उप चुनाव पर भाजपा की रणनीति साफ नहीं

संसू,भुवनेश्वर:ओडिशामेंप्रमुखविपक्षीदलबननेकेबावजूदजिसतेवरकेसाथबालेश्वरसदरऔरतिर्तलविधानसभासीटपरकब्जाकरनेकीमशक्कतहोनीचाहिए,वहदूर-दूरतकनजरनहींआरहीहै।हालाकिभाजपानेबड़ेदलकेस्तरपरसबसेपहलेअपनेउम्मीदवारमैदानमेंउतारदिएहैं।मगरप्रचारमेंदलअभीभीपिछडतादिखाईदेरहाहै।भाजपानेबालेश्वरकेदिवंगतविधायकमदनमोहनदत्तकेपुत्रमानसकुमारदत्तकोअपनाउम्मीदवारबनाकरसहानुभूतिबटारेनेकाप्रयासकियाहै।तिर्तोलविधानसभाक्षेत्रसेदलनेराजकिशरबेहराकोउम्मीदवारबनायाहै।

गौरतलबहैकिदोनोंहीसीटपरविधायकोंकेनिधनसेउपचुनावकराएजारहेहैं।भाजपाकेबालेश्वरसदरसेविधायकरहेमदनमोहनदत्तएवंबीजदकेतिर्तोलविधायकविष्णुदासकीअसमयमौतकेबादयेसीटेंखालीहुईहै।16अक्टूबरकोनामाकनदाखिलकरनेकीअंतिमतिथिहै।भाजपानेअपनीबालेश्वरसीटपुन:कब्जानेकेलिएदिवंगतविधायककेपुत्रकोटिकटदियाहै।जबकिकाग्रेसछोडकरदलमेंशामिलहुएराजकिशरबेहराकोतिर्तोलमेंउतारकरपार्टीनेरिस्कलियाहै।काग्रेसछोडकरआएराजकिशोरकोसीधेमैदानमेंउतारदेनेसेभाजपाकेस्थानीयकार्यकर्ताहताशहैं।राजनीतिज्ञविशेषज्ञोंकीमानेतोइससेबीजदकेउम्मीदवारकोफायदापहुंचेगा।क्योंकिभाजपाकेकार्यकर्तापूरीताकतसेचुनावप्रचारसेदूररहसकतेहैं।वेसेभीकरोनासंकटकेदौरानसीधाप्रचारफीकाहीरहेगामगरदलीयकार्यकर्ताकीनाराजगीभाजपाकोमहंगीपडसकतीहै।