रक्तदान कर थैलीसीमिया मरीज की बचाई जान

सहरसा।रक्तदानजागरूकतासेवासमितिसहरसासदस्योंद्वाराथैलीसीमियामरीजोंकीजानबचानेकाप्रयासजारीहै।बुधवारकोथैलीसीमियासेग्रसितदसवर्षीयमु.ताहाकोरक्तकीजरूरतकीजानकारीपरसमितिकेसंस्थापकगणेशभगतनेअपनीटीमकेसदस्योंसेसंपर्ककिया।समितिकेसंरक्षकसेवानिवृत्तसैनिकदिनेशकुमारनेअपनीधर्मपत्नीपिकीदेवीसेरक्तदानकरवाकरथैलीसीमियामरीजकीजानबचाई।पिकीदेवीनेकहाकिउन्होंनेजानबचानेमेंएकमांहोनेकाफर्जनिभाया।

रक्तदानजागरूकतासेवासमितिकेसदस्योंनेकहाकिकोसीक्षेत्रमेंदिनोंदिनथैलीसिमीयामरीजोंकीसंख्याबढ़तीजारहीहै।इनमरीजकेस्वजनोंकोरक्तकेलिएजगह-जगहभटकनापड़ताहै।इनमरीजोंकोरक्तसंचारकरहीबचायाजासकताहै।अबतकइसकाकोईदूसराविकल्पसामनेनहींआयाहै।ऐसेमेंलोगोंकोस्वैच्छिकरक्तदानकेप्रतिजागरूकहोनाचाहिए।मौकेपरसमितिसदस्यइंदुसिंह,कविताकुमारी,कृष्णाकुमार,दिनेशकुमार,प्रदीपकुमारप्रेम,गणेशकुमारभगत,मो.तनवीरआलमनेसंयुक्तरूपसेअंगवस्त्रऔरप्रतीकचिह्नसेसम्मानितकररक्तवीरंगनापिकीदेवीकोप्रोत्साहितकिया।रक्तदानजागरूकतासेवासमितिनेथैलीसिमीयामरीजकीसंख्याकमकरनेकेलिएआमजनोंसेशादीसेपहलेजांचकरवानेकीअपीलकी।