प्राथमिक शिक्षक संघ सुपौल : सर्वसम्मति से हुआ का चुनाव, उपेंद्र बने अध्यक्ष, जानिए अब किनको कौन सा मिला पद

संवादसूत्र,सरायगढ़(सुपौल)।सरायगढ़भपटियाहीप्राथमिकशिक्षकसंघसेजुड़ेशिक्षकोंकीबैठकरविवारकोमध्यविद्यालयभपटियाहीकेप्रांगणमेंकीगई।सेवानिवृत्तप्रधानाध्यापकसुखदेवप्रसादयादवकीअध्यक्षतामेंआयोजितबैठकमेंपर्यवेक्षकप्रभासकुमारतथाचुनावप्रभारीराजेशमहतोऔरपवनकुमारथे।बैठकमेंउपस्थितशिक्षकोंकेबीचलंबेसमयसेसंघकापुनर्गठननहींहोनेकेकारणपरविस्तारसेचर्चाकीगई।बैठकमेंबोलतेहुएडा.उपेंद्रकुमारनेकहाकिकोरोनासंक्रमणकालरहनेकेकारणसमयसेसंघकेपदाधिकारियोंकानएसिरेसेचयननहींहोसका।

संघकेचयनितपदाधिकारीतीनवर्षकेलिएहोतेहैंलेकिनइसबारज्यादाविलंबहुआहै।बैठकमेंबोलतेहुएपर्यवेक्षकप्रभासकुमारनेकहाकिप्राथमिकशिक्षकसंघकेसभीपदाधिकारियोंकासर्वसम्मतिसेचयनहोनाहै।उन्होंनेसंघकेविभिन्नपदाधिकारियोंकेबारेमेंविस्तारसेजानकारीदी।बैठकमेंसर्वसम्मतिसेडा.उपेंद्रकुमारकोअध्यक्ष,ब्रह्मानंदमंडलऔरबबीताकुमारीकोवरीयउपाध्यक्ष,उपेंद्रविश्वास,बसंतकुमारस‍िंहऔरबेबीकुमारीकोउपाध्यक्ष,मो.शफीउररहमानकोप्रखंडसचिव,प्रमोदकुमारऔरमोहम्मदकैसरजकीकोउपसचिव,रमेशकुमार,धीरेंद्रकुमारतथासुभाषकुमारकोसचिव,रामयुक्तयादवकोकोषाध्यक्ष,मीनागुप्ताकोकार्यालयसचिव,उमाकांतगामीकोअंकेक्षक,सुखदेवप्रसादयादव,विनायकप्रसादयादवकोराज्यप्रतिनिधि,मोहनपाठक,सूर्यनारायणयादव,कपिलकुमारमेहताऔरकृष्णभूषणमंडलकोजिलाप्रतिनिधितथाप्रदीपकुमारपरियार,संजयकुमारपाठक,कमलराम,अखिलेशकुमार,चंदनकुमार,जयप्रकाशज्योति,भारतीऔरवीरेंद्रकुमारमंडलकोअनुमंडलप्रतिनिधिबनायागया।

बैठककेअध्यक्षसुखदेवप्रसादयादवनेप्रखंडशिक्षकसंघकेसभीपदाधिकारियोंकाउपस्थितशिक्षकोंकेबीचसर्वसम्मतिसेचयनपरहर्षव्यक्तकिया।उन्होंनेकहाकिसांगठनिककार्यकेनिर्माणकेलिएजिनजिनशिक्षकोंकेऊपरजोभीजिम्मेदारीदीगईहैवहसभीउसकासहीसहीनिर्वहनकरेंताकिआनेवालेसमयमेंपदाधिकारियोंकेचयनमेंशिक्षकोंकोसर्वसम्मतबनानेमेंकोईकठिनाईनहींहो।

उन्होंनेकहाकिवर्ष20-21केअंतिमसमयऔरवर्ष2022केआगमनकेबीचशिक्षकसंघकेपदाधिकारियोंकाचयनबड़ीबातहै।बैठकमेंबोलतेहुएनवनिर्वाचितप्रखंडअध्यक्षडा.उपेंद्रकुमारनेउपस्थितसभीशिक्षकों,पर्यवेक्षकऔरचुनावप्रभारीकोनववर्षकीअग्रिमबधाईदी।कहाकिप्रखंडकेशिक्षकोंनेजिसविश्वासकेसाथएकबारफिरउन्हेंअध्यक्षकीजिम्मेदारीदीहैवहउसकानिर्वहनकरदिखाएंगे।बैठकमेंकाफीसंख्यामेंशिक्षकमौजूदथे।बैठककेअंतमेंसंघकेसभीपदाधिकारियोंकाशिक्षकोंनेमालापहनाकरस्वागतकिया।