Loksabha Election 2019 : पहला चरण : जातियों के चक्रव्यूह से बढ़ी दलों की उलझन

लखनऊ[अवनीशत्यागी]।भाजपाकेसामनेसाल2014काप्रदर्शनदोहरानेकीचुनौतीहै।वोटोंकाबिखरावऔरकुछउम्मीदवारोंकेप्रतिबढ़ीनाराजगीभाजपानेतृत्वकीधुकधुकीबढ़ाएहै।प्रत्येकसीटपरअलगसमीकरणनजरआताहै।तीसराकोणबनानेकीकांग्रेसकीकोशिशेंभीमुकाबलेकोरोचकबनारहीहै।ताबड़तोड़सभाओंसेगर्माएमाहौलमेंचुनावीसंभावनाबनतीबिगड़तीदिखरहीहै।जातीयवोटबैंककोसुरक्षितबनाएरखनेकेलिएसभीदलोंनेअपनेजातीयनेताओंकोभीमैदानमेंउतारदियाहै।जातिगतवोटोंकीजोड़तोड़तेजहै।मतदानकेदिनअपनेपक्षकेमतदाताओंकोघरसेनिकालकरमतदानकरानेपरहीचुनावनिर्भरकरेगा।

मुस्लिमदलितबहुलवालेपश्चिमीउत्तरप्रदेशमेंवोटबंटवारेकीगुत्थीउलझतीजारहीहै।मोदीहरानेकेनारेपरमुस्लिमोंकोलामबंदकरनेमेंजुटीबसपाकोभीमआर्मीकीलोकप्रियतासेखतरादिखताहै।दलितचिंतकरणवीरहरितकादावाहैकिगतपांचवर्षमेंदलितराजनीतिमेंबदलावआयाहै।अबवर्ष1993जैसावातावरणसपा-बसपागठजोड़केपक्षमेंबनपानामुश्किलहै।गतढाईदशकमेंयुवाओंकानजरियाबदलाहै।जातीयहितव्यापकतासेदेखाजानेलगाहै।वाल्मीकिजागृतिमंचकेसंयोजकराघवप्रसादकाकहनाहैकिदलितोंमेंअन्यबिरादरियोंकीअनदेखीकरनाभीउचितनहोगा।

भीमआर्मीकेसक्रियकार्यकर्ताजितेंद्रजाटवकाकहनाहै,चंद्रशेखरआजादकोअपमानितकरनेकानुकसानगठबंधनकोहोसकताहै।खासकरसहारनपुर,बिजनौर,बुलंदशहर,गौतमबुद्धनगर,मेरठ,बागपतवमुजफ्फरनगरजैसेक्षेत्रोंकेदलितचौंकानेवालेफैसलेलेसकतेहैं।दलितोंमेंनयानेतृत्वनउभरनेदेनेकीप्रवृत्तिसमाजहितमेंनहींहै।

मुस्लिमोंमेंभीकशमकश

सहारनपुर,बिजनौर,मुजफ्फनगर,बागपत,मुरादाबाद,गाजियाबादऔरअलीगढ़जैसेस्थानोंकेमुस्लिमोंमेंऊहापोहकीस्थितिहै।कांग्रेसकीमजबूतीसेयहांमुस्लिमोंकीउलझनबढ़ीहै।मुस्लिमराजनीतिकेजानकारडॉ.नदीमकाकहनाहैकिकेंद्रसेभाजपाकीसरकारकोहटानाहैतोस्थानीयदलोंपरअधिकभरोसानहींकियाजासकता।यहबातप्रत्येकजागरूकमुसलमानजानताहैकिछोटेदलसरकारबननेकीजोड़तोड़मेंभाजपाकेपासजानेमेंहिचकनहींकरतेहैं।दोतीनसीटोंया35-40क्षेत्रोंमेंहीलड़नेवालेदलोंकीगारंटीकौनलेगा?

