महाकाली प्राण-प्रतिष्ठा अनुष्ठान संपन्न

संवादसूत्र,भुरकुंडा:न्यूबिरसापरियोजनाउरीमारीकेसाईटऑफिसप्रांगणमेंचलरहेतीनदिवसीयमहाकालीप्राण-प्रतिष्ठाअनुष्ठानमंगलवारकोपुर्णाहुतिवभव्यभंडाराकेसाथसंपन्नहोगया।अनुष्ठानकेअंतिमदिनपुरोहितआचार्यरमेशमिश्रा,उपशास्त्रीअर्जुनकुमारपांडेय,द्वारिकापांडेय,मंटूपांडेय,अमूल्यकुमारउपाध्यायद्वारापूरेविधि-विधानएवंवैदिकमंत्रोच्चारणकेबीचहवन,जलाधिवास,फलाधिवास,अग्निप्रज्जवलन,तांत्रिकविधि,पुर्णाहुति,बलि,कन्यापूजन,प्रतिमापुजन,प्राणप्रतिष्ठासहितकईधार्मिकअनुष्ठानसंपन्नकराएगए।इसदौरानमांकालीसहितअन्यआराध्यदेवी-देवताओंकेजयकारोंसेपूराक्षेत्रगूंजउठा।पूजा-अर्चनामेंबतौरयजमानसोनाराममांझीवउनकीपत्नीबभनीदेवी,सूरजबेसरा,गणेशगंझू,सत्यनारायणमूर्ति,समयलाल,राकेशश्रीवास्तव,टुरामांझी,लीलमुनीदेवी,तलमीदेवी,डोटकोदेवी,तालोमुनीदेवीशामिलहुए।पूजा-अर्चनाकेबादभंडाराकाआयोजनकियागया।जिसमेंसैकड़ोंलोगोंनेप्रसादग्रहणकिया।अनुष्ठानकोसंपन्नकरानेमेंसंजयकरमाली,संतोषकुमारसिंह,जीतनमुंडा,विनोदहेम्ब्रोम,पंकजहम्ब्रोम,राकेशमुर्मू,लेचामांझी,दिनेशटुडू,अजयमरांडी,विश्वनाथमांझी,मोहनसोरेन,जुरासोरेन,डोड़कोदेवी,क्रांतिकिस्कू,अजयकरमाली,सुखरामबेसरा,विजयसोरेन,महेशबेसरा,सचिनमुंडा,बाबुमुर्मू,कैलाशमुंडा,लक्ष्मीदेवीआदिविशेषयोगदानरहा।मौकेपरपीओपीकेसिंहा,खानप्रबंधकरामेश्वरमुंडा,संजीवबेदिया,राकेशकुमार,अमरेंद्रकुमार,प्रवीणसहारे,संतोषपांडेय,शिशिरसरकार,अवधेशकुमारसहितदर्जनोलोगमौजूदथे।