नशे के सेवन से दूर रहने के लिए दिलाई शपथ, जानिए पूरा मामला Gorakhpur News

गोरखपुर,जेएनएन:जिलाविधिकसेवाप्राधिकरणजिलादेवरियाकेतत्वावधानमेंदीवानीन्यायालयगेटपरआयोजितकार्यक्रममें जिलाविधिकसेवाप्राधिकरणकेसचिवन्यायाधीशशिवेंद्रकुमारमिश्रनेनशेकेसेवनसेदूररहनेएवंकोरोनासेबचावकेलिएलियाशपथदिलाई।

कोरोनागाइडलाइनकाकरेंपालन

न्यायाधीशमिश्रनेकहाकिहोलीपूरेभारतमेंहर्षोल्लासकेसाथमनायाजानेवालापर्वहैं,इसत्योहारपरसभीलोगअपने-अपनेघरोंमेंएक-दूसरेकेसाथप्रेम,सौहार्द,भाईचाराएवंअपनत्वकोबनाएरखें।कहाकिशासनयाप्रशासनद्वारावैश्विकमहामारीकोरोनासेबचावकेलिएजोभीगाइडलाइनजारीकीगईहै।उसकासख्तीसेपालनकरें,जिससेइसमहामारीसेबचाजासकें।शारीरिकदूरीकापालनकरें,मुंहपरसदैवमास्कलगाएंरहेंएवंहोलीमिलनकेसमयदोगजकीदूरीकोबनाएरखें,भीड़-भाड़वालेजगहपरइकट्ठानरहें,विशेषकछोटेबच्‍चोंपरज्यादाध्यानदें।कहाकिहोलीकोनशासेदूररखाजाए,किसीभीप्रकारकेनशीलेपदार्थोकासेवननकियाजाए।

नशामुक्तिकेलिएलोगोंकोआनाहोगाआगे

न्यायाधीशनेकहाकिअपने-अपनेगांवोंमेंहोलीपर्वकोप्रेमएवंशांतिकेसाथमनाएं।नशामुक्तिकेलिएसमाजकेसभीलोगोंकोएकसाथआगेआनाहोगा,जिससेहोलीकोनशामुक्तिकेसाथमनायाजासके।कहाकिआबकारीविभागएवंपुलिसप्रशासनद्वारानिरीक्षणकेदौरानकच्‍चीपकड़ीगई।यहहोलीकोदेखतेहुएएकअनूठीपहलहै।समाजकेप्रत्येकनागरिकोंकायहकर्तव्यएवंदायित्वहैकिइसतरहकेअवैधानिककार्योंकीसूचनादे।इसअवसरपरडिस्ट्रिक्टबारएसोसिएशनकेपूर्वअध्यक्षसुभाषचंद्रराव,शक्तिधरपांडेय,विनोदकुशवाहा,मजहरअली,चितरंजन,हरेराम,ओमप्रकाश,सत्यानंद,सागर,व्यापारीगणएवंआमजनउपस्थितरहे।

जेलमेंबंदियोंकीसमस्याओंकाहोत्वरितनिदान

जिलाकारागारदेवरियामेंजिलाविधिकसेवाप्राधिकरणदेवरियाकेसचिवन्यायाधीशशिवेंद्रकुमारमिश्रनेबंदियोंकीसमस्याएंसुनकरत्वरितनिदानकेनिर्देशदिए।न्यायाधीशमिश्रनेकन्हैयालालकोनिश्शुल्कअधिवक्ताकेलिए,नरेंद्रकोजमानतदारउपलब्धकराने,शुगरसेपीड़ि‍तसुशीलादेवीकोदवादेनेकेलिएनिर्देशितकियागया।जेलकेबंदियोंकीसुरक्षा,विधिकसहायता,स्वच्‍छतापरजोरदेतेहुएकहाकिजिलाविधिकसेवाप्राधिकरणसमस्तबंदियोंकीविधिकसहायता,विधिकसाक्षरताप्रदानकरनेकेलिएसदैवतत्परहैं।

मच्‍छरोंसेबचावकेलिएकराएंदवाकाछिड़काव

न्यायाधीशनेकहाकिजिलाकारागारपरिसरकोनियमितरूपसेसाफ-सफाईएवंजलजमावकीस्थितिमेंमच्‍छरोंसेबचावकेलिएदवाकाछिड़कावकरायाजाए।जोबंदीजेलअस्पतालमेंभर्तीहैं,उनकेइलाजमेंकोईअसावधानीनबरतीजाए,समयसेजांचवउनकेसमुचितइलाजतथादवादेनेकेलिएनिर्देशितकियागया।जेलअस्पतालमेंकुल12बंदीभर्तीथे।जिलाकारागारकेमहिलाबैरकमेंकुल46महिलाएंतथापांचबच्‍चेमौजूदरहे।जिलाकारागारकेपीएलवीकोनिर्देशितकियागयाकिवेजिनबंदियोंकोविधिकसहायताकीआवश्यकताहैं,उनसेप्रार्थनापत्रलेकरअविलंबजिलाविधिकसेवाप्राधिकरणदेवरियाकोउपलब्धकराएं,जिससेउन्हेंविधिकसहायतादीजासकें।