राष्ट्रवाद के प्रबल समर्थक थे श्यामा प्रसाद मुखर्जी

शिवहर।मंगलवारकोजिलाबीजेपीकेनेतृत्वमेंबूथस्तरसेजिलाकार्यालयतकश्यामाप्रसादमुखर्जीकीपुण्यतिथिबलिदानदिवसकेरूपमेंमनाईगई।सरसौलाखुर्दपंचायतकेविशुनपुरकिशुनदेवस्थितबूथपरविशेषकार्यक्रमकाआयोजननगरग्रामीणमंडलअध्यक्षमनोजकुमारकीअध्यक्षतामेंहुआ।इसदौरानएकलविद्यालयझारखंडएवंबिहारकेप्रभारीराकेशतिवारीनेकहाकिश्यामाप्रसादमुखर्जीराष्ट्रवादकेपुरोधाथे।नेहरूमंत्रिमंडलसेइस्तीफादेकरजनसंघकीस्थापनाकी।उससमयनारालगताथावोकश्मीरहमाराहै।साराकासाराहै।मौजूदामोदीसरकारउससपनेको370(35ए)हटानेऔरसमस्तभारतीयकानूनलागूकरनेकेसाथपूराकियाहै।इसकेसाथहीएकसशक्तसरकारकेरूपमेंविश्वमेंअपनीछापछोड़ीहै।जनभावनाओंकोसमझतेहुएसैकड़ोंऐसीयोजनाएंचलाईंजारहींजिससेगरीबोंकाकल्याणहो।समरससमाजबनानेएवंरोजगारकेअवसरबढ़ानेकोकईमोर्चोंपरकामकियाजारहा।

पूर्वविधायकभाजपानेताठाकुररत्नाकरराणानेकहाकिश्यामाप्रसादमुखर्जीनेदोनिशानदोविधानकापुरजोरविरोधकियाथा।इसकेकारणतत्कालीनकांग्रेससरकारनेउनपरबहुतसारेजुर्मकिएजोबादमेंउनकीमौतकाकारणबनी।लेकिनवेअपनेधुनकेपक्केथेवहींराष्ट्रप्रेमकीभावनाउनमेंकूट-कूटकरभरीथी।यहीवजहथीकिउन्हेंदेशकेबड़ेनेताओंमेंगिनाजाताथा।सरदारपटेलएवंमहात्मागांधीकेकहनेपरतत्कालीनप्रधानमंत्रीजवाहरलालनेहरूनेइन्हेंमंत्रिमंडलमेंशामिलजरुरकियाथालेकिनमुखर्जीजीकेप्रतिउनकानजरियाठीकनहींथा।

इसकेअलावाबीजेपीमहामंत्रीअनिलकुमारसिंह,उपाध्यक्षरामकृपालशर्मा,विनयकुमारसिंहसहितअन्यनेअपनेविचाररखे।

मौकेपरजिलामहामंत्रीराधाकांतगुप्ता,उपाध्यक्षनंदकिशोरचौधरी,सांसदपुराजेशकुमारराजू,भाजपानेतायोगेंद्रप्रसादगुप्ता,धर्मेंद्रपांडेय,अनिलकुमार,राजेशकुमारराजू,शैलेंद्रकुमारत्रिवेदी,जगदीशसिंह,सुमनचंद्र,नंदकिशोरसिंहएवंमहंतमनोजगिरिसहितअन्यमौजूदथे।