UP Cabinet Expansion: क्षेत्रीय, जातीय और जनाधार के आधार पर संतुलन से बना मंत्रिमंडल

लखनऊ,राजूमिश्रा।धर्मेद्रप्रधानबीतेसप्ताहउत्तरप्रदेशकेतीनदिनीप्रवासपरथे।उनकेइसदौरेकीपहलीअहमउपलब्धिजहांनिषादपार्टीसेसमझौतारही,वहींदूसरीबड़ीउपलब्धिबिनाकिसीविवादकेयोगीमंत्रिमंडलकेबहुप्रतीक्षितविस्तारकाखाकातैयारकरनारहा।रविवारकोकईअनुमानोंकेविपरीतक्षेत्रीय,जातीयऔरजनाधारकेआधारपरचयनितनामोंकोमंत्रिमंडलमेंशामिलकियागया।केंद्रीयमंत्रीरहचुकेजितिनप्रसादकोकैबिनेटमंत्रीबनायागयाहै।

इसीतरहसंजयनिषादकोमंत्रिमंडलमेंजगहनहींदीगई,लेकिनसंगीताबलवंतबिंदकोमंत्रीबनाकरउनकेसमाजकोप्रतिनिधित्वदियागयाहै।वहगाजीपुरकीहैंऔरमहिलाहोनाभीउनकेचयनमेंपात्रतासाबितहुआ।इसीतरहओबरा(सोनभद्र)सेविधायकसंजीवकुमारगोंडकाचयनभीजातीयसमीकरणोंऔरक्षेत्रीयआधारपरकियागयाहै।क्षत्रपालगंगवारकुर्मीउपजातिकेहैंजिसकाबरेलीकेआसपासदबदबाहै।जितिनप्रसादकोछोड़देंतोमंत्रिमंडलमेंउन्हींनएचेहरोंकोजोड़ागयाहै,जिनकाप्रतिनिधित्वअबतकन्यूनरहाहै।वहचाहेओबीसीसेरहेहोंयाअनुसूचितजातिके।यहभीध्यानरखागयाहैकिउनक्षेत्रोंकेविधायकोंकोमंत्रीबनायाजाएजहांउसबिरादरीकाप्रभुत्वहो।खटीकसमाजसेदोलोगोंकोमंत्रीबनाएजानेकेपीछेयहीतर्कहै।दिनेशखटीकजहांहस्तिनापुर(मेरठ)सेविधायकहैं,वहींपलटूरामबलरामपुरजिलेसेहैं।जातीयकेसाथक्षेत्रीयसमीकरणोंकासंतुलनतैयारकियागयाहै।

लखनऊमेंविभिन्नअभियानोंकीप्रदेशटोलीकेसाथबैठककरतेकेंद्रीयमंत्रीऔरभारतीयजनतापार्टीकेप्रदेशचुनावप्रभारीधर्मेद्रप्रधान(मध्यमें)।जागरणआर्काइव

जुड़तीगांठ,खुलतेबंधन:चुनावीगठबंधनकेलिएदरदरदस्तकदेरहेओमप्रकाशराजभरऔरएआइएमआइएमकेअसदुद्दीनओवैसीकीमुलाकातहुईऔरहवाचलपड़ीकिदोनोंमिलकरचुनावलड़ेंगे।हालांकिइसकेबादभीराजभरकईराजनीतिकदलोंकीड्योढ़ियोंपरदेखेगए।सबसेपहलेहवाचलीथीकिकांग्रेस,राष्ट्रीयलोकदलऔरचंद्रशेखरकीआजादसमाजपार्टीकेचुनावीमैदानमेंएकरथपरसवारहोकरनिकलेंगे।फिरकांग्रेसकीजगहसमाजवादीपार्टीकानामआगया।उत्तरप्रदेशमेंपिछलेकुछमहीनोंमें‘भाजपाकोहराने’केलिएऐसेकईगठबंधनोंकीचर्चारही,लेकिनआधिकारिकतौरपरऐसापहलागठबंधनबीतेसप्ताहभाजपाऔरनिषादपार्टीकेबीचसामनेआया।भाजपाकीओरसेचुनावप्रभारीनियुक्तहोनेकेबादइसकीऔपचारिकताधर्मेद्रप्रधानकीतरफसेपूरीकीगई।

भाजपाऔरनिषादपार्टीकेबीचहुआसमझौताआगामीविधानसभाचुनावकोदेखतेहुएएकअहमपड़ावमानाजारहाहै।पिछलेविधानसभाचुनावकेसमयओमप्रकाशराजभरकीसुहेलदेवभारतीयसमाजपार्टीऔरअनुप्रियापटेलकीअपनादलकाभाजपाकेसाथपहलेसेगठबंधनथा।ओमप्रकाशराजभरनेलंबेसमयसेभाजपाकेसाथरहतेहुएभीउसकेखिलाफमोर्चाखोलाहुआहै।गठबंधनभीचाहतेहैं,लेकिनअजीबोगरीबशर्तोकेसाथ।अनुप्रियापटेलनेभीप्रदेशकेविधानसभाचुनावसेपहलेकुछशर्तेरखींथींऔरमामलापहलेहीसुलझचुकाहै।संजयनिषादकीनिषादपार्टीपिछलेविधानसभाचुनावमेंभाजपाकेसाथनहींथी।इसलिहाजसे2022केविधानसभाचुनावमेंवहभाजपामेंनएवोटजोड़ेंगे।भाजपाऔरनिषादपार्टीकागठबंधनगोरखपुरऔरआसपासकेक्षेत्रोंमेंकईसीटोंपरदोनोंकेलिएफायदेमंदसाबितहोगा,लेकिनशर्तोऔरपदोंकीमांगपरबातअटकीथी।निषादपार्टीकेअध्यक्षसंजयनिषादकभीअपनेलिएप्रदेशतोकभीकेंद्रसरकारमेंबेटेप्रवीणनिषादकेलिएमंत्रिपदचाहरहेथे।भाजपाकेशीर्षनेतृत्वद्वाराधर्मेद्रप्रधानकोउत्तरप्रदेशभेजेजानेकेबादशुक्रवारकोमामलासुलझगया।

शुरुआतमेंमिलकरलड़नेकीरणनीतिबनारहीकांग्रेसनेसपाकेबड़ेदलोंसेसमझौतानकरनेकीनीतिकेएलानकेबादअबकहनाशुरूकरदियाहैकिवहभीअकेलेचुनावलड़ेगी।राष्ट्रीयलोकदलमेंएकबड़ाधड़ाअखिलेशयादवकेनेतृत्ववालीसमाजवादीपार्टीकेसामनेसमर्पणकेबजायचौधरीचरणसिंहकेसमयकेसमीकरणोंकोजीवितकरनेपरजोरदेरहाहै।