प्रियंका वाड्रा ने यूपी के हर गांव तक संगठन को पहुंचाने का खींचा खाका, प्रवासी परखेंगे जमीनी हकीकत

लखनऊ[जितेंद्रशर्मा]।सत्ताचाहिएतोभारतीयजनतापार्टीसेसंघर्षलाजिमीहै,लेकिनउत्तरप्रदेशकेचुनावीरणमेंचुनौतियांइससेकहींज्यादाहैं।वर्ष2022केनिकटआतेहीप्रतिद्वंद्वीसमाजवादीपार्टीकेमुखियाअखिलेशयादवकीबढ़ीसक्रियताऔरआमआदमीपार्टीकीआहटनेकांग्रेसकोपहलेसेज्यादासतर्ककरदियाहै।संगठनकामजबूतमोर्चासजानेकीकमानखुदराष्ट्रीयमहासचिववउत्तरप्रदेशप्रभारीप्रियंकावाड्रासंभालेहैं,जिन्होंनेहरएकगांवतकसंगठनकोपहुंचानेकाखाकातैयारकियाहै।अबरणनीतिमेंजिलोंमेंप्रवासकार्यक्रमकोभीशामिलकियागयाहैताकिपार्टीपदाधिकारीजमीनीहकीकतकोपरखसकें।

प्रियंकावाड्राकेरूपमेंनएनेतृत्वकेसाथउत्तरप्रदेशमेंसत्ताहासिलकरनेकापुरानासपनालेकरकांग्रेसउतरीहै।प्रदेशअध्यक्षकाजिम्माभीएकजमीनीकार्यकर्ताअजयकुमारलल्लूकोसौंपा।निस्संदेहचेहरोंकेसाथकांग्रेसनेअपनीचालभीबदलीहै।सड़कोंपरमजबूतीसेसंघर्षकिया,लेकिनविधानसभाउपचुनावऔरफिरविधानपरिषदचुनावकेपरिणामोंनेचुगलीकरदीकिसंगठनअभीभीपार्टीकेरणनीतिकारोंकेमुताबिकतैयारनहींहोसका।

इधर,किसानआंदोलनकेलिएपहलापैरकांग्रेसनेबढ़ाया,लेकिनअपनेतेवरोंसेश्रेयलेतीसपानजरआई।इसीबीचआमआदमीपार्टीनेभीविधानसभाचुनावलड़नेकीघोषणाकरदीहै।यहदेखकांग्रेसनेदोअक्टूबरसेशुरूहुएसंगठनसृजनअभियानकेदूसरेचरणमेंनईरणनीतिकोशामिलकियाहै।

प्रदेशप्रवक्ताअशोकसिंहनेबतायाकिप्रदेशअध्यक्षअजयकुमारलल्लूलगभग20दिनोंसेलगातारप्रदेशकेदौरेपरहैं,जिसमेंवे16जिलोंकीन्यायपंचायतस्तरकीबैठकोंमेंरहे।ब्लॉककमेटीऔरन्यायपंचायतकमेटियोंकेगठनमेंशामिलरहेहैं।प्रदेशमें2300न्यायपंचायतोंकागठनहोचुकाहै।जल्दही8000हजारन्यायपंचायतोंमेंकांग्रेसअपनी21सदस्योंकीसमितियोंकागठनपूराकरलेगी।

15दिवसीयप्रवासकीयोजना:प्रदेशप्रवक्ताअशोकसिंहने बतायाकिसंगठनमेंतेजीलानेकेलिएकांग्रेसआगामीदिनोंमेंहरजिलेमें15दिवसीयप्रवासकीयोजनाबनारहीहै,जिसमेंपार्टीकेपदाधिकारीनिश्चितजिलेमेंरहकरसंगठननिर्माणकीप्रकियाकोअंतिमरूपदेंगे।पार्टीकालक्ष्यहैकिप्रदेशकी60हजारग्रामसभाओंमेंग्रामकांग्रेसकमेटियोंकागठनजल्दपूराकियाजाए।

हरपदाधिकारीकीहोगीजिम्मेदारी:प्रदेशकांग्रेसकमेटीमेंपदाधिकारियोंकीजिम्मेदारीऔरजवाबदेहीकरदीगईहै।हरपदाधिकारीकोनिश्चितप्रभारदियागयाहै।इसीतर्जपरजिलाकमेटियांबनीहैंऔरहरपदाधिकारीकीजवाबदेहीतयकीगई।हरजिलेमेंपांचउपाध्यक्ष,एककोषाध्यक्ष,एकप्रवक्ताऔरहरविधानसभाकेस्तरपरमहासचिव,जबकिजिलासचिवोंकोब्लॉकबांटेगएहैं।

यहभीपढ़ें: उत्तरप्रदेशमेंगायोंकीमौतपरप्रियंकागांधीनेसीएमयोगीआदित्यनाथकोघेरा,लिखापत्र