शुगर से बचाव के दिए टिप्स

संवादसहयोगी,रूपनगर:सिविलअस्पतालपरिसरमेंविश्वशुरदिवसकोलेकरजिलास्तरीयसेमिनारआयोजितकियागया,जिसकीअध्यक्षतासिविलसर्जनडा.दविदरकुमारनेकी।उन्होंनेबतायाकिवर्ष2006केदौरानसंयुक्तराष्ट्रमेंपासकिएगएएकप्रस्तावकेतहतहरसाल14नवंबरकोसरफ्रेड्रिकबंटिगकेजन्मदिनपरपूरेविश्वमेंशुगरदिवसमनायाजाताहै।उन्होंने1992केदौरानचा‌र्ल्सबेस्टकेसाथमिलकरइंसुलिनकीसंयुक्तरूपसेखोजकीथी।इसमौकेनर्सिंगस्कूलकीछात्राओंकोसंबोधितकरतेसिविलसर्जननेकहाकिशुगरबारेआमलोगोंकोजागरूककरनेमेंनर्सिंगस्टाफअहमभूमिकानिभासकताहै।उन्होंनेकहाकिअस्पतालोंमेंआनेवालेआममरीजोंकोशूगरसेबचावकोलेकरकिएजानेवालेपरहेज,शुगरकेलक्षणोंवइसबीमारीसेबचावबारेहरनर्सकोअपनादायित्वसमझतेहुएजागरूककरनाहोगा।मेडिकलविशेषज्ञडा.राजीवअग्रवालनेकहाकिशुगरकीबीमारीआजकेवक्तमेंपूरेविश्वकेअंदरबड़ीचिताकाविषयबनचुकीहै।एकअनुमानकेअनुसारभारतमेंलगभग72.96मिलियनशुगरकेकेसहैं।उन्होंनेकहाकिबढ़तीआयुकेसाथशुगरकीजांचलगातारकरवातेरहनाचाहिए।व्यायामनकरना,संतुलितभोजनलेनेकेबजायफास्टफूडवजंकफूडलेना,मोटापेकाहोनावकिसीबातकोलेकरतनावकाहोनाइसबीमारीकेमुख्यकारणहैं।इससेबचनेकोफल,हरीसब्जियोंकासेवनकरनेकेसाथसाथव्यायामकरें।इसदौरानजिलाटीकाकरणअफसरडा.मोहनक्लेरसहितजिलापरिवारभलाईअफसरडा.रेणूभाटिया,जिलाशिक्षाएवंसूचनाअफसरसंतोषकुमारी,डिप्टीसूचनाअफसरराजरानीवगुरदीपसिंह,सुखजीतकंबोजभीमौजूदथे।