मिशन 2019: बिहार में तेज हुई दलित राजनीति, विपक्ष की रणनीति काटने में जुटी BJP

पटना[रमणशुक्ला]।एससी-एसटीएक्टकेमुद्देपरदलितराजनीतिमेंउबालकेबादबिहारभाजपानेसधेहुएकदमोंसे2019मेंभीप्रधानमंत्रीनरेंद्रमोदीकीसरकारबनानेकीतैयारीशुरूकरदीहै।विपक्षद्वाराफैलाएगएआरक्षणकेसियासीशिगूफेमेंउलझकरबिहारमें2015केविधानसभाचुनावमेंपार्टीजीतीबाजीहारचुकीहै।विपक्षएकबारफिरइसमुद्देकोभुनानेकीकोशिशमेंहै,लेकिनभाजपाकिसीभीकीमतपरविपक्षकोमाइलेजनहींदेनाचाहतीहै।इसेध्यानमेंरखतेहुएभाजपाराजद-कांग्रेसकेभ्रमजालकोकाटनेकीतैयारीमेंजुटगईहै।

इसीउद्देश्यसेशीर्षनेतृत्वकेनिर्देशपरमंगलवारकोज्ञानभवनमेंपार्टीकेप्रदेशपदाधिकारियों,मंच,मोर्चाऔरअनुषांगिकसंगठनोंकीबैठकबुलाईगईहै।बैठकमेंभाजपाकेराष्ट्रीयमहामंत्रीवबिहारप्रभारीभूपेंद्रयादवऔरराष्ट्रीयसहसंगठनमहामंत्रीसौदानसिंहबतौरमुख्यवक्तापार्टीपदाधिकारियोंसेलेकरनेताओंऔरकार्यकर्ताओंकोगांव-गांवकूचकरनेकेटिप्सदेंगे।

एससी-एसटीकोपक्षमेंकरनेकाप्लानतैयार

दरअसल,भाजपासियासीनफा-नुकसानकेमंथनकेसाथराज्यमेंविपक्षीपार्टियोंकोकोईमौकानहींदेनाचाहतीहै।यहीवजहहैकिबिहारमें22फीसदसेअधिकआबादीवालेइसबड़ेवर्गकीनाराजगीसेचुनावमेंहोनेवालेनुकसानकीआशंकादेखउन्हेंमनानेकाप्लानभीतैयारकरलियाहै।इसकेलिएभाजपासांसदोंऔरनेताओंकोदलितबहुलगांवोंमेंरातबितानेकेनिर्देशदिएगएहैं।

साथहीभाजपानेदलितोंकीनाराजगीसेजुड़ीसमस्याओंकोसमझकरउन्हेंहलकरनेकेउपायोंपरभीतेजीसेकामकरनाशुरूकरदियाहै।इसीकड़ीमेंपार्टीकेशीर्षनेतृत्वने5मईतकग्रामस्वराजअभियानचलानेऔरदलितबस्तियोंमेंसमरसताभोजआयोजितकरनेनिर्देशदिएहैं।

बतादेंकिवर्तमानमेंदेशमेंएससी-एसटीकीआबादी20करोड़सेज्यादाहै।लोकसभामेंइसवर्गसे131सांसदहैं।भाजपाकेसबसेज्यादा67सांसदइसीवर्गसेहैं।लिहाजाइसेलेकरभाजपाचिंतितऔरसतर्कहै।

कौन-कौनबुलाएगए

बिहारभाजपाकेउपाध्यक्षएवंकार्यालयप्रभारीदेवेशकुमारबतातेहैंकिपार्टीनेसभीपदाधिकारियों,सांसद,विधायक,विधानपार्षद,लोकसभाऔरविधानसभाचुनावकेपूर्वप्रत्याशी,जिलाध्यक्षों,मंच,मोर्चा,विभागऔरप्रकल्पकेपदाधिकारियोंबुलायाहै।

दलितोंकोमनानेकेलिएभाजपाकेचारफार्मूले

1.ठंडेपड़ेभाजपाकेएससी-एसटीमोर्चेकोसक्रियकरना।

2.मोर्चापदाधिकारियोंकोयोजनाओंकेसाथदलितक्षेत्रोंमेंभेजना।

3.जिलाभाजपादफ्तरमें वर्कशॉपजिसमेंएससी-एसटीमंत्री,प्रभावीसांसदोंकीमौजूदगीअनिवार्यरूपसेहोगी।

4.संगठन,सरकारमेंहरस्तरपरदलितोंकेप्रतिनिधित्वकोउभारना।

भाजपाइनमुद्दोंसेपरेशान

1.पदोन्नतिऔरनिजीक्षेत्रमेंआरक्षणकामामला।

2.भर्तियोंमेंदलितोंकाबैकलॉग।

3.एससी-एसटीएक्टपरसुप्रीमकोर्टका20मार्चकोआयाआदेश।

4.विश्वविद्यालयऔरसंस्थानोंमेंआरक्षणकामुद्दाऔररोस्टरप्रणालीपरयूजीसीकेआदेशपरविरोध।