लोक अदालत में निष्पादित मामलों की अपील नहीं

संवादसहयोगी,साहिबगंज:राष्ट्रीयलोकअदालतमेंनिष्पादितमामलोंमेंकहींअपीलनहींकीजासकतीहै।इसलिएअधिकसेअधिकलोगइसअदालतसेअपनेमामलोंकानिष्पादनकरालेंतथाकोर्ट-कचहरीकीदौड़सेमुक्तिपालें।यहबातेंशनिवारकोआयोजितजिलाव्यवहारन्यायालयकेलोकअदालतकक्षमेंराष्ट्रीयलोकअदालतकाउद्घाटनकरतेहुएप्रधानजिलाजजवंशीधरतिवारीनेकहीं।

इसअवसरपरचारबेंचोंकागठनकर797मामलोंकानिष्पादनकियागया।एककरोड़42लाख,87हजारकेसेटलमेंटराजस्वकीवसूलीकीगई।इसमौकेपरप्रधानजिलाजजनेकहाकिसुलहनीयमामलोंमेंदोनोंपक्षोंद्वारासमझौताकरवादोंकानिपटाराकरानेसेदोनोंकेबीचआपसीमधुरसंबंधबनारहजाताहै।ऐसीपरिस्थितिमेंनाकिसीकीहारहोतीहैनाकिसीकीजीतहोतीहै।कहाकिराष्ट्रीयलोकअदालतकेमाध्यमसेअनेकमामलेसमझौताकेआधारपरनिष्पादितहोनेसेराष्ट्रीयआर्थिकलाभभीहोताहैऔरभारतकेन्यायालयोंमेंबोझकेतलेमुकदमोंमेंकमीआतीहै।इसमौकेपरफैमिलीजजश्रीप्रकाशदुबे,एडीजेवनकेकेशुक्ला,एडीजेथ्रीपीकेशर्मा,सीजेएमबीकेलाल,एसडीजेएमबीएनशुक्ला,जेएमप्रथमआलोकसिंह,रेलवेजजतारकेश्वरदास,डीएलएसएसचिवमनोरंजनकुमार,प्रशिक्षुजेएमअमितकुमारगुप्ता,पीएलएअध्यक्षअभयकुमारसिन्हा,सदस्यकल्याणश्रीवास्तव,शिवशंकरदुबे,जिलाअधिवक्तासंघकेसचिवविजयकुमारकर्ण,अध्यक्षप्रेमनाथतिवारी,स्टेटबैंकऑफइंडियाकेसीएमराजेशकुमारकेअलावाग्रामीणक्षेत्रोंसेआएन्यायप्रार्थीएवंअधिवक्तामौजूदथे।