राजस्थान: बीजेपी में नेता प्रतिपक्ष चुनने की जल्दबाजी नहीं, वसुंधरा राजे पर होंगी सबकी निगाहें

जयपुर:राजस्थानमेंसत्तासेविपक्षमेंआईभारतीयजनतापार्टीविधायकदलकानेताचुननेकोलेकरजल्दबाजीमेंनहींहै.गहलोतसरकारकेमंत्रिमंडलकेगठनकाकामपूराहोनेकेबादपार्टीसप्ताहभरमेंयहऔपचारिकतापूरीकरसकतीहै.प्रदेशबीजेपीमेंसबसेज्यादादिलचस्पीनिर्वतमानमुख्यमंत्रीवसुंधराराजेकीभूमिकाकोलेकरहै.वसुंधराबुधवारकोदिल्लीमेंथीं.

बीजेपीकेप्रदेशअध्यक्षमदनलालसैनीनेविधायकदलनेताकेचुनावकेबारेपूछेजानेपरकहा,''जल्दहीफैसलाकरेंगे.वसुंधराजीसेबातकरेंगे.''पार्टीकेएकप्रवक्तानेमंगलवारकोकहाकिएकदोदिनमेंतोकुछतयनहींहैलेकिनजल्दहीबैठकबुलाएजानेकीपूरीसंभावनाहै.उन्होंनेकहाकिअभीतोकांग्रेससरकारकेमंत्रियोंकामामलाहीजयपुर-दिल्लीकेबीचफंसाथा.सत्तापक्षकोजल्दबाजीहोतीहै,अबहमभीतयकरलेंगेऔरविधायकोंकीबैठकहोगी.राज्यमेंनईविधानसभाकेलिएहुएचुनावोंकेपरिणाम11दिसंबरकोआएथे.

प्रदेशमेंलेकिननेताप्रतिपक्षकौनहोगा?इसपरपार्टीकेनेताकुछबोलनेकोतैयारनहींहैं.एकपदाधिकारीनेकहा,''यहफैसलातोविधायककरेंगे.उनकीबैठकमेंहीतयहोगा.''

प्रदेशबीजेपीकेनेताओंकामाननाथाकिपार्टीकाकेंद्रीयनेतृत्वराज्यमेंवसुंधराकाविकल्पयाउत्तराधिकारीबीतेपांचसालमेंतैयारनहींकरपायाहै.एकवरिष्ठपदाधिकारीनेनामनदिएजानेकीशर्तपरकहा,''कभी(गजेंद्रसिंह)शेखावतकानामउछालागयातोकभी(अर्जुनराम)मेघवालकोआगेकियागया.फिरराज्यवर्धनराठौड़कोसंभावितविकल्पकेतौरपरपेशकरनेकीकोशिशहुई,लेकिनपार्टीपरराजेकीपकड़कमजोरनहींपड़ीहै.''

हालियाविधानसभाचुनावमेंबीजेपीकाप्रदर्शनबहुतअच्छानहींरहा.कुछमहीनेपहलेतकराज्यमें180सीटकालक्ष्यलेकरचलरहीपार्टीअंतमें73सीटोंपरहीजीतपाईऔरसत्तासेबेदखलहोगयी.भलेहीकांग्रेसकीतुलनामेंउसेमिलेमतोंकाअंतरज्यादानहींहोलेकिनसीटोंकाअंतर26कारहाऔरकांग्रेसनेसरकारबनाली.

इसकेपहले2008मेंहुएचुनावोंकेबादजबवसुंधराराजेकीअगुवाईवालीसरकारसत्तासेबेदखलहुईतोवहनेताप्रतिपक्षबनीं.तबउनकेविरोधियोंकाआरोपथाकिप्रदेशअध्यक्षकेतौरपरपूरेकार्यकालकेदौरानवहलगभगविदेशमेंरहीं.यहअलगबातहैकिपांचसालबाद2013मेंबीजेपीनेरिकार्ड163सीटोंकेसाथसत्तामेंवापसीकी.लेकिन,पार्टीकेनेतामानतेहैंकिइसबारहालातअलगहैं.कुछमहीनेबादहीलोकसभाकेचुनावहोनेहैं.सत्तामेंलौटीकांग्रेसकीराज्यकीमहत्वपूर्ण25सीटोंपरनिगाहहै.2014केलोकसभाचुनावमेंराज्यकीसारीसीटेंबीजेपीकेखातेमेंगईथी.

राजस्थानकेइनहोटलोंमेंमनानाचाहतेहैंनएसालकाजश्नतोखर्चकरनेहोंगेलाखोंरुपये

मुख्यमंत्रीकेतौरपरवसुंधराराजेकीपार्टीकेमौजूदाकेंद्रीयनेतृत्वसेखींचतानसार्वजनिकरहीहै.चाहेवहपार्टीकेनयेप्रदेशाध्यक्षकामसलाहोयाटिकटोंकेबंटवारेका,वसुंधराकहींनकहींकेंद्रीयनेतृत्वपरहावीरहीं.जानकारोंकामाननाहैकिवसुंधराराजस्थानमेंनेताप्रतिपक्षकीभूमिकामेंरहेंगी.