संपूर्ण व्यक्तित्व की पहचान है हिदी भाषा

जागरणसंवाददाता,बलिया:हिदीभाषासंपूर्णव्यक्तित्वकीपहचानहै।व्यक्तिकोसमझपूर्वकजीनेमेंहिन्दीभाषाकाविकासनिहितहै।इससेजीवनकेधरातलपरविकासकीसरितास्वत:प्रवाहितहोनेलगेगी।उक्तबातेंजिलाएवंसत्रन्यायाधीशगजेंद्रकुमारनेदीवानीन्यायालयकेसेंट्रलहालमेंआयोजितहिदीसप्ताहकार्यक्रमकेसमापनपरकहीं।

इसकेपूर्वजिलाजजनेमांसरस्वतीकेचित्रपरमाल्यार्पणवदीपप्रज्ज्वलितकरकार्यक्रमकाशुभारंभकिया।इसदौरानजिलाजजनेअपरन्यायाधीशपरिवारन्यायालयदयाराम,अपरन्यायाधीशकोर्टसंख्या-7प्रणविजयसिंह,सिविलजज(जूडि)पूर्वीअजीतकुमार,अरुणकुमारगुप्त,अधिवक्ताप्रदीपकुमार,विपुलसिंहआदिकोप्रशस्तिपत्रवअंगवस्त्रमसेसम्मानितकिया।प्रधानन्यायाधीशपरिवारन्यायालयएसपीत्रिपाठीनेहिदीकेविकासपरचर्चाकी।इसमौकेपरएडीजेद्वितीयदिनेशकुमारमिश्र,हिदीअधिकारीसिविलजजपूनमकर्णवाल,सीजेएमरमेशकुमार,विजयभानु,रिचावर्मा,अविनाशमिश्र,अनुजठाकुरआदिमौजूदथे।संचालनअशोककुमारओझानेकिया।