मुस्लिमोंमेंजातिवादीपेंच

मुस्लिमोंमेंअंसारी,सैफी,अल्वीऔरअगड़ापिछड़ाकासवालखड़ाहोतारहाहै।हालांकिइसबारलोकसभाचुनावमेंभाजपाकोहरानेकीललकमुस्लिमोंमेंआंतरिकखींचतानकेचलतेअसरदारनहींदिखती।यासीनखानजैसेयुवककहतेहैैंकिमुस्लिमोंमेंभीगरीब-अमीरऔरअगड़े-पिछड़ेकीखाईगहरातीजारहीहै,जिसकालाभसत्ताधारीपार्टियांउठातीरहीहैं।तीनतलाकजैसेमसलोंकाभीमुस्लिममहिलाओंमेंअसरहै।

दलितोंमेंभीदरार

वर्ष2014व2017केचुनावमेंदलितवोटोंमेंबड़ीहिस्सेदारीकरनेवालीभाजपाकेलिएइसबारवोटरोंकोसहेजनाबड़ीचुनौतीहोगी।दलितोंकीनाराजगीनहींबढ़नेदेनेकेलिएभाजपानेपश्चिमीउत्तरप्रदेशकीसुरक्षितसीटोंमेंसांसदोंकेटिकटमेंज्यादाकाटछांटनहींकीहै।यहांतकदलितोंकोरिझानेकेलिएजरूरीकानूनीबदलावकरनेमेंअन्यवर्गोंकेएतराजकोअनदेखाकिया।वहींसपासेगठबंधनकोमौकापरस्तमानतेएडवोकेटहरीरामगौतमकाकहनाहैकिदोदशकतकदोनोंओरइतनाजहरभरागया,जिसेदोमाहमेंनिकालनासंभवनहीं।कुछगांवोंमेंदलितोंकेसाथजातिविशेषकेलोगजोदुर्व्यवहारकरतेहैं,उससेरिश्तेतत्कालसामान्यहोनासंभवनहीं।

अन्यपिछड़ोंकीलामबंदी

अन्यपिछड़ावर्गकीजातियोंकाभाजपाकेपक्षमेंलामबंददिखनागठबंधनकेलिएचुनौतीहै।गुर्जरविचारमंचकेमहासचिवब्रजेशभड़ानाकाकहनाहैकिसपा-बसपागठबंधनकीवर्ष1993जैसीस्थितिनहींहै।तबअन्यपिछड़ीजातियांबसपायासपाकेपालेमेंथीलेकिन,अबगुर्जर,सैनी,प्रजापति,कश्यप,नाई,तेली,कुशवाहावकुर्मीजैसीजातियोंपरमोदीकारंगचढ़ाहै।इसीकारणअन्यदलोंकेकद्दावरपिछड़ेवर्गकेनेताओंकारुझानभाजपाकीओरबढ़ाहै।दोमाहमेंतीनदर्जनसेअधिकबड़ेनेताओंनेभाजपाकीसदस्यताग्रहणकीहै।

वोटबैंककाबिखराव

मुस्लिमवदलितहीनहींपश्चिमीउत्तरप्रदेशमेंजाटोंकाबिखरावभीगठबंधनकीचुनौतीहै।जाटोंमेंपकड़बनानेकेलिएभाजपाप्रत्येकदांवचलरहीहै।रालोदअध्यक्षअजितसिंहभाजपाकेसंजीवबालियानसेसीधेमुकाबलेमेंफंसेहैंतोबागपतमेंउनकेपुत्रजयंतचौधरीकोअपनीपुश्तैनीसीटभाजपासेवापसकरानेमेंपसीनाबहानापड़रहाहै।जाटवोटोंकोलेकररालोदवभाजपादोनोंदावाजतारहेहैं।उधर,कैरानासीटपरकांग्रेसप्रत्याशीहरेंद्रमलिकभीजाटोंमेंसेंधलगारहेहैं।जिसकेचलतेयहांगठबंधनकीउम्मीदवारवरालोदकेटिकटपरसांसदबनीतबस्सुमबेगममुश्किलमेंहैं।

सवर्णवोटरोंमेंएकजुटता

गतदोचुनावकीतरहइसबारभीसवर्णमतदाताओंकीएकजुटताभाजपाकेपक्षमेंदिखरहीहै।पश्चिमीजिलोंमेंराजपूत,ब्राह्मणत्यागी,वैश्यकेअलावापंजाबियोंकीसंख्याभीअच्छीखासीहै।अन्यपिछड़ोंकीतरहसेअगड़ोंमेंहिंदुत्ववराष्ट्रवादकारंगचढ़ाहै।गरीबसवर्णोंकादसफीसदआरक्षणकार्डभीअसरदिखारहाहै।