न्यायालय ने अलग से प्रवेश परीक्षा एनएलएटी-2020 आयोजित करने की एनएलएसआईयू की अधिसूचना रद्द की

नयीदिल्ली,21सितंबर(भाषा)उच्चतमन्यायालयनेएनएलएसआईयू,बेंगलुरुद्वाराबीएएलएलबीकेपांचवर्षीयपाठ्यक्रममेंप्रवेशकेलियेअलगसेएनएलएटी-2020आयोजितकरनेसंबंधीअधिसूचनासोमवारकोरद्दकरदीऔरउसेनिर्देशदियाकिक्लैट-2020परीक्षाकेनतीजोंकेआधारपरछात्रोंकोप्रवेशदियाजाये।क्लैटकीपरीक्षादेशके23राष्ट्रीयविधिविश्वविद्यालयों(एनएलयू)प्रवेशमेंलियेराष्ट्रीयस्तरकीकेन्द्रीकृतपरीक्षाहैऔरएनएलएसआईयू,बेंगलुरूइसमेंसेहीएकहै।शीर्षअदालतनेराष्ट्रीयविधिविश्वविद्यालयों(एनएलयू)कीकंसोर्टियमसेकहाकिवहछात्रोंकेस्वास्थ्यकेलियेसभीऐहतियादीकदमउठायेऔरस्वास्थ्यएवंपरिवारकल्याणमंत्रालयऔरमानवसंसाधनविकासमंत्रालयकेसभीमानकोंकापालनकरतेहुये28सितंबरकोक्लैट-2020प्रवेशपरीक्षाआयोजितकरे।न्यायमूर्तिअशोकभूषण,न्यायमूर्तिआरसुभाषरेड्डीऔरन्यायमूर्तिएमआरशाहकीपीठनेकहाकिकंसोर्टियमयहसुनिश्चितकरेगीकिप्रवेशपरीक्षाकेनतीजेयथाशीघ्रघोषितकियेजोयताकिएनएलएसआईयू,बेंगलुरूओरदूसरेराष्ट्रीयविधिविश्वविद्यालयमध्यअक्टूबरतकअपनेअपनेपाठ्यक्रमशुरूकरसकें।न्यायालयनेनेशनललॉस्कूलऑफइंडियायूनिवर्सिटी(एनएलएसआईयू),बेंगलुरूकेपूर्वकुलपतिएवंएकअभ्यर्थीकेअभिभावकप्रोफेसरआरवेंकटरावतथाएकछात्रकेपिताकीयाचिकायहफैसलासुनाया।इनयाचिकामेंएनएलएसआईयूद्वाराप्रवेशपरीक्षाअलगसेकरानेसंबंधीअधिसूचनाकोपूरीतरहमनमानाऔरगैरकानूनीफैसलाबतायागयाथा।याचिकामेंकहागयाथाकिएनएलएसयूआईकीइसकार्रवाईनेएकअप्रत्याशितअनिश्चिततापैदाकरदीहैऔरछात्रोंपरभीअनावश्यकबोझडालदियाहैजोअबभावीकार्यक्रमकोलेकरअनिश्चयकीस्थितिमेंहैं।याचिकामेंयहभीकहागयाथाकिप्रवेशपरीक्षाकेरूपमेंनेशनललॉएप्टीट्यूडपरीक्षाकरानेकानिर्णयबगैरकिसीसोचविचारकेलियागयाहैऔरसनकभरीवजहोंसेलियेगयेइसनिर्णयनेअंतिमक्षणोंमेंछात्रोंकेभविष्यसेखिलवाड़कियाहै।इससेपहले,न्यायालयने11सितंबरकोकोनेशनललॉस्कूलऑफइंडियायूनिवर्सिटी(एनएलएसआईयू),बेंगलुरूकोशनिवारकोअलगसेएनएलएटी-2020प्रवेशपरीक्षाकेआयोजनकीअनुमतिप्रदानकरदीलेकिनउसेइसयाचिकाकेलंबितहोनेकेदौरानपरीक्षाकेनतीजेघोषितकरनेऔरकिसीभीछात्रकोप्रवेशदेनेसेरोकदिया।न्यायालयनेएनएलएटी-2020अधिसूचनारद्दकरनेकेअनुरोधवालीयाचिकापर17सितंबरकोसुनवाईपूरीकरतेहुयेकहाथाकिइसपरफैसलाबादमेंसुनायाजायेगा।याचिकामेंपांचसालकेबीए,एलएलबी(ऑनर्स)पाठ्यक्रम2020-21मेंप्रवेशकेलियेजारीचारसितंबरकीअधिसूचनारद्दकरनेकाअनुरोधकियागयाथा।न्यायालयनेअपने107पेजकेफैसलेमेंकहाकिएनएलएसआईू,बेंगलुरूकोअलगसेएनएलएटीआयोजितकरनेकेलियेतीनसितंबरकीअधिसूचनाजारीकरनेसेपहलेशैक्षणिकपरिषदसेइससंबंधमेंसिफारिशप्राप्तकरनीचाहिएथी।पीठनेकहा,अकादमीपरिषदकीसिफारिशकेबगैरहीतीनसितंबरकोजारीकीगयीअधिसूचना1986केकानूनकेप्रावधानों(राष्ट्रीयविधिस्कूलकानून)केअनुरूपनहींथी,इसलिएटिकनहींसकती।न्यायालयनेकहाकिविशेषरूपसेएनएलएटीआयोजितकरनेकेलियेअकादमीपरिषदकीसिफारिशजरूरीथीक्योकिएनएलएसआईयूबेंगलुरूक्लैटकीप्रवेशपरीक्षाउत्तीर्णकरनेवालेछात्रोंकीबजायेअलगसेपरीक्षाआयोजितकररहीथी।पीठनेकहाकिक्लैटविभिन्नराष्ट्रीयविधिविश्वविद्यालयोंकेलियेआयोजितहोनेवालीअखिलभारतीयस्तरकीप्रवेशपरीक्षाहैऔरइसनेकानूनकीशिक्षाकेक्षेत्रमेंअपनाअलगस्थानबनायाहै।राष्ट्रीयविधिविश्वविद्यालयोंनेकंसोर्टियमगठितकरनेऔरविभिन्नकानूनोंकेतहतअपनेकर्तव्योंकानिर्वहनकरतेहुयेक्लैटकेआयोजनकेलियेएकदूसरेकेसाथसहयोगकरनेकेलियेकदमउठायेगयेहैं।इसकीएकताबनायेरखनेकीजिम्मेदारीअबइसकेप्रत्येकसदस्यकेकंधोंपरहैं।पीठनेइसतथ्यकाभीजिक्रकियाकिकानूनकेक्षेत्रमेंअपनाभविष्यदेखनेवालेहजारोंछात्रक्लैटकीप्रवेशपरीक्षाकीओरदेखतेहैंऔरक्लैटनेभीअपनीउपयोगितासिद्धकीहै।