ओड-इवन सिस्‍टम : रोहतक जिले में कितने बाहरी आटोरिक्‍शा, अब पुलिस करेगी पहचान

जागरणसंवाददाता,रोहतक:रोहतकजिलेकीयातायातव्यवस्थाकोबेहतरबनानेकेलिएपुलिसहरसंभवप्रयासकररहीहै।नएसिस्टमकेतहतअबउनआटोकीपहचानकीजाएगीजोरोहतकमेंरजिस्ट्रडनहींहै।यानीकिऐसेआटोजोबाहरीजिलोंमेंरजिस्ट्रडहैऔरयहांपरचलरहेहै।इनकारिकार्डअलगसेतैयारकियाजाएगा।

दरअसल,एनजीटीनेशनलग्रीनट्रिब्यूनलकेनियमानुसारएनसीआरमेंआनेवालेजिलोंमेंदससालसेपुरानेडीजलऔर15सालसेपुरानेपेट्रोलवाहनबंदहोनेहैं।ऐसेवाहनोंपरशिकंजाकसनेकेलिएपुलिसकीतरफसेहररोजनएयोजनातैयारकीजारहीहै।अबऐसेआटोकीपहचानकेलिएविशेषअभियानचलायाजाएगा।गुरुग्रामऔरफरीदाबादसमेतआदिजिलोंमेंसख्तीकेबादरोहतकमेंआटोकीसंख्याकाफीबढ़गयाहै,जोजामकाकारणबनतेहैं।

पिछलेदिनोंकईऐसीवारदातभीहुईजिसमेंआटोमेंसवारियोंकोबैठाकरउनकेसाथलूटपाटकीगई।ऐसेमेंअबइनपरशिकंजाकसनेकेलिएट्रैफिकपुलिसकीतरफसेविशेषअभियानचलायाजाएगा।रोहतकनंबरकेकितनेआटोहैऔरबाहरीजिलोंकेकितनेआटोचलरहेहैंइसकापूरारिकार्डतैयारकियाजाएगा।जोआटोएनजीटीकीगाइडलाइनपरखरानहींउतरतेउन्हेंयहांसेबंदकरायाजाएगा।जबकिअन्यआटोकेचालकोंकाभीपूराब्योरापुलिसअपनेपासरखेगी।जिससेकोईभीघटनाहोनेपरतुरंतइनकारिकार्डखंगालाजासके।

करीबचारहजारआटोचलरहेबाहरी

आंकड़ोंकेअनुसार,जिलेमेंकरीबसाढ़ेसातहजारआटोरजिस्ट्रडहै,जबकिट्रैफिकपुलिसकेअनुसारफिलहालजिलेमेंदसहजारसेअधिकआटोचलरहेहैं।जिनकापुलिसकेपासभीकोईरिकार्डनहींहै।इसमेंअधिकतरआटोवहीहैजोदूसरेजिलोंमेंसख्तीहोनेकेबादयहांपरआकरचलाएजारहेहैं।

जिलेमेंकितनेआटोरजिस्ट्रडहैऔरकितनेबाहरीआटोचलरहेहैंइसकापूरारिकार्डतैयारकियाजाएगा।आटोयूनियनकेपदाधिकारियोंसेभीइसबारेमेंपूरीजानकारीजुटाईजाएगी।

-इंस्पेक्टरकुलबीरसिंह,एसएचओट्रैफिकरोहतक