Opposition Parties Helpless In Aligarh: मुद्दों की भरमार, मगर विपक्ष हैं लाचार

अलीगढ़,जागरणसंवाददाता।विपक्षकेलिएइससमयमुद्दोंकीभरमारहै।सबसेबड़ामुद्दामहंगाईकाहै।पेट्रोल,डीजलऔरसाग-सब्जीहरचीजमहंगीहोतीजारहीहै।मगर,एकजुटतानहोनेकेचलतेविपक्षहमलावरनहींहोपारहाहै।चुनावनिकटहोनेकेबादभीविपक्षइनमुद्दोंकोभुनानहींपारहाहै।

राजनीतिकदलसक्रिय

चुनावनिकटआतेहीसत्तादलपरहमेशाविपक्षहावीहोनाचाहताहै,इसकेलिएउसेमुद्दोंकीतलाशहोतीहै।इससमयविपक्षकेपासमुद्देतोतमामहैं,मगरसंगठनसशक्तनहोनेकेचलतेइसकालाभनहींउठापारहेहैं।सबसेबड़ेदलकेरुपमेंयदिदेखाजाएतोकांग्रेसप्रमुखदलकेरुपमेंहै।कांग्रेसनेसाढ़ेचारवर्षोंमेंसंगठनकोसशक्तऔरधारधारबनानेकाकामनहींकिया।आपसीगुटबाजीकेचलतेजिलेऔरमहानगरकीइकाईयांमजबूतनहींहैं।जिलेकेकांग्रेसकेकईदिग्गजनेताओंनेपार्टीछोड़दी।पूर्वसांसदचौधरीबिजेंद्रसिंहजोकभीखांटीकांग्रेसीहुआकरतेथे।कांग्रेससेविधायकऔरसांसदबनेमगरजिलेस्तरकीगुटबाजीकोवहबर्दास्तनहींकरसके,इसकेचलतेउन्होंनेसमाजवादीपार्टीकादामनथामलिया,जबकिचौधरीबिजेंद्रसिंहहमेशासत्तादलकोघेरनेकाकामकियाकरतेथे।वहकांग्रेसमेंरहतेतोभाजपापरतीखेबाणछोड़तेथे।इससेकार्यकर्ताओंमेंभीऊर्जाबनीरहतीथी।

पार्टीमेंअंदरखानेपदाधिकारियोंमेंमनमुटाव

चौधरीबिजेंद्रसिंहनेसंगठनमेंअपनीहोरहीउपेक्षाकीशिकायतप्रियंकावाड्रासेभीकीथी,मगरउनकीपीड़ापरध्याननहींदियागया।इसीप्रकारसेअश्वनीशर्मानेभीपार्टीछोड़दी।वहपार्टीमेंकईवर्षोंसेघुटनमहसूसकररहेथे।पार्टीमेंउन्होंनेभीअपनीबातरखीथी,मगरकोईसुनवाईनहींहुई।पार्टीकेअभीऔरकईनेताभीअपनेआपकोउपेक्षितमहसूसकररहेहैं,जिसकापरिणामहैकिपार्टीमजबूतनहींहोपारहीहै।जिससमयमहंगाईपरखुलकरबोलनेकीजरूरतहै,उससमयकांग्रेसीआपसीगुटबाजीमेंफंसेहुएहैं।जिलेऔरमहानगरकीकार्यकारिणीकीसमयसेबैठकतकनहींहोतीहै।यदिसपामेंदेखाजाएतोकमोवेशयहांभीस्थितिवहीहै।यहांपरभीअंदरुनीगुटबाजीचरमपरहै।धरने-प्रदर्शनमेंसपाईहंगामाखूबकरतेहैं,मगरएकजुटतायहांभीनहींदिखाईदेतीहै।तमाममौकेऐसेरहेजहांसपाकार्यकर्तासड़कोंपरउतरआए,उन्होंनेजमकरहो-हंगामाकिया,मगरपूर्वजनप्रतिनिधिमैदानमेंसामनेनहींआए।वहएकजुटहोकरविरोधप्रदर्शनकरतेहुएनहींदिखाईदिए।

पूर्वविधायकमंचपरनहींआते

बड़े-बड़ेकार्यक्रमभीहुएवहांभीपूर्वविधायकएकसाथमंचपरआतेहुएनहींदिखाईदिए।कईबारधरना-प्रदर्शनमेंभीकार्यकर्ताओंसेअलगहोकरपूर्वविधायकअपनीशक्तिकाप्रदर्शनकरतेहुएनजरआए।ऐसेमेंवहअपनीपूरीताकतनहींदिखासकें।इसीकालाभभाजपाउठारहीहै।भाजपाकोयहपताहैकिविपक्षएकजुटनहींहै।अपने-अपनेसंगठनकेतौरपरकार्यकर्ताओंमेंएकजुटतानहींहै।इसलिएवहसत्तादलकोघेरनेमेंअसमर्थरहतेहैं।