभीइजाज़तनहींहै,ऐसाकरनेपरलोगहिरासतमेंलिएजासकतेहैं,गिरफ़्तारहोसकतेहैंऔररिहाईकेलिएउन्हेंबॉन्डभरनापड़रहाहै.

अनुच्छेद370कोनिरस्तकरनेकेबादभारतसरकारनेजम्मूएवंकश्मीरराज्यकापुनर्गठनकरतेहुएइसेदोकेंद्रशासितप्रदेशों-जम्मूएवंकश्मीरऔरलद्दाखमेंविभाजितकरदिया.

पीपल्सडेमोक्रेटिकपार्टीकेप्रवक्तासईदबतातेहैं,"5अगस्तकेबादजोभीहोरहाहैवहलोकतंत्रकेलिएमजाकसेकमनहींहै.मैंतोइसेडेमोक्रेसीकीजगह'डेमोनक्रेज़ी'कहूंगा."

सईदउनगिनेचुनेनेताओंमेंहैंजोहिरासतमेंनहींहैं.

यहांतककिअबतकभारतकीहिमायतकरनेवालेजम्मूकश्मीरकेमुख्यराजनीतिकदलों-नेशनलकांफ्रेंस,पीपल्सडेमोक्रेटिकपार्टीऔरपीपल्सकांफ्रेंसकेज़्यादातरनेतायातोनजरबंदहैंयाहिरासतमेंहैं.

उन्हेंपार्टीकेदूसरेसदस्योंयाफिरकिसीराजनीतिकगतिविधिमेंशामिलहोनेकेइजाज़तनहींहै.इससेपहलेकश्मीरकेसबसेबड़ेसामाजिक-धार्मिकसंगठनजमाते-इस्लामीकेहजारोंसदस्योंकोहिरासतमेंलियागयाथा.

वहींदूसरीओर,भारतीयजनतापार्टी(बीजेपी)केश्रीनगरस्थितराज्यकार्यालयमेंरौनकदिखतीहै,पार्टीकेअधिकारी-कार्यकर्तातोहैंही,विज़िटर्सभीआजारहेहैं.

दफ़्तरकेबाहरगाड़ियोंकाबेड़ादिखताहै.जबहमबीजेपीदफ़्तरपहुंचेउसवक्तजम्मूकश्मीरबीजेपीकेमहासचिवअशोककौलदफ़्तरपहुंचेऔरउनसेमिलनेकेलिएलोगइंतज़ारकररहेहैं,इनमेंसेज़्यादातरपार्टीकेकार्यकर्ताहैं.

अशोककौलबतातेहैं,"पिछलेकुछसालोंसे,हमलोगजम्मू-कश्मीरमेंपार्टीकोमज़बूतबनानेकेलिएकामकररहेथे.अबहमेंलोगोंकासमर्थनमिलरहाहै.श्रीनगरपार्टीकार्यालयमेंमैंइसेमहसूसकरताहूं.जबभीयहांआताहूं,कश्मीरीलोगमिलनेकेलिएआतेहैं,वेबीजेपीसेजुड़नाचाहतेहैंऔरबड़ीसंख्यामेंपार्टीमेंशामिलहोरहेहैं."

अपनीज़मीनतैयारकरहीहैबीजेपी?

बीजेपीकश्मीरमेंअपनेआधारकोमज़बूतकरनेकीकोशिशोंमेंजुटीहै,वहींपीडीपीकेप्रवक्ताताहिरसईदबतातेहैंकिबीजेपीदेशभरमेंलोकतांत्रिकव्यवस्थाकामज़ाकउड़ारहीहै.

ताहिरसईदकहतेहैं,"बीजेपीराष्ट्रहितकेबदलेअपनीपार्टीकाहितदेखरहीहै.उन्हेंअगरदेशकीपरवाहहोतीतोवेनातोकिसीराजनीतिकदलपरअंकुशलगातेऔरनाहीराजनीतिकगतिविधिपर.यहांतककिमुख्यविपक्षीदलकांग्रेसकोभीबैठककरनेकीइजाज़तनहींहै.यहलोकतंत्रकामज़ाकहीतोहै."

90केदशकसेही,कश्मीरमेंनातोविधानसभाऔरनाहीलोकसभामेंबीजेपीकोकिसीसीटपरजीतमिलीहैलेकिनपार्टीज़मीनीस्तरपरअपनेकाडरोंकोतैयारकरनाचाहतीहै.

बीजेपीकेअशोककौलबतातेहैं,"2015में,कश्मीरमेंहमारे2.5लाखसदस्यथे.6जुलाई,2019सेहमनेसदस्यताअभियानचलाया.तबइंटरनेटचलरहेथे,पार्टीमें46हज़ारनएसदस्यऑनलाइनसेजुड़े.इंटरनेटपरपाबंदीकेबादहमनेऑफ़लाइनसदस्यताअभियानचलाया.कलहीहमनेसदस्योंकीसंख्याजोड़ीहै,ऑफ़लाइनहमने60हज़ारसदस्योंकोजोड़ायानीहमकश्मीरघाटीमेंहमारेसदस्योंकीसंख्या3.5लाखतकपहुंचचुकीहै."

बीजेपीकासदस्यताअभियानपूराहोचुकाहै.अबबीजेपीबूथस्तरतककेढांचेकोअंतिमरूपदेनेमेंजुटीहै,बीजेपीकश्मीरघाटीमेंपहलीबारयहकामकरनेजारहीहै.

कौलबतातेहैं,"3.5लाखकार्यकर्ताबूथअध्यक्षकेचुनावमेंहिस्सालेसकतेहैं.यह5000पोलिंगबूथकेलिएहोनेवालाहै.इसकेबादहमविधानसभाअध्यक्षऔरफिरज़िलाअध्यक्षकाचुनावकरेंगे.हमारीकोशिशहैकिहमदिसंबर,2019तकयहचुनावकरालें."

'दूसरोंदलोंकोनहींमिलरहाबढ़नेकामौक़ा'

राशिदामीरबीजेपीकीराज्यकार्यकारिणीकीसदस्यहैं.वेबीतेतीनसेसालपार्टीसेजुड़ीहैंऔरउन्हेंकश्मीरमेंपार्टीकाभविष्यबेहतरदिखरहाहै.

राशिदामीरकहतीहैं,"अनुच्छेद-370कोहटानेकेबादहमेंज़मीनीस्तरपरलोगोंकोसमझानेमेंमुश्किलहोरहीथीलेकिनजबहमलोगोंकोयेबतातेकिइससेकैसेउनकाफ़ायदाहोनेवालाहैतोलोगसमझजातेथे."

विपक्षीराजनीतिकदलोंकेनेताओंकेहिरासतमेंहोनेसेबीजेपीकोअपनाअभियानचलानेकेलिएज़्यादास्पेसमिलनेकेसवालपरराशिदामीरनेकहा,"जोभीदोषीहोगा,वहतोहमेशाहिरासतमेंहोगा,लेकिनसचयहीहैकिहमेंकश्मीरमेंअपनीस्थितिमज़बूतकरनेकाअवसरमिलाहै."

एकओरबीजेपीअगलेकुछमहीनोंमेंअपनेपार्टीगतढांचेकोअंतिमरूपदेनेजारहीहैवहींदूसरीओरविपक्षीपार्टियांजम्मूकश्मीरकेपुनर्गठनहोनेकेबादअपनेपार्टीगतढांचेपरकामनहींकरसकीहैं.

राज्यकेतीनमुख्यमंत्री,राजनीतिकनेताऔरकश्मीरमेंबीजेपीकोछोड़करमुख्यधाराकीसभीपार्टियोंकेकार्यकर्ताबीतेपांचअगस्तसेहीहिरासतमेंहैं.

कश्मीरयूनिवर्सिटीमेंराजनीतिविज्ञानकेअस्सिटेंटप्रोफेसरएजाज़अशरफ़वानीकेमुताबिक़जबअंकुशलगालोकतंत्रहोतोसतारूढ़दलकोफ़ायदापहुंचताहै.

वेबतातेहैं,"जबआपकोकोईराजनीतिकचुनौतीनहींमिलरहीहोतोयहकिसीभीलोकतंत्रकेलिएअच्छानहींहोता.कश्मीरकेमामलेमें,यहअभूतपूर्वस्थितिहै,जिसमेंआपलोकतंत्रमेंप्रतिस्पर्धीकोपनपनेकामौकानहींदेरहेहैं,इसेआपनियंत्रितलोकतंत्रयाअंकुशवालालोकतंत्रकहसकतेहैं.ऐसेमेंबीजेपीमजबूतहोगी.कश्मीरमेंऐसीस्थितिपहलेभीरहीहै.इससेपहलेयहीकामकांग्रेसकररहीथी,अबबीजेपीकररहीहै."

एजाज़अशरफ़वानीकेमुताबिक़,"कश्मीरमेंबीजेपीकीताकतऔरबढ़ेगी.सभीक्षेत्रीयराजनीतिकदलअपनेमेनिफेस्टोमेंऐतिहासिकतौरपरकश्मीरीपहचानऔरअनुच्छेद370कीबातकरतेआएहैं,अबउनकीकोईजगहनहींबचेगी.यहभीकहाजारहाहैकिकश्मीरीनेताओंनेलोगोंकोधोखादियाहै.उन्होंनेहमेशाअनुच्छेद370कोनिश्चितकरानेकीबातकहीथीलेकिनऐसाहुआनहीं.ऐसेमेंअगरवेलोगयेकहेंगेकिहमलोगअनुच्छेद370कोबहालकिएजानेकेलिएसंघर्षकरेंगे,तोकोईउनसेप्रभावितनहींहोगा."

अक़बरलोनउत्तरकश्मीरकेबारामुलाज़िलेसेनेशनलकांफ्रेंसकेसांसदहैं.उनकादावाहैकिकश्मीरकाकोईभीसमझदारव्यक्तिबीजेपीनहींजॉइनकरेगाऔरजोलोगपार्टीसेजुड़नेकादावाकररहेहैंवोझूठादावाकररहेहैं.

अक़बरलोनकहतेहैं,"हमारीपार्टीकाभविष्यसुरक्षितहै.वेलोगकहरहेहैंकिलोगबीजेपीजॉइनकररहेहैं,किनलोगोंनेउन्हेंजॉइनकियाहै?जिनलोगोंनेबीजेपीजॉइनकियाहैवेयातोसरकारकीओरतैनातआतंकीलड़ाकेहैंयाफिरकुछबदमाशलोग."

अक़बरलोनकेमुताबिक़,"लद्दाखमें,लोगकिसीपार्टीकोजॉइननहींकररहेहैं.नेशनलकांफ्रेंसऔरकांग्रेसकेकाडरअपनीअपनीपार्टियोंकेसाथजुड़ेहुएहैं.पीपल्सडेमोक्रेटिकपार्टीकेकरगिलमेंकुछलोगोंनेजरूरबीजेपीजॉइनकीहैलेकिनलद्दाखमेंपीडीपीपार्टीबहुतमज़बूतनहींहै.इनसबसेकोईबदलावनहींहोनेवालाहै."

बदलालद्दाख,करगिलभीबदला

लद्दाखभीअबकेंद्रशासितप्रदेशबनचुकाहै.यहांकेलोगोंमेंभारतसरकारकेजम्मूकश्मीरकोलेकरउठाएगएकदमपरमिश्रितप्रतिक्रियाएंदेखनेकोमिलीं.करगिलमेंभारतसरकारकेफ़ैसलेकेविरोधमेंप्रदर्शनहुआलेकिनकरगिलमेंहीपीडीपीकेपांचबड़ेनेताओंनेबीजेपीजॉइनकरलीहै.

काटचोगुलजारबीजेपीकासदस्यबननेसेपहलेपीडीपीकेसदस्यथे.वेकरगिलइलाकेमेंपीडीपीअध्यक्षथे,उनकामाननाहैकिदोकेंद्रशासितप्रदेशबननेकेबादलद्दाखमेंसबकुछबदलगयाहै.

वेकहतेहैं,"पीडीपीकाकरगिलमेंआधारख़त्महोगयाहै.लद्दाखनयाकेंद्रशासितप्रदेशहै.जोराजनीतिकदलकश्मीरकेंद्रितहैंउनकीलद्दाखमेंउपस्थितिनहींहोसकती."

काटचोगुलजारबतातेहैं,"हमभीजम्मूएवंकश्मीरकोदोभागोंमेंविभक्तकिएजानेकेख़िलाफ़थे.लेकिनयहलद्दाखयाफिरकश्मीरमेंबिनाकिसीसलाहलिएकरदियागया.हमारेपासबीजेपीजॉइनकरनेकेसिवादूसराविकल्पनहींरहगयाथा.अगरपीडीपीकेनेताहिरासतमेंनहींभीहोतेतोभीलद्दाखमेंपार्टीख़त्महोतीसीदिखरहीहै."

करगिलकेपत्रकारमुतर्जाफ़ाज़लीबतातेहैं,"5अगस्तकेबादसेकरगिलमेंपीडीपीपूरीतरहसेबाहरदिखरहीहै,जबकिबीजेपीलगातारमज़बूतहोरहीहै."

फ़ाज़लीकेमुताबिक़,"हालमेंहुएबीडीसीचुनावोंमें,बीजेपीकेटिकटपरलड़रहेदोउम्मीदवारोंनेजीतहासिलकीजबकिदोनिर्दलीयउम्मीदवारभीउनकासमर्थनकररहेहैं.बीतेकुछचुनावोंकोअगरआधारमानेंतोयहअच्छाप्रदर्शनहै.अनुच्छेद370कोनिरस्तकरनाबीजेपीकेलिएरणनीतिकक्षणभीसाबितहुआहै,क्योंकिइसकेबादसेहाजीइनायतअलीजैसेपीडीपीनेताओंनेबीजेपीकादामनथामलिया.इसलिएकरगिलकीराजनीतिकफिज़ाधीरेधीरेबदलरहीहैजबकिलेहमेंबदलचुकीहै."

कश्मीरकेसाथकश्मीरीराजनीतिभीनिर्णायकदौरसेगुज़ररहीहै,यहऐसादौरहैजहांसेकोईकश्मीरकेभविष्यकेबारेमेंठीकठीकनहींबतासकता.