सुशिक्षित युवा ही बना सकते भारत को परम वैभव राष्ट्र

समस्तीपुर।सुशिक्षितयुवाहीहिन्दुस्तानकोपरमवैभवसंपन्नराष्ट्रबनासकतेहैं।इसमेंशिक्षाकायोगदानसर्वोपरिहै।विद्याभारतीनसिर्फनईपीढ़ीकोसुशिक्षितकररहाहैबल्किउनमेंभारतकीपौराणिकसंस्कृतिऔरसंस्कारोंकोभीभररहाहै।उक्तबातेंराष्ट्रीयस्वयंसेवकसंघकेप्रांतीयप्रचारकरामकुमारनेकही।स्थानीयसरस्वतीशिशुविद्यामंदिरमेंगुरूवारकोपुस्तकालयसहप्रयोगशालाकेलोकार्पणसमारोहमेंमुख्यअतिथिकेरूपमेंबोलतेहुएउन्होंनेकहाकिसमाजमेंपुस्तकालयकामहत्वपूर्णस्थानहै।विद्याकेमंदिरमेंएकसमृद्धपुस्तकालयअतिआवश्यकहै।पटोरीबाजारकेव्यवसायीसहविद्यालयकेसंस्थापकसचिवकेदारप्रसादखटोड़केद्वाराविद्यालयकेपुरातनछात्रतथाअपनेपुत्रस्व.रूद्रशंकरखटोड़कीस्मृतिमेंएकपुस्तकालयवप्रयोगशालाकीस्थापनाकीगई।इसअवसरपरआयोजितकार्यक्रममेंउन्होंनेआमलोगोंसेइनसंस्थानोंकोऔरसमृद्धकरनेकीअपीलकी।इसअवसरपरविभागनिरीक्षकअखिलेशकुमारमिश्रनेकहाकिविद्यालयछात्रोंमेंसंस्कारदेनेकेलिएप्रतिबद्धहै।वहींकपिलदेवचैधरीनेकहाकिअच्छीपुस्तकेंनईपीढ़ीमेंनयेसंस्कारभरसकतेहैं।वहींक्षेत्रकेगणितज्ञवपूर्वप्राध्यापकप्रो.अनंतनारायणदासनेकहाकिनईपीढ़ीकोभीसमयनिकालकरअच्छीपुस्तकोंकेअध्ययनकीआदतडाललेनीचाहिए।संजयकुमारठाकुरकेसंचालनमेंआयोजितइसकार्यक्रममेंसुभद्रादेवी,प्रबंधकार्यकारिणीअध्यक्षरामचंद्रचैधरी,संरक्षकरामभवनचैधरी,उपाध्यक्षराजीवकुमारमिश्रा,सदस्यरामउद्देश्यराय,भोलाभारतीय,ई.अवधेशकुमार¨सहआदिनेभीअपनेविचाररखे।मौकेपरपूर्वमुखियारवीन्द्ररायउर्फतेजूराय,गोपालखटोड़,डा.एचएनसाह,केदारनाथबरनवाल,दामोदरचैधरी,हरिहरराम,शिवदयालसोमानी,सीतारामचैधरी,दिनेश्वरचैधरी,मनोजकुमारपांडेय,अरुणकुमारशर्मा,चंद्रकलादेवी,राजकुमारगुप्ता,उमाशंकरठाकुर,रामवरणठाकुर,आचार्यदीनानाथझा,विपिनकुमारचैधरी,अनिलकुमार¨सह,नीलमप्रकाश,रामनरेशराय,राजकिशोरसाह,सत्यमकुमारसहितकाफीसंख्यामेंक्षेत्रकेगण्यमान्य,अभिभावकवछात्र-छात्रामौजूदथे।