रेलवे कॉलोनी की कहानी, 20 मिनट ही मिल रहा पानी

मुंगेर।गर्मीकेदस्तकदेतेहीरेलवेकॉलोनीनिवासियोंकेसामनेपेयजलकीसमस्याउत्पन्नहोगईहै।जमालपुरकीचाररेलवेकॉलोनियोंरामपुरकॉलोनी,टेंपरेरीहॉटकॉलोनी,दौलतपुरकॉलोनीमेंअभीसेहीपानीकेलिएत्राहिमाममचाहुआहै।इनकॉलोनियोंमें24घंटेकेदौरानमहज20मिनटहीपानीकीआपूर्तिहोरहीहै।रेलवेकेआइओडब्ल्यूभीबिजलीऔरपाइपलाइनकालिकेजकाबहानाबनाकरअपनापल्लाझाड़लेरहेहैं।ऐसेमें700क्वॉटरोंमेंरहरहेकरीब3000रेलपरिवारोंकोपानीकाइंतजामकरनेमेंपरेशानियोंकासामनाकरनापड़ताहै।इससेलोगोंकोपीनेकेलिएबोतलबंदपानीपरआश्रितहोनापड़रहाहै।इतनीभयावहविकटहैकिकिसीकोइससमस्याकास्थाईसमाधानदिखाईनहींदेरहाहै।इसवजहसेरेलकर्मियोंकेपरिजनमेंअधिकारियोंकेप्रतिआक्रोशपनपरहाहै।

लोंडशेडिगकेनामपरकाटीजारहीबिजली

रेलवेक्वार्टरोंमेंरहरहेरेलकर्मीपानीकेसाथ-साथबिजलीकीकिल्लतसेभीपरेशानहै।गर्मीआतेहीरेलकॉलोनियोंमेंबिजलीकटनेकासिलसिलाशुरूहोगयाहै।लोडशेडिगकेनामपरप्रतिदिन6से7घंटेतककॉलोनियोंकीबिजलीकाटीजारहीहै।दिनमेंरेलकर्मीआरामनहींकरपातेहैं।इसलिएरातमेंबिजलीगुलहोजानेसेवेपूरीरातजागनेकोमजबूरहैं।बार-बारकहनेकेबादभीविभागकारगारकदमनहींउठारहाहै।

कॉलोनीमेंनियमितहोबिजली-पानीकीअपूर्तिरेलवेकॉलोनीनिवासीसुजीतकुमार,बीनादेवी,मीनाकुमारी,कैलाशमंडल,संजयकुमार,सुमनकुमार,जैकीकुमार,रिकूसिंह,सतीशकुमार,गोलूकुमार,सुबोधकुमार,संजयकुमारसिंहकाकहनाहैकिनियमितरूपसेबिजलीतथापानीकीआपूर्तिहोनीचाहिए।लेकिनहालकेदिनोंमेंसुबहशामपानीकीआपूर्तिकियाजाताथा।लेकिनपिछलेकुछदिनोंसे24घंटेमेंएकटाईमहीपानीकीआपूर्तिमहज15-20मिनटउपलब्धहोपाताहै।