पुलिस प्रताड़ना से आहत दुष्कर्म पीड़ित व उसके माता-पिता ने खाया जहर, हालत नाजुक

वाराणसी.उत्तरप्रदेशकेवाराणसीमेंसोमवारसुबहदुष्कर्मपीड़ितवउसकेमाता-पितानेसामूहिकतौरपरविषाक्तखालिया।सर्किटहाउसकेबाहरतीनोंकोअचेतावस्थामेंदेखकरस्थानीयलोगोंनेपं.दीनदयालउपाध्यायचिकित्सालयपहुंचायाहै।जहांइलाजजारीहै।लेकिनहालतनाजुकहै।मौकेसेएकलेटरमिलाहै।जिसपरपुलिसप्रतापड़नावबेटेकीसंदिग्धपरिस्थतियोंमेंमौतकाउल्लेखकियागयाहै।लेकिनइसमामलेमेंपरमवीरचक्रविजेताकेपरिवारकेबच्चेकानामजुड़नेसेमामलाहाईप्रोफाइलहोगयाहै।

नोटमेंलिखेयेआरोप

दुष्कर्मपीड़ितकेपिताकाआरोपहैकि,सीओकैंटऔरइंस्पेक्टरसांठगांठकरबेटेवबेटीकेसाथहुईघटनाकीविवेचनामेंधाराएंकमकरआरोपियोंकोबचानाचाहरहेहैं।पुलिसनेविरोधियोंसेरिश्वतलीहै।हमारीआर्थिकस्थितठीकनहींहै,हमअबदौड़नहींसकतेहैं।इसलिएमैंबेटीवपत्नीकेसाथएसएसपीकार्यालयकेसामनेआत्महत्याकररहाहूं।दौड़तेदौड़तेदोमाहतीनदिनहोगए,कभीआईजीकेयहांतोकभीएसएसपीकेयहां।कभीएडीजीकेपासतोकभीमंत्रीकेपास,अबथकचुकाहूं।कैंटइंस्पेक्टरअश्वनीचतुर्वेदीवचौकीइंचार्जकाशीनाथउपाध्यायबेटीकोअनाथालयनलेजाकरकचेहरीपुलिसचौकीलेजाकरधमकातेहैं।

अक्टूबरमेंहुईथीबेटेकीमौत,आरोपियोंनेबेटीकोमुंबईमेंलेजाकरबेचा

परिवारकेकरीबीविपुलपाठकनेबतायाकि,अक्टूबरमेंबड़ेबेटेकीसंदिग्धमौतगंगामेंडूबनेसेहुईथी।वह11वींमेंयूपीकालेजमेंपढ़ताथा।वहीं,छोटीबेटीको4लोगबहलाफुसलाकरमुम्बईफिल्मोंमेंकामदिलानेकेबहानेधोखेसेलेगए।वहांहोटलमेंरखकरगलतकामकियाऔरबेचभीदिया।नवंबरमेंकिसीतरहबच्चीभागकरप्रयागराजपहुंची।वहांसेजीआरपीघरतकलेकरआयी।कैंटथानेमेंमामलादर्जहुआपरइंस्पेक्टरनेउल्टादबावबनानाशुरूकरदिया।परिवारनेचिठ्ठीमेंइंस्पेक्टर,सीओऔरचौकीइंचार्जपरआरोपलगायाहैकिविवेचनागलतकीजारहीहै।

मामलाप्री-प्लान,तीसरीबारपुलिसनेलड़कीकोकियाथारिकवर

एसएसपीप्रभाकरचौधरीनेकहा-तीनोलोगोंकाइलाजजारीहै।एकनाबालिगलड़कीकामामलाहै,जोघरसेकईबारजाचुकीहै।पुलिसनेदूसरीबाररिकवरकियातोमामलाप्रेमप्रसंगकानिकला।दोबारफाइनलरिपोर्टतकलगचुकीहै।तीसरीबारलड़कीमुंबईमेंमिलीतो363और364कामुकदमाभीलिखागया।164केबयानमेंह्यूमनट्रैफिकिंगकामामलाआया।जिसमेमुख्यआरोपीजलीमजोटीटीईहै,वोऔरउसकासाथीजेलजाचुकाहै।तीसराअभियुक्तफरारहै।एसएसपीमुताबिकयहमामलाप्रीप्लानलगताहै।