कुशल प्रशासक और राजनीतिक शुचिता का सम्मान करने वाले नेता हैं राजनाथ

नयीदिल्ली,30मई(भाषा)भौतिकीकेप्रोफेसरसेदेशकेगृहमंत्रीतककालंबासफरतयकरनेवालेराजनाथसिंहभारतीयजनतापार्टीकेऐसेमजबूतस्तंभहैंजिनकीपहचानकुशलप्रशासकऔरराजनीतिकशुचिताकासम्मानकरनेवालेपरिपक्वनेताकेरूपमेंहोतीहै।राजनाथसिंहनेगुरुवारकोप्रधानमंत्रीनरेंद्रमोदीकेबादकैबिनेटमंत्रीकेतौरपरशपथली।मधुरभाषीऔरनपातुलाबोलनेवालेसिंहप्रतिद्वंद्वियोंपरकमोबेशनिजीहमलेकरनेसेगुरेज़करतेहैं।पार्टीमेंउनकेकदकाअंदाजाइसबातसेलगायाजासकताहैकिलालकृष्णआडवाणीकेबादवहऐसेनेताहैंजिन्होंनेदोअलगअलगकार्यकालकेलिएपार्टीकीकमानसंभालीहै।आडवाणीतीनबार(1986से1990,1993से1998और2004से2005)पार्टीअध्यक्षरहेजबकिसिंह2005से2009तकअध्यक्षरहनेकेबाद2013-14मेंभीभाजपाअध्यक्षरहे।उन्हींकेअध्यक्षरहतेपहलीबारप्रधानमंत्रीपदकेलियेनरेंद्रमोदीकेनामपरमुहरलगीथी।संघकेसाथउनकेबेहतररिश्‍तेकाअनुमानइसबातसेलगायाजासकताहैकिआडवाणीकेजिन्‍नाप्रकरणकेबादसंघनेसिंहकोहीपार्टीकेअध्‍यक्षकीजिम्‍मेदारीसौंपीथी।इसकेबादउन्होंनेदूसरीबारपार्टीकीकमानतबसंभालीथीजब‘पूर्तीमामले’मेंनितिनगडकरीकानामसामनेआयाथा।साधारणकिसानपरिवारमेंजन्मेसिंहनेमामूलीकार्यकर्तासेलेकरपार्टीकेअध्यक्षऔरदेशकेगृहमंत्रीजैसेअहमपदकाजिम्मासंभालाहै।बनारसकेपासचंदौलीजिलेमेंजन्मेसिंहएककुशलप्रशासककेरूपमेंजानेजातेहैं।वहसियासतमेंकदमरखनेसेपहलेमिर्जापुरकेकॉलेजमेंव्याख्याताहुआकरतेथे।भाजपामेंसफलताकीसीढ़ीसंघहैऔरसिंहकाराष्ट्रीयस्वंयसेवकसंघसेगहरानाताहै।1964में13वर्षकीअवस्थामेंहीवहसंघसेजुड़गए।व्याख्याताबननेकेबादभीसंघसेउनकाजुड़ावबनारहा।10जुलाई1951कोजन्‍मेसिंहनेगोरखपुरविश्‍वविद्यालयसेभौतिकीविषयमेंपरास्नातककीडिग्रीहासिलकी।उन्हें1974मेंभारतीयजनसंघकामिर्जापुरकासचिवबनायागया।देशमें1975मेंआपातकाललगातोवहजेलभीगए।1977मेंजबदेशमेंचुनावहुएतोवहउत्तरप्रदेशकेमिर्जापुरसेपहलीबारविधायकबनेथे।इसकेबादउन्हेंतीनबारइसीसीटसेजीतमिली।सिंहको1986मेंभारतीयजनतायुवामोर्चाकाराष्ट्रीयमहासचिवबनायागया।बादमेंवह1988मेंइसकेराष्ट्रीयअध्यक्षबने।इसीसालसिंहउत्तरप्रदेशविधानपरिषदकेसदस्यनिर्वाचितहुए।साल1991मेंजबउत्तरप्रदेशमेंभाजपाकीसरकारबनीतोराजनाथकोशिक्षामंत्रीबनायागया।1994मेंवहराज्यसभागएऔर1997मेंउत्तरप्रदेशभाजपाकेअध्यक्षबनाएगए।उत्तरप्रदेशकेशिक्षामंत्रीरहतेउन्होंनेएंटी-कॉपिंगकानूनलागूकरवायाथा।इसमेंनकलचीविद्यार्थियोंकोपरीक्षाहॉलसेगिरफ्तारकियाजाताथाऔरजमानतअदालतसेमिलतीथी।साथहीवैदिकगणितकोपाठ्यक्रममेंभीशामिलकरवानेकाश्रेयउन्हेंहीजाताहै।सिंह20अक्‍टूबर2000कोउत्तरप्रदेशकेमुख्‍यमंत्रीबने।हालांकिउनकाकार्यकालदोसालसेभीकमसमयकारहा।इसकेबादकेंद्रकीअटलबिहारीवाजपेयीनीतराजगसरकारमेंसिंहकोभूतलपरिवहनऔरकृषिमंत्रीबनायागयाथा।उनकोपहलीबारपार्टीकीकमान2005से2009तकमिलीतोदूसरीबारवहइसपदपर2013से2014तकरहे।सिंह2009मेंगाजियाबादऔर2014तथा2019मेंलखनऊसेसांसदनिर्वाचितहुए।2014मेंजबभाजपाकीसरकारबनीतोउन्हेंदेशकागृहमंत्रीबनायागया।