पाकिस्तान: चुनाव में सेना को मिल सकते हैं व्यापक अधिकार, 3,70,000 जवानों की होगी तैनाती

इस्लामाबाद(एएफपी)। पाकिस्तानकेआमचुनावोंमेंबुधवारकोवोटडालेजाएंगे,लेकिनमतदानकेंद्रोंकीनिगरानीकेलिएसैन्यइकाइयोंकोव्यापकअधिकारदिएजानेसेवहांआशंकाएंगहरागईहैं।विपक्षीदलोंऔरविश्लेषकोंकामाननाहैकिइसकदमसेलोगोंकाचुनावप्रक्रियामेंविश्वासकमहोसकताहै।

पाकिस्तानमेंसुचारूरूपसेमतदानकरानेकेलिएदेशभरमेंसेनाकेकरीब3,70,000जवानोंकोतैनातकियाजाएगा।पाकिस्तानकेइतिहासमेंचुनाववालेदिनयहसेनाकीसबसेबड़ीतैनातीहोगी।पाकिस्तानीचुनावआयोग(ईसीपी)नेबतायाकिसैन्यअधिकारियोंकोमजिस्ट्रेटीअधिकारभीप्रदानकिएजाएंगेताकिमतदानकेंद्रोंकेअंदरगैरकानूनीहरकतेंकरनेवालोंकोदंडितकियाजासके।

सेवानिवृत्तजनरलऔरसुरक्षाविश्लेषकतलतमसूदकाकहनाहै,'मुझेनहींपताकिउन्होंनेयेअधिकारक्योंदिएहैंक्योंकिइससेलोगोंकेदिमागमेंअनावश्यकआशंकाएंपैदाहोंगी।मुझेनहींलगताकिइससेपहलेऐसेअधिकारकभीदिएगएथे।'चुनावविश्लेषकोंनेभीइसकदमपरसवालउठाएहैं।उनकाकहनाहैकिचुनावकेदौरानबड़ीसंख्यामेंसेनाकीउपस्थितिदेखकरलोगोंकीचिंताबढ़गईहै।यूरोपीययूनियनइलेक्शनऑब्जर्बेशनमिशनकेडिप्टीचीफऑब्जर्बरदिमित्राईयोनोऊनेकहा,'हमारेबहुतसेवार्ताकारऔरमैंकहूंगाकिज्यादातरनेसेनाकीभूमिकाकोलेकरगंभीरचिंताएंव्यक्तकीहैं।'

मालूमहोकिसंसदकेऊपरीसदनसीनेटमेंविपक्षकीनेताशैरीरहमाननेपिछलेहफ्तेकहाथाकिइसकदमसेसंघर्षऔरभ्रमकीस्थितिपैदाहोसकतीहै।एकअन्यहाईप्रोफाइलसीनेटररजारब्बानीनेइसमामलेमेंईसीपीसेस्पष्टीकरणकीमांगकीथी।जबकिईसीपीनेरविवारकोकहाकिइसकदमसेस्वतंत्रएवंनिष्पक्षचुनावकरानासुनिश्चितहोसकेगा।हालांकि,पाकिस्तानीमानवाधिकारआयोगकेइब्नअब्दुररहमाननेकहा,'इनचुनावोंकोस्वतंत्रऔरनिष्पक्षकहनाकठिनहोगा।'

बतादेंकिपाकिस्तानके70सालकेइतिहासमेंकरीब-करीबआधीअवधिमेंसेनानेदेशपरशासनकियाहै।लिहाजापाकिस्तानमेंसेनाबेहदशक्तिशालीहैऔरराजनीतिवन्यायिकमामलोंमेंदखलदेनेकाउसकालंबाइतिहासहै।हालांकिवहइसआरोपसेइन्कारकरतीहै।दरअसल,चुनावप्रचारकेदौरानबढ़तेआतंकीहमलोंकेमद्देनजरइसबातकीआशंकाबढ़गईथीकिआतंकीमतदाताओंकोभीनिशानाबनासकतेहैं।इनहमलोंमेंतीनप्रत्याशीमारेजाचुकेहैं।