ताजनगरी की यादों में जिंदा रहेगा उसका 'सलीम'

आगरा,जागरणसंवाददाता।बालीवुडकेट्रेजडीकिगदिलीपकुमारनहींरहे।बुधवारतड़केउन्होंनेअंतिमसांसली।सिनेजगतकायह'सलीम'ताजनगरीकेलोगोंकेजेहनमेंसदाजिंदारहेगा।इसशहरऔरताजमहलसेभीउनकीकुछयादेंजुड़ीहैं।फिल्मलीडरऔरविधाताकीशूटिगकोवेयहांआएथे।ताजमहलमेंउनकेऔरअभिनेत्रीबैजयंतीमालाकेऊपरलोकप्रियगीत'इकशहंशाहनेबनवाकेहसींताजमहल..'फिल्मायागयाथा।

बालीवुडफिल्म'लीडर'वर्ष1964मेंरिलीजहुईथी।फिल्मकेकुछहिस्सेकीशूटिगआगरामेंहुईथी।इसकेलिएदिलीपकुमारऔरबैजयंतीमालाआगराआएथे।दिलीपकुमारकेफैनकपड़ाव्यवसायीरामबाबूगुप्तानेबतायाकितबवेताजमहलसेहीलौटगएथे।इसकेबादवे1982मेंफिल्म'विधाता'कीशूटिगकोआगराआए।तबउनकेसाथसायराबानोभीथीं।फिल्मकीशूटिगहोटलमुगलशेरेटन(वर्तमानमेंआइटीसीमुगल)मेंहुईथी।संजयदत्त,अमरीशपुरी,निर्देशकसुभाषघईसमेतअन्यकलाकारकरीबएकमाहतकआगरारहेथे।गजलगायकसुधीरनारायनबतातेहैंकिहोटलमुगलकेताजबानोमेंसजीसंगीतकीमहफिलदेररात3:30बजेतकचलीथी।दिलीपकुमारनेउनकीगायकीकोसराहतेहुएकाफियाऔरगजलकेबारेमेंजानकारीदीथी।

जबदिलीपकुमारनेउठाईकुर्सी:

सुधीरनारायनबतातेहैंकिफिल्म'विधाता'कीशूटिगकेदौरानट्रेवलट्रेडसेजुड़ेराजकुमारकासलीवालनेएककार्यक्रमकरायाथा।इसमेंउन्होंनेदोघंटेतकगजलोंकीप्रस्तुतिदीथी।दिलीपकुमारऔरसायराबानोकेपासजाकरलोगफोटोकरानेऔरआटोग्राफदेनेकाआग्रहकररहेथे,जिससेकार्यक्रममेंव्यवधानपड़रहाथा।अंतमेंदिलीपकुमारऔरसायराबानोस्वयंकुर्सीउठाकरस्टेजकेसामनेउनकेपासलेआएथे।

अदबीदुनियाकेथेबेताजबादशाह:

टूरिज्मगिल्डकेपूर्वअध्यक्षअरुणडंगनेबतायाकिदिलीपकुमारअभिनयहीनहीं,अदबीदुनियाकेभीबेताजबादशाहथे।'विधाता'फिल्मकीशूटिगकेसिलसिलेमेंवेकरीबएकमाहतकआगरामेंरहे।लगभगहरदिनमुलाकातहुई।वोमीर,गालिबकेसाथनजीरअकबराबादीकीशायरीकेभीकायलथे।उनकीचाहतपरमैंनेउन्हेंनजीरअकबराबादीकीएककिताबदीथी।उन्होंनेकहाथाआगराआकरनजीरनहींपढ़ा,तोक्यापढ़ा?

60केदशकमेंभीआएथेआगरा:

फिल्म'मुगल-ए-आजम'रिलीजहोनेसेपूर्वदिलीपकुमार60केदशकमेंआगराआएथे।तिलकराजभाटिया(86)बतातेहैंकिवेउनकेसाथआगरासेफतेहपुरसीकरीतककारसेगएथे।तबउनकीकईयादगारतस्वीरेंवहांखींचीथीं।