परमबीर सिंह की कम नहीं हुई मुश्किलें, थाने में घंटों तक चली पूछताछ, पुलिस सेवा नियमों के तहत हो सकती है कार्रवाई

मुंबई,एजेंसियां:मुंबईपूर्वपुलिसकमिश्नरपरमबीरसिंहकीमुश्किलेंकमहोतीनहींदिखरहीहैं।सुप्रीमकोर्टद्वाराउन्हेंगिरफ्तारीसेअंतरिमराहतदिएजानेकेबादमहाराष्ट्रकेगृहमंत्रीदिलीपवलसेपाटीलनेतीखेतेवरदिखाएहैं।शुक्रवारकोअपनेएकबयानमेंपाटिलनेकहाहैकि,परमबीरसिंहकेखिलाफपुलिससेवानियमोंकेतहतकार्रवाईकीजाएगी।

मुख्यमंत्रीसेबातकरहोगाफैसला

पाटीलनेकहाहैकि,‘परमबीरसिंहकेखिलाफपुलिससेवानियमोंकेतहतकार्रवाईकाफैसलामुख्यमंत्रीसेविचारकरनेकेबादलियाजाएगा।’इसबीचखबरहैकि,ठाणेपुलिसआयुक्तनेपरमबीरसिंहकेखिलाफदर्जरंगदारीमामलेकीजांचकेलिएएकविशेषजांचदल(एसआईटी)कागठनकियाहै।एसआईटीमेंजांचकीजिम्मेदारीडीसीपीस्तरकेअधिकारीकोसौंपीगईहै।वहीं,परमबीरसिंहनेसोनूजालानद्वाराठाणेपुलिसस्टेशनमेंदर्जशिकायतकेसंबंधमेंअपनाबयानदाखिलकरायाहै।इसबीचसिंहनेएस्प्लेनेडमजिस्ट्रेटकोर्टमेंअपनेखिलाफअदालतकेउसआदेशकोरद्दकरनेकेलिएएकआवेदनभीदायरकियाहै,जिसमेंउन्हें"फरार"घोषितकियागयाथा।कोर्टमेंइसमामलेकीसुनवाई29नवंबरकोहोगी।

जुर्मानाभरनेकेआदेश

गौरतलबहैकि,मुंबईकोर्टसेफरारघोषितपरमबीरसिंहजांचमेंशामिलहोनेकेलिएकांदिवलीकीअपराधशाखाइकाई11कार्यालयपहुंचेथे।तत्कालीनगृहमंत्रीऔरवरिष्ठराकांपानेताअनिलदेशमुखकेखिलाफभ्रष्टाचारकाआरोपलगातेहुएउन्होंनेमहाराष्ट्रकेमुख्यमंत्रीउद्धवठाकरेकोपत्रलिखाथा।जिसकेबादउनकेखिलाफभ्रष्टाचारऔरजबरनवसूलीकेछहमामलेदर्जकिएगएथे।ठाणेकोर्टमेंपेशहोनेकेबाद,अदालतनेसिंहकेखिलाफजारीगैर-जमानतीवारंटकोरद्दकरदियाहै।साथहीकोर्टनेसिंहकोठाणेपुलिसकेसाथजांचमेंसहयोगकरनेकानिर्देशदिएहैंऔरउन्हें15,000रुपयेकामुचलकाभरनेकेलिएकहागयाहै।

1988बैचकेआईपीएसअधिकारीहैंसिंह

आपकोबतादें,सोमवारकोअपनेएकबयानमेंपरमबीरसिंहनेसुप्रीमकोर्टकोबतायाथाकि,वोदेशमेंहीहैंऔरफरारनहींहैं।जिसकेबादसुप्रीमकोर्टनेसिंहकोगिरफ्तारीकोअंतरिमराहतदेतेहुएजांचमेंशामिलहोनेकेआदेशदिएथे।परमबीरसिंह1988बैचकेआईपीएसअधिकारीहैं।उन्हें17मार्चकोमुंबईपुलिसआयुक्तकेपदसेहटाकर,महाराष्ट्रराज्यहोमगार्डकाजनरलकमांडरबनायागयाथा।