स्वामी विवेकानंद के विचारों के अनुरूप विकसित हो युवा चेतना

मोतिहारी।स्वामीविवेकानंदकीजयंतीरविवारकोजिलेमेंयुवादिवसकेरूपमेंधूमधामसेमनाया।इसक्रममेंशहरकेगांधीसंग्रहालयमेंहिदूनवजागरणमंचद्वाराआयोजितकार्यक्रमयुवासंवादमेंजिलाप्रधानरामाकांतशर्माशास्त्रीनेकहाकिविवेकानंदकेविचारोंकेअनुरूपयुवाओंमेंचेतनाविकसितहोनाचाहिए।इसकेलिएउन्होंनेएकयुवासंवादसमितिकेगठनकीघोषणाकी।इससमितिमेंयुवाप्रकोष्ठकेजिलासंयोजकरूमितरौशनकोसंयोजक,नीरजसिन्हाकोसहसंयोजकतथाराजनपटेल,पंकजकुमार,डॉ.उपेंद्रकुमार,डॉ.ऋषिराज,सन्नीकुमार,अशोककुमार,अमितकुमार,सत्यस्वरूप,रितेशपांडेय,पप्पूकुमार,अभिषेकराज,रविशपाठकएवंडॉ.अरूणकुमारकोसदस्यबनायागया।मौकेपरप्रो.रामनिरंजनपांडेय,प्रो.सुरेशचंद्रप्रसाद,डॉ.आरएनसिंह,कृष्णनंदनप्रसादसिंह,राजनारायणतिवारी,देवव्रतकुमार,शशिसिंह,राकेशकुमारआदिउपस्थितथे।वहीं,डॉ.एसकेएसमहिलामहाविद्यालयमेंभीविवेकानंदजयंतीमनाईगई।इसअवसरपरयुवासप्ताहमनानेकानिर्णयलियागया।इसकेअंतर्गत19जनवरीतकतरह-तरहकेकार्यक्रमोंकाआयोजनकियाजाएगा।मौकेपरप्राचार्यडॉ.रत्नेशकुमारआनंद,प्रो.कलाकुमारी,डॉ.चंचलरानी,डॉ.मनीषावाजपेयी,किरणकुमारीआदिउपस्थितथीं।इधर,भारतविकासपरिषदकीसत्यमशाखाद्वाराशहरकेराजाबाजारमेंआयोजितकार्यक्रममेंस्वामीविवेकानंदकेविचारोंपररोशनीडालतेहुएवक्ताओंनेउन्हेंअनुकरणीयबताया।मौकेपरराष्ट्रीयमंत्रीमिथिलेशवर्मा,प्रांतीयसचिवमुक्तिनाथशर्मा,शाखाअध्यक्षअजयकुमारगुप्ताआदिउपस्थितथे।वहीं,भारतविकासपरिषदकीसुंदरमशाखाद्वाराआयोजितकार्यक्रममेंप्रो.एसकुमारएवंमुकेशकुमारश्रीवास्तवद्वाराविवेकानंदकीजीवनीकेबारेमेंस्कूलीबच्चोंकोबतायागया।साथहीबच्चोंकेबीचकईतरहकीप्रतियोगिताओंकाभीआयोजनकियागया।

चकिया:स्थानीयशिवदेनीरामअयोध्याप्रसादकॉलेजमेंरविवारकोराष्ट्रीययुवासप्ताहशिविरकाआयोजनकियागया।मनोविज्ञानविभागकेविभागाध्यक्षडॉशिवकुमारप्रसादएवंएनएसएसकेकार्यक्रमपदाधिकारीडॉराहुलअवस्थीनेदीपप्रज्वलितकरशिविरकीशुरुआतकी।राजनीतिशास्त्रकेविभागाध्यक्षप्रोसंतोषआनंद,प्रोजीतलालसाहएवंप्रोअजयकुमारसिन्हानेशिविरकोसंबोधितकरतेहुएएनएसएसपरप्रकाशडालागया।छात्र-छात्राओंकीओरसेसौरभकुमार,आशुतोषराजन,विकासकुमार,कहकशांअंजुम,मासूमातबस्सुम,अर्शनाजवकाजलकुमारीनेअपनेविचाररखे।मौकेपरकन्हैयाकुमार,उज्वलपटेल,विशालकुमार,अभिषेककुमारआदिमौजूदथीं।सोमवारकेशिविरमेंराष्ट्रनिर्माणमेंयुवाओंकीभूमिकापरव्याख्यानहोगा।

केसरिया:प्रखंडक्षेत्रकेलालाछपराचौककेसमीपस्वामीविवेकानंदकीजयंतीसमारोहपूर्वकमनाईगई।कार्यक्रममेंशिक्षकराजकिशोरशर्मानेयुवावर्गकोस्वामीजीकेविचारोंपरचलनेकीअपीलकी।मौकेपररामनाथबैठा,रामाश्रयसिंह,संतोषकुमार,संतोषवाजपेयी,मैनेजरसाहब,विजेंदरकुमारआदिमौजूदथे।

पताही:जयप्रकाशआश्रमसांस्कृतिकविकासन्यासपताहीद्वारासंचालितकिसानमजदूरविकाससंघर्षसमितिकेसदस्योंद्वारास्वामीविवेकानंदकीजयंतीमनाईगई।कार्यक्रममेंस्वामीविवेकानंदकेविचारोंपरचर्चाकीगई।अध्यक्षताप्रखंडअध्यक्षनवलकिशोरसिंहनेकी।मौकेपरसुरेंद्रसिंह,विजयकुमारसिंह,सरवनकुमारगुप्ता,दिनेशमंडल,मणिकांततिवारीआदिमौजूदथे।

युवाओंकेचरित्रबोधसेहीसमाजकाकल्याणसंभव

जासं,मोतिहारी:महात्मागांधीकेंद्रीयविश्वविद्यालयद्वाराराष्ट्रीययुवादिवसकेउपलक्ष्यमें'स्वामीविवेकानंद:राष्ट्रीयएवंअंतरराष्ट्रीयपरिप्रेक्ष्यमें'विषयपरव्याख्यानकाआयोजनकियागया।कार्यक्रमकेमुख्यवक्तासामाजिकचितकरामाशीषसिंहनेकहाकिपृथ्वीपरजबभीधर्मकीहानिहुईतबस्वामीविवेकानंदजैसामहामानवनेजन्मलियाऔरअपनेज्ञानकेप्रकाशसेहमसभीकामार्गदर्शनकिया।स्वामीविवेकानंदनेअल्पायुमेंजोभारतहीनहींविश्वकोदियावहयुगोंतकहमारीचेतनाकोमानवकल्याणकेनजरिएसेआंदोलितकरतारहेगा।स्वामीविवेकानंदनेबसुधैवकुटुम्बकमकापाठपढ़ाया।प्रजातंत्रकीसफलताकेलिएप्रबुद्धनागरिकोंकोआगेआनेकीबातकरतेहुएराष्ट्रनिर्माणमेंयोगदानदेनेकाआह्वानकिया।स्वामीविवेकानंदबड़ेस्वप्नद्रष्टाथे।उन्होंनेएकऐसेसमाजकीकल्पनाकीथीजिसमेंधर्मयाजातिकेआधारपरमनुष्य-मनुष्यमेंकोईभेदनरहे।प्रो.राजीवकुमारनेकहाकिरक्षाकियाहुआधर्महमारीरक्षाकरताहैंऔरहानिकियाहुआधर्महमारीहानि।इसलिएधर्मकीरक्षाहमसबकीजिम्मेदारीहै।प्रो.कुमारनेकहाकिहमेंअतीतसेसीखलेकरआगेबढ़नेकीआवश्यकताहै।स्वागतवक्तव्यमेंप्रो.आनदप्रकाशनेस्वामीविवेकानंदकेव्यक्तित्वएवंकृतित्वपरप्रकाशडाला।धन्यवादज्ञापनप्रो.पवनेशकुमारनेकरतेहुएकहाकिस्वामीविवेकानंदभारतकीसंस्कृति,सभ्यताऔरदर्शनकेआवा•ाथे,जिसेविश्वकोउन्नीसवींशताब्दीमेंउन्होंनेपरिचितकराया।कार्यक्रममेंमीडियाअध्ययनविभागकेअध्यक्षएवंअधिष्ठाताप्रो.अरुणकुमारभगत,प्रो.प्रो.अजयकुमारगुप्ता,प्रो.देवदत्तचतुर्वेदी,प्रो.सुनीलमहावर,प्रो.त्रिलोचनशर्मा,प्रो.रणजीतकुमारचौधरी,डॉ.शिरीषमिश्र,डॉ.प्रशांतकुमार,डॉ.अंजनीकुमारझा,श्यामनंदन,डॉ.नरेंद्रकुमारआर्य,ओमप्रकाशगुप्ता,डॉ.नरेंद्रकुमारसिंह,डॉ.भावनाथपांडेय,राजीवरंजन,पीआरओशेफालिकामिश्रा,सेक्शनऑफिसरअजितकुमारआदिकेसाथशहरकेगणमान्यनागरिकोंऔरविश्वविद्यालयकेछात्रोंकीउपस्थितिरही।कार्यक्रमकासंचालनमीडियाअध्ययनविभागकेअसिस्टेटप्रो.डॉ.परमात्माकुमारमिश्रनेकिया।