स्वजनों के साथ धरना पर बैठे हड़ताली शिक्षक

अरवल।बिहारराज्यशिक्षकसंघर्षसमन्वयसमितिकीजिलाइकाईनेनियोजितशिक्षकोंकेअनिश्चितकालीनहड़तालकासमर्थनदेतेहुए11वेंदिनभीसदरप्रखंडपरिसरमेंधरनादिया।वहींउच्चतरमाध्यमिकएवंमाध्यमिकशिक्षकसंघनेभीमूल्यांकनकार्यकाबहिष्कारकरतेहुएशिक्षकोंकोअपनासमर्थनदिया।धरनास्थलपरआयोजितसभाकीअध्यक्षताशैलेंद्रकुमारएवंअखिलेशकुमारनेसंयुक्तरूपसेकी।इसमौकेपरवक्ताओंनेअपनेसंबोधनमेंकहाकिसरकारसंवेदनहीनताकापरिचयदेतेहुएविद्यालयमेंपठन-पाठनकाकार्यबंदहोनेकेबावजूदभीशिक्षकोंकीमांगेंपूरीनहींकररहीहै।यहसरकारकीतानाशाहीरूपकोप्रदर्शितकरनाहै।वहींकोचिगसंस्थानकेशिक्षकोंसेइंटरमीडिएटकीउत्तरपुस्तिकाओंकामूल्यांकनकराकरशिक्षकोंकेसाथ-साथअबबच्चोंकोभीअपनेअड़ियलरवैयेकाशिकारबनारहीहै।उन्होंनेकहाकिसभीशिक्षकतबतकआंदोलनजारीरखेंगेजबतककिसरकारमांगोंकोपूरीनहींकरतीहै।

इसदौरानगोपगुटकेप्रदेशमहासचिवअनिलकुमारराय,बच्चूकुमार,टीएसयूएनएसएसकेजिलासचिवजगरनाथप्रसादखत्री,अमरेंद्रकुमारवर्माएवंअन्यकईशिक्षकसपरिवारधरनास्थलपरपहुंचेथे।वहींअन्यशिक्षकराजीवरंजन,पूण्यदेवसिंह,कौशलकुमार,अनिलकुमार,महेंद्रकुमारनिराला,मोहनप्रसादयादव,वशिष्ठकुमार,शिवदयालसिंह,विजयकुमार,किरणकुमारी,कुमारीकविताएवंमह•ाबींभीउपस्थितथीं।