प्राचीन परंपरा से ही हमारी पहचान : एसपी

लोहरदगा:योगीसेनाकेतत्वावधानमेंशहरकेगुदरीबाजारहनुमानमंदिरकेसमक्षमटकीफोड़प्रतियोगिताकाआयोजनकियागया।जिसमेंकईस्थानोंकीटीमोंनेभागलिया।प्रतियोगितामेंमुख्यअतिथिकेरूपमेंएसपीप्रियदर्शीआलोकऔरविशिष्टअतिथिकेरूपमें¨बदेश्वरउरांव,पावनएक्का,सुषमा¨सह,संदीपकुमारगुप्ता,विपुलकुमारदूबेशामिलहुए।मौकेपरएसपीनेकहाकिप्राचीनपरंपरासेहीहमारीपहचानहै।हमेंअपनीसंस्कृतिकोभूलनानहींचाहिए।हमेंआनेवालीपीढि़कोबतानाहोगाकिहमकिसीमहानपरंपराऔरसंस्कृतिकाहिस्साहैं।भगवानश्रीकृष्णनेदुनियांकोकईसंदेशदिएहैं।उन्होनेमानवधर्मकेबारेमेंबतायाहै।¨बदेशवरउरांव,पावनएक्कानेभीकार्यक्रमकोसंबोधितकिया।प्रतियोगितामेंसेरेंगहातुतोड़ारकीटीमकोप्रथम,मोटियासंघबरवाटोलीकोद्वितीय,मांडरकीटीमकोतृतीयस्थानप्राप्तहुआ।जिसमेंआयोजनसमितियोगीसेनाद्वारापुरस्कारस्वरूपक्रमश:11हजार,51सौ,41सौरुपएकापुरस्कारदियागया।इसमौकेपरडिवाईनस्पार्ककेबच्चोंद्वाराकार्यक्रमप्रस्तुतकियागया।जिन्हेंयोगीसेनाद्वारासम्मानितकियागया।कार्यक्रममेंप्रवीणकुमार,विपुलतमेड़ा,छोटूमहतो,सौरभसमीर,रूपेशकुमारसाहू,श्रेयणसिद्धार्थ,तुषारकुमार,निश्चयवर्मा,बाल्मिकीकुमार,बबलूकुमार,भोलासाहू,कुलदीपकुमार,नवीनठाकुरआदिमौजूदथे।