सिंह ने कहा, अदालत ने अर्जी खारिज कर दी और महिला का परिवार अंतत: उच्च न्यायालय गया।

उन्होंनेकहा,इसबीच:रोहतकमें:रोहतककीघटनाकीजानकारीआयीऔरहमउसकीजांचकररहेहंै।पुलिसकेअनुसारपीडि़तागत13जुलाईकोरोहतकमेंसुखपुराचौकपरनशेकीहालतमेंपड़ीहुईमिलीथी।14जुलाईकोमहिलापुलिसथानेमेंमहिलाकेबयानकेआधारपरअमित,जगमोहन,संदीप,मौसमऔरआकाशकेखिलाफअपहरणऔरसामूहिकबलात्कारकेलिएभारतीयदंडसंहिताऔरअनुसूचितजाति:अनुसूचितजनजाति:अत्याचाररोकथाम:कानूनकीविभिन्नधाराओंकेतहतएकमामलादर्जकियागया।जांचमेंयहखुलासाहुआकिमहिलाकेरिश्तेदारोंनेअक्तूबर2013मेंअपहरणकेलिएएकप्राथमिकीदर्जकरायीथी।उसमामलेमेंपुलिसनेअमितऔरजगमोहनकेखिलाफचालानपेशकियाथाजिन्हेंबादमेंअदालतसेजमानतमिलगई।एकविग्यप्तिमेंकहागया,इसबीचमहिलाकीओरसेअमितऔरजगमोहनसहितपांचव्यक्तियोंकेखिलाफवर्तमानमामलादर्जकरायागयाहैजिसकीजांचएकविशेषटीमकररहीहैं।तीनआरोपियोंअमित,जगमोहनऔरसंदीपकोगिरफ्तारकरलियागयाहै।पुलिसनेमहिलासेदंडप्रक्रियासंहिताकीधारा164केतहतबयानदर्जकरानेकेलिएसम्पर्ककियाहै